गोवा की राजधानी क्या है | Goa Ki Rajdhani Kya Hai

क्या आप जानते हैं कि गोवा की राजधानी क्या है (Goa Ki Rajdhani Kya Hai).गोवा भारत का खूबसूरत राज्य है जहाँ पर हर नौजवान अपनी छुटियाँ बिताने के लिए जाता है। यहाँ पर समुन्द्र, बीच और बार क्लब देखने को मिल जाता है। गोवा में 7 हजार से अधिक बार है जिसका लाईसेंस भारत सरकार द्वारा दिया गया है।

गोवा राज्य का गठन 30 मई 1987 में हुआ था। इस राज्य का क्षेत्रफल 3702 वर्ग किलोमीटर है और साल 2011 की जनगणना के अनुसार गोवा की कुल जनसंख्या 1,458,545 है। क्षेत्रफल की दृष्टि से गोवा भारत का सबसे छोटा है। और जनसँख्या की दृष्टि से गोवा भारत का चौथा सबसे छोटा राज्य है। आज के इस पोस्ट में हम विस्तार से जानेंगे कि गोवा की राजधानी क्या है

गोवा की राजधानी कहाँ है – Goa Ki Rajdhani Kahan Hai

Goa Ki Rajdhani Kahan Hai

गोवा की राजधानी पणजी है। पणजी का अर्थ होता है “वह भूमि जहाँ बाढ़ कभी नहीं होती”। शुरुआत में पहले  में पंजिम कहा जाता था लेकिन 1960 में इसका नाम बदलकर पणजी रख दिया गया। गोवा की राजधानी पणजी शहर मांडोवी नदी स्थित है। यहाँ पर गर्मी का मौसम पर्यटको के लिए ज्यादा आकर्षित माना जाता है। समुद्र तक से सटे हुए बीच का  आनंद उठाने के लिए दुनियाभर से पर्यटक आते हैं।

ग्रीष्मऋतु में गोवा की राजधानी पणजी का औसतन तापमान 40 डिग्री सेल्सियस रहता है। वही शीत ऋतु में दिसंबर से फरवरी महीने में यहां का तापमान लगभग 20 डिग्री सेल्सियस तक रहता है। जून से सितम्बर महीने में यहाँ पर तेज़ हवाओ के साथ भारी वर्षा होती हैं।

परिवहन की दृष्टि से गोवा की राजधानी पणजी शहर में सड़क मार्ग, रेल मार्ग, वायु मार्ग और समुद्र तट से सटे होने के कारण जल मार्ग की यातायात सुविधा उपलब्ध हैं। यहाँ की सड़क मार्ग भारत के सभी बड़े शहरों जैसे दिल्ली, मुबई, चेन्नई से जुडी है। हवाई यात्रा करने के लिए गोवा एयर टर्मिनल डाबोलिम में स्थित है।

गोवा का एकमात्र डाबोलिम अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा है। गोवा की राजधानी पणजी से डाबोलिम हवाई अड्डा की दूरी लगभग 29 किलोमीटर है।रेल यात्रा करने के लिए पणजी शहर का सबसे नजदीकी मारगांव रेलवे स्टेशन है। इस स्टेशन से गोवा की राजधानी पणजी शहर की दूरी लगभग 39 किलोमीटर है।

गोवा का इतिहास – History of Goa in Hindi

गोवा का इतिहास तीसरी सताब्दी से शुरु हुआ है जब यहाँ पर मौर्य वंश का शासनकाल था। उसके बाद गोवा कोल्हापुर के सातवाहन वंश के शासकों आधीन था। इसके बाद बादामी के चालुक्य शासकों ने 580 ई.पू. से 750 ई.पू तक गोवा पर राज किया।

1312 ई.पू. में दिल्ली सल्तनत ने गोवा को अपने कब्जे में कर लिया था। उसके बाद विजयनगर के शासक हरिहर प्रथम ने खदेड़कर गोवा को अपने आधीन कर लिया और अगले सौ सालों तक यहाँ पर राज किया। 1469 ई.पू. में गुलबर्ग के बहामी सुल्तान के नेतृत्व में गोवा एक बार फिर से दिल्ली सल्तनत के आधीन हो गया था।

1510 ई.पू. में अलफांसो-द-अल्बुकर्क के नेतृत्व में पुर्तगालियों ने गोवा पर आक्रमण किया। यूसुफ आदिल खां और पुर्तगालियों के बीच कई युद्ध हुए और आखिरकार पुर्तगालियों ने युद्ध जीतकर गोवा को अपने आधीन कर लिया। 1815 से 1947 तक गोवा में ब्रिटिश शासन स्थापित थी और इस दौरान अंग्रेजों ने पूरे पूरे भारत समेत गोवा राज्य पर भी जमकर शोषण किया।

1947 में देश की आजादी के बाद भी गोवा को भारत का हिस्सा बनने के लिए 16 साल लग गए। आजादी के बाद भारत सरकार ने पुर्तगालियों से अनुरोध किया कि वो गोवा को भारत का हिस्सा बनने दें। लेकिन भारत सरकार के इस अनुरोध को पुर्तगालियों ने ठुकरा दिया। 19 दिसंबर, 1961 को भारतीय सेना ने पुर्तगालियों पर आक्रमण करके गोवा को पुर्तगालियों के चंगुल से छुडवा लिया। और 30 मई 1987 को गोवा को अलग राज्य बनाने का दर्जा मिल गया और गोवा को भारत का 25 वाँ राज्य रूप में घोषित किया गया।

गोवा के पर्यटन स्थल – Tourist Places in Goa in Hindi

गोवा भारत का सबसे अच्छा पर्यटन स्थल माना जाता है। गोवा में ज्यादातर युवा पीढी छुट्टी बिताने के लिए  के लिए जाती है। गोवा का आनंद लेने के लिए कम से कम एक सप्ताह का समय बिताना चाहिए तब यहाँ के बीच, एडवेंचर खेल और प्राकतिक सुन्दरता का आनंद उठा सकते हैं। अगर आप भी गोवा जाने का प्लान बना रहे हैं तो  यहाँ के महत्वपूर्ण दर्शनीय पर्यटक स्थल के बारे में जरुर पढ़े।

पर्यटल स्थल का नाम स्थान का नाम
ओल्ड गोवा पणजी, गोवा
गोवा बीच अरब सागर के किनारे, गोवा
बागा और कालंगुते उत्तमवडो, कलंगुट, गोवा
बेनौलिम बीच बेनौलिम, गोवा
कोल्वा बीच कोल्वा, गोवा
पालोलेम बीच पालोलेम, गोवा
बागा बीच उत्तरी गोवा
दूधसागर जलप्रपात गोवा-कर्नाटक सीमा
अगुआदा किला गोवा सिटी
नौसेना विमानन म्यूज़ियम बोगमालो, गोवा
डेल्टन रोयाले कैसीनो मंडीवी नदी पर, पंजिम,गोवा
कैसीनो पैराडाइज मंडीवी नदी पर, पंजिम,गोवा
कैसीनो कार्निवल मंडीवी नदी पर, पंजिम,गोवा
हिलटॉप नाइटक्लब उत्तरी गोवा
वेगेटर बीच उत्तरी गोवा
रिस मगोस किला पणजी, गोवा
चर्च ऑफ सेंट ऑगस्टीन पुराना,गोवा
चापोरा किला पणजी, गोवा
मंगेशी मंदिर मंगेशी गांव, गोवा
श्री महालक्ष्मी मंदिर बांदीवडे गांव, गोवा
शान्ता दुर्गा मंदिर पणजी, गोवा

गोवा की राजधानी से जुड़े कुछ सवाल-जवाब

गोवा की राजधानी क्या है?

गोवा की राजधानी पणजी है।

गोवा की जनसंख्या कितनी है?

गोवा की कुल आबादी 1,005,806 है। जिसमे पुरुषों की जनसंख्या 739,252 और महिलाओं की जनसंख्या 719,293 है।

गोवा में कितने जिले है?

गोवा में कुल 2 ज़िले है। जनसंख्या की दृष्टि से गोवा राज्य का सबसे बड़ा जिला उत्तर गोवा है और सबसे कम जनसंख्या वाला दक्षिण गोवा है।

गोवा के मुख्यमंत्री कौन है?

गोवा के मुख्यमंत्री डॉ. प्रमोद सावंत हैं।

गोवा का गठन कब हुआ था?

गोवा राज्य का गठन 30 मई 1987 में हुआ था।

गोवा राज्य की राजभाषा क्या है?

गोवा में कोंकणी भाषा बोली जाती है।

निष्कर्ष

मुझे उम्मीद है आपको यह पोस्ट गोवा की राजधानी क्या है (Goa Ki Rajdhani Kya Hai) जरुर पसंद आयी होगी। अब आप जान गये हैं कि गोवा की राजधानी पणजी है। पर्यटन स्थलों की सूची में गोवा की राजधानी पणजी का नाम सबसे पहले आता है। यहाँ पर प्रसिद्ध स्थानों में माला क्षेत्र, बीच, मीरामार समुद्र तट और कला एकेडमी का नाम आता है। यदि आपके मन में इस पोस्ट से जुड़े कोई सवाल या सुझाव हैं तो नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट जरुर करें।

अन्य पढ़ें –

बिहार की राजधानी उत्तर प्रदेश की राजधानी
गुजरात की राजधानी राजस्थान की राजधानी
पंजाब की राजधानी झारखण्ड की राजधानी
असम की राजधानी महाराष्ट्र की राजधानी
आन्ध्र प्रदेश की राजधानी अरुणाचल प्रदेश राजधानी
छत्तीसगढ़ की राजधानी हिमाचल प्रदेश की राजधानी
हरियाणा की राजधानी केरल की राजधानी
कर्नाटक की राजधानी मणिपुर की राजधानी
मध्य प्रदेश की राजधानी मिजोरम की राजधानी
मेघालय की राजधानी ओडिशा की राजधानी
नागालैंड की राजधानी तमिलनाडु की राजधानी
सिक्किम की राजधानी मिज़ोरम की राजधानी
पश्चिम बंगाल की राजधानी तेलंगाना की राजधानी
उत्तराखंड की राजधानी दिल्ली की राजधानी
त्रिपुरा की राजधानी भारत की राजधानी
Rate this post

Leave a Comment