महाराष्ट्र की राजधानी क्या है | Maharashtra Ki Rajdhani Kya Hai

क्या आप जानते हैं कि महाराष्ट्र की राजधानी क्या है (Maharashtra Ki Rajdhani Kya Hai).भारत के दक्षिण मध्य में स्थित महाराष्ट्र राज्य सबसे समृद्ध माना जाता है। महाराष्ट्र दो शब्दों से मिलकर बना है महा और राष्ट्र जिसका अर्थ होता है महान देश। महाराष्ट्र का क्षेत्रफल 307713 वर्ग किलोमीटर है।

साल 2011 की जनगणना के अनुसार महाराष्ट्र की कुल जनसँख्या 112,374,333 है। महाराष्ट्र राज्य की प्रमुख भाषा मराठी है। आज के इस पोस्ट में हम जानेंगे कि महाराष्ट्र की राजधानी क्या है

महाराष्ट्र की राजधानी कहां है – Maharashtra Ki Rajdhani Kahan Hai

maharashtra ki rajdhani kahan hai

महाराष्‍ट्र की राजधानी मुंबई है। मुम्बई का पुराना नाम बम्बई (Bombay) था। मुंबई भारत का सबसे बड़ा शहर माना जाता है यहाँ की आबादी 2 करोड़ से भी अधिक है। मुबई को मायानगरी भी कहते हैं। यहाँ हर कोई अपने सपने को साकार करने के लिए आता है।

मुंबई आर्थिक और व्यपारिक दृष्टि से बहुत महत्वपूर्ण माना जाता है। पूरे भारत देश के जीडीपी 5% का योगदान केवल मुंबई का होता है। मुंबई का बंदरगाह सबसे अच्छा और सुरक्षित बंदरगाह है। इस बंदरगाह को भारत का प्रवेश द्वार भी कहा जाता है। यहाँ पर अफ्रीका, अमेरिका, यूरोप जैसे अन्य देशों से जल मार्ग द्वारा आयात- निर्यात किया जाता हैं।

भारत के अधिकांश बैंक और प्रमुख कार्यालयों का मुख्य ब्रांच मुंबई में स्थित है। इसलिए मुबई को भारत की आर्थिक राजधानी भी कहा जाता हैं। मुंबई का तापमान  20-30° सेल्सियस रहता है। अभी तक का मुंबई में सबसे अधिक तापमान 43.3 ° और न्यूनतम तापमान 7.4 ° रहा है।

महाराष्ट्र का इतिहास – History of Maharashtra in Hindi

230 से 225 ईस्वी में सातवाहन का शासन था। इन्होने अपने शासनकाल में भारतीय साम्राज्‍य की स्‍थापना की। शिक्षा, कला तथा धर्म सभी क्षेत्रों में खूब विकास किया। अलाउद्दीन ख़िलजी ने महाराष्ट्र पर पहला मुस्लिम शासक स्थापित किया था। मुगलों का शासन का 17 वीं शताब्दी के अंत तक रहा।

इसके बाद मराठाओं का साम्राज्य महाराष्ट्र के गलियारों पर उदय हुआ। मराठा साम्राज्य महाराष्ट्र के इतिहास में सबसे अच्छा अध्याय रहा। इसके बाद पेशवाओं ने मराठाओं पर हमला बोलकर महाराष्ट्र को अपने आधीन कर लिया। पेशवाओं ने महाराष्ट्र से लेकर पंजाब तक अपना पाँव जमा लिया था।

इसके बाद पेशवाओं और अंग्रेजो के बीच कई वर्षों तक युद्ध चला। आखिरकार पेशवाओं ने घुटने टेक दिया और महाराष्ट्र पर अंग्रेजी हुकूमत स्थापित हो गई। 19 वी शताब्दी में पूरे भारत में ब्रिटिश सरकार लागू थी। ब्रिटिश सरकार ने मुबई को महाराष्ट्र की राजधानी बनाई थी।

1947 में देश आजाद होने के बाद भारत के प्रथम प्रधान मंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू ने मुंबई को महाराष्ट्र से अलग करके केन्द्रशासित प्रदेश बनाने का बहुत प्रयास किया। उनका कहना था कि मुंबई को देश की आर्थिक राजधानी के रूप में बेहतर तरीके से चलाने के लिए इसे केंद्र शासित प्रदेश बनाना पड़ेगा। लेकिन पूरे महाराष्ट्र में इसका जमकर विरोध किया गया इस विरोध में 105 लोगो की जाने भी गई। और आखिरकाल मुंबई को महाराष्ट्र राजधानी बनाई गई।

महाराष्ट्र में पर्यटन स्थल – Tourist Places of Maharashtra in Hindi

पर्यटन की दृष्टि से महाराष्ट्र बहुत महत्वपूर्ण राज्य है। विदेशों से आने वाले पर्यटकों में से सबसे ज्यादा पर्यटक महाराष्ट्र राज्य में घूमने के लिए आते हैं। अगर आप भी भारत में कहीं घूमने का मन बना रहे हैं तो महाराष्ट्र राज्य बहुत अच्छा है। यहाँ पर आप प्राचीन किलों, महलों, गुफाओं, मंदिरों और प्राकृतिक सौन्दर्य का आनंद उठा सकते हैं।

गेटवे ऑफ इंडिया महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई में समुद्री तट के निकट स्थित है। गेटवे ऑफ इंडिया को निर्माण कार्य 21 मार्च 1913 में शुरू किया गया था, जो कि सन 1924 में बनकर तैयार हुआ। यह एक ऐतिहासिक धरोहर है जिसे देखने के लिए भारी तादात में पर्यटक आते हैं। गेटवे ऑफ इंडिया का प्रवेश शुल्क नहीं और यह सप्ताह के सातो दिन 24 घंटे पर्यटक के लिए खुला रहता है।

अजंता की गुफा महाराष्ट्र के औरंगाबाद जिले में स्थित है। यह एक धार्मिक स्थान है जिन्हें देखने दुनियाभर से पर्यटक आते हैं। इस गुफा को सन 1983 में विश्व धरोहर की सूची में शामिल किया गया था। इस गुफा को देखने के लिए मुख्य रूप से हिन्दू, जैन और बौद्ध धर्म के लोग आते हैं। क्योंकि 1 से 12 तक बौद्ध धर्म के स्मारक, 13 से 29 तक हिन्दू धर्म की मूर्तियाँ और 30 से 34 तक जैन धर्म से संबंधित स्मारक बने हैं। इस पूरी गुफा को घूमने में 2 से 3 घंटे का समय लग जाता है।

जुहू बीच महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई में स्थित है। इस बीच पर कई फिल्म निर्माताओं ने फिल्म की शूटिंग की है। मुंबई का सबसे लंबा समुद्र तट जुहू बीच है जिसे देखने हजारों के संख्या में पर्यटक रोजाना आते हैं।

महाराष्ट्र के प्रमुख पर्यटन स्थल की सूची

पर्यटल स्थल का नाम स्थान का नाम
चौपाटी मुंबई,महाराष्ट्र
गेटवे ऑफ़ इन्डिया मुंबई,महाराष्ट्र
प्रिन्स वेल्स म्युज़ियम मुंबई,महाराष्ट्र
एलिफेंटा की गुफाएँ मुंबई,महाराष्ट्र
जूहू बीच मुंबई,महाराष्ट्र
मरीन ड्राइव मुंबई,महाराष्ट्र
ताज महल होटल मुंबई,महाराष्ट्र
मडआईलॅन्ड मुंबई,महाराष्ट्र
हाजी अली दरगाह मुंबई,महाराष्ट्र
हैंगिंग गार्डेन मुंबई,महाराष्ट्र
खंडाला मुंबई,महाराष्ट्र
महालक्ष्मी मंदिर मुंबई,महाराष्ट्र
सिद्धिविनायक मंदिर मुंबई,महाराष्ट्र
भीमाशंकर ज्योतिर्लिंग मंदिर पुणे,महाराष्ट्र
शनिवारवाडा पुणे,महाराष्ट्र
लाल महल पुणे,महाराष्ट्र
सिंहगढ़ पुणे,महाराष्ट्र
आई.टी. पार्क पुणे,महाराष्ट्र
लक्ष्मी रोड पुणे,महाराष्ट्र
अजंता-एलोरा की गुफ़ाएँ औरंगाबाद,महाराष्ट्र
बीबी का मकबरा औरंगाबाद,महाराष्ट्र
घृष्‍णेश्‍वर मंदिर औरंगाबाद,महाराष्ट्र
त्रयंबकेश्वर मंदिर नासिक, महाराष्ट्र
साईं बाबा मंदिर अहमदनगर, महाराष्ट्र
सिंधुदुर्ग किला मलावन, महाराष्ट्र

FAQs – Maharashtra Ki Rajdhani

महाराष्ट्र की राजधानी क्या है?

महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई है। मुम्बई को भारत की आर्थिक राजधानी भी कहा जाता है।

महाराष्ट्र की जनसंख्या कितनी है?

महाराष्ट्र की जनसंख्या 112,374,333 है। जिसमे पुरुषों की जनसंख्या 58,255,227 और महिलाओं की जनसंख्या 54,119,106 है।

महाराष्ट्र की भाषा कौन सी है?

महाराष्ट्र मराठी भाषा बोली जाती है।

महाराष्ट्र में कुल कितने जिले है?

महाराष्ट्र में कुल 36 जिले है।

महाराष्ट्र का गठन कब हुआ था?

महाराष्ट्र की स्थापना 1 मई 1960 में हुई थी।

निष्कर्ष

मुझे उम्मीद है आपको यह पोस्ट महाराष्ट्र की राजधानी क्या है (Maharashtra Ki Rajdhani Kya Hai) जरुर पसंद आया होगा। अब आप जान गए हैं कि महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई है जिसका पुराना नाम बॉम्बे है। यह पोस्ट आपको कैसी लगी नीचे कमेंट करके जरुर बताये। इसके अलावा इस पोस्ट ज्यादा से ज्यादा सोशल मीडिया पर भी शेयर करें जिससे अन्य लोगो को भी महाराष्ट्र की राजधानी के बारे में सही जानकारी मिलेगी।

About Editorial Staff

Hindi Me Post पर आपको कंप्यूटर, टेक्नोलॉजी, डिजिटल मार्केटिंग और ऑनलाइन पैसे कमाने की जानकारी शेयर की जाती है. हमारा मकसद है हम एक दम सरल भाषा आपको जानकरी दें. Facebook | Instagram | Twitter

Leave a Comment