बिहार की राजधानी क्या है | Bihar Ki Rajdhani Kya Hai

क्या आप जानते हैं कि बिहार की राजधानी क्या है (Bihar Ki Rajdhani Kya Hai).बिहार भारत का पूर्वी राज्य है। बिहार का क्षेत्रफल 94,163 वर्ग किलोमीटर है। साल 2011 की जनगणना के अनुसार बिहार राज्य की जनसंख्या 104,099,452 है। बिहार राज्य भारत का जनंसख्या के दृष्टि से तीसरा सबसे बड़ा राज्य है और क्षेत्रफल की दृष्टि से बारहवाँ राज्य है।

बिहार राज्य की सीमायें नेपाल के साथ और भारत के अन्य राज्य झारखण्ड, पश्चिम बंगाल और उत्तर प्रदेश से मिलती है। 22 मार्च 1912 को पच्चिम बंगाल से अलग होकर बिहार एक स्वतंत्र राज्य बना था। 14 नवम्बर 2000 को बिहार के दक्षिणी भाग को अलग करके एक नया राज्य झारखण्ड बनाया गया था। तो चलिए विस्तार से जानते हैं कि बिहार की राजधानी क्या है

बिहार की राजधानी क्या है – Bihar Ki Rajdhani Kya Hai

Bihar Ki Rajdhani Kya Hai

बिहार की राजधानी पटना है। पटना बिहार राज्य के सबसे बड़ा नगर है। बिहार की राजधानी पटना का पुराना नाम पाटलिपुत्र, पुष्पपुरी और कुसुमपुर था। पटना बिहार राज्य का सबसे अधिक जनसंख्या वाला जिला है इस महानगर की कुल आबादी 2046652 है।

पटना शहर गंगा नदी के तट पर स्थित है। जहाँ पर अन्य सहायक नदियाँ सोना नदी, घाघरा नदी, और गंडक नदी भी मिलती है। बिहार की राजधानी पटना को तीनो ओर से इन्ही तीन नदियों ने घेर रखा है। समुद्र तल से तकरीबन 53 मीटर की ऊंचाई पर पटना शहर बसा है।

बिहार की राजधानी पटना से वैशाली जिला को जोड़ने के लिए गंगा नदी पर महात्मा गाँधी सेतु नामक पुल बनाया गया है। यह पुल दुनिया का सबसे लम्बा पुल है जिसकी लंबाई 5575 मीटर है। यातायात की दृष्टि से पटना में सड़क मार्ग, रेल मार्ग, वायु मार्ग का साधन उपलब्ध है।

बिहार का इतिहास – History of Bihar in Hindi

बिहार का इतिहास बहुत पुराना है। सनातन धर्म से जुड़े कई वाक्य और कहानियां बिहार राज्य से जुड़ी हैं। इतिहासकारों के अनुसार त्रेतायुग में माता सीता का जन्म बिहार राज्य के मिथिला में हुआ, मिथिला को अब सीतामढी़ के नाम से जाना जाता है। सीता जी के पिता राजा जनक थे। जिनका शासनकाल बिहार राज्य के मुजफ्परपुर, सीतामढी, समस्तीपुर, मधुबनी तक फैला हुआ था। अयोध्या नरेश श्री राम ने जब माता सीता का परित्याग किया तो सीता माता महर्षि वाल्मीकि के आश्रम में चली गई। यह आश्रम गंडक के किनारे स्थित है जो वाल्मीकि नगर के नाम से जाना जाता है। यहीं पर माता सीता ने अपने दोनों पुत्रों लव-कुश को जन्म दिया था।

बिहार की धरती जैन धर्म के संस्थापक भगवान महावीर की जन्म भूमि और कर्मभूमि भी हैं। सिखों के दसवें और आखिरी गुरु का नाम  गुरु गोबिंद सिंह है जिनका जन्म भी बिहार की राजधानी पटना के पूर्वी भाग हरमंदिर में हुआ था।आज के समय में यहाँ पर एक भव्य गुरुद्वारा बन गया है। यह गुरुद्वारा पूरे भारत में सिखों के पांच पवित्र गुरुद्वारा में से एक है। अर्थशास्त्र के रचयिता कौटिल्य (चाणक्य) का जन्म भी बिहार की धरती पर हुआ था। कौटिल्य (चाणक्य) मगध के राजा चंद्रगुप्ता मौर्य के प्रमुख सलाहकार माने जाते थे।

270 ईसा पूर्व महान अशोक ने बिहार पर अपना शासनकाल किया था। भारत के राष्ट्रीय ध्वज तिरंगे में अशोक चक्र सम्राट अशोक की ही देन है। बिहार राज्य का नालंदा विश्व-विद्यालय दुनियाभर में मशहूर है। इस विश्व-विद्यालय में दुनियाभर से छात्र शिक्षा ग्रहण करने आते थे। आपको बता दें कि इस विश्वविद्यालय में 300 कमरे, 7 बड़े-बड़े कक्ष और 9 मंजिला का पुस्तकालय था, जिसमें 3 लाख से भी ज्यादा किताबें थीं। सन् 1199 में तुर्क आक्रमणकारी बख्तियार खिलजी ने नालंदा विश्व-विद्यालय को आग के हवाले कर दिया। ऐसा कहा जाता है कि पुस्तकालय में इतनी ज्यादा किताबें थीं कि 3 महीने तक लगातार आग धधकती रही थी। आज यह एक खंडहर बन चुका है, जिसे देखने के लिए दुनियाभर से लोग घूमने के लिए आते हैं।

ब्रिटिश शासन के दौरान बिहार पश्चिम बंगाल का हिस्सा था, और कलकत्ता को राजधानी बनाया गया था। सन 1912 में बंगाल से अलग होकर बिहार नया राज्य बन गया। इसके बाद सन 1935 में बिहार का एक हिस्सा अलग करके उड़ीसा को अलग राज्य बना दिया गया। भारत की आजादी के बाद बिहार राज्य का एक बार फिर विभाजन हुआ। 15 नवंबर 2000 को बिहार के दक्षिणी भाग को अलग करके एक नया राज्य झारखंड बनाया गया।

बिहार के पर्यटन स्थल – Tourist Places in Bihar in Hindi

बिहार में कई ऐतिहासिक और प्राकृतिक पर्यटल स्थल मौजूद है जिसे देखने के लिए दुनियाभर से लोग घूमने के लिए आते है। अगर आप भारत में कहीं घूमने का प्लान बना रहे हैं तो एक बार बिहार का प्लान बना सकते हैं। यहाँ पर सभी धर्मो (हिन्दू, मुसलमान, बुद्ध, जैन और सिख) के अनेक महत्वपूर्ण तीर्थ स्थल मौजूद है, जिसे देखने के लिए लाखो की तादात में हर वर्ष पर्यटक आते हैं। तो चलिए जानते हैं कि बिहार में कौन-कौन से महत्वपूर्ण पर्यटन स्थल मौजूद हैं।

पर्यटल स्थल का नाम स्थान का नाम
नालंदा विश्वविद्यालय नालंदा, बिहार
चिड़ियाघर पटना, बिहार
गोल घर पटना, बिहार
संग्रहालय पटना, बिहार
मुंगेर, बिहार पटना, बिहार
बुद्ध स्मृति पार्क पटना, बिहार
हनुमान मंदिर पटना, बिहार
बड़ी पटन देवी पटना, बिहार
छोटी पटन देवी मंदिर पटना, बिहार
अगम कुआँ पटना, बिहार
कुम्हरार पार्क पटना, बिहार
क़िला हाउस पटना, बिहार
शहीद स्मारक पटना, बिहार
विश्व शांति स्तूप राजगीर, बिहार
शेरशाह सूरी सासाराम का मकबरा सासाराम, बिहार
जल मंदिर पावापुरी, बिहार
महाबोधि मंदिर गया, बिहार
विष्णुपद मंदिर गया, बिहार
सीताकुंड मुंगेर, बिहार
अशोक स्‍तम्भ वैशाली, बिहार
बौद्ध स्‍तूप वैशाली, बिहार
विश्व शांति स्तूप वैशाली, बिहार
जानकी स्थान मंदिर सीतामढ़ी, बिहार
उर्बीजा कुंड सीतामढ़ी, बिहार
हलेश्वर स्थान सीतामढ़ी, बिहार
पंथ पाकड़ सीतामढ़ी, बिहार
बगही मठ सीतामढ़ी, बिहार
विक्रमशिला विश्वविद्यालय का खंडहर भागलपुर, बिहार

FAQs – Bihar Ki Rajdhani

बिहार की राजधानी क्या है?

बिहार की राजधानी पटना है।

बिहार की जनसंख्या कितनी है?

बिहार की कुल आबादी 104,099,452 है। जिसमे पुरुषों की जनसंख्या 54,275,001 और महिलाओं की जनसंख्या 49,824,451 है।

बिहार में कितने जिले है?

बिहार में कुल 38 ज़िले है। जनसंख्या की दृष्टि से बिहार का सबसे ज्यादा आबादी वाला शहर पटना है और सबसे कम जनसंख्या वाला जिला शेखपुरा है।

बिहार के मुख्यमंत्री कौन है?

बिहार के मुख्यमंत्री श्री नितीश कुमार हैं।

बिहार का गठन कब हुआ था?

बिहार राज्य का गठन 22 मार्च 1912 में हुआ था। और पटना शहर को बिहार की राजधानी बनाया गया।

निष्कर्ष

मुझे उम्मीद है आपको यह पोस्ट बिहार की राजधानी क्या है (Bihar Ki Rajdhani Kya Hai) जरुर पसंद आयी होगी। अब आप जान गए हैं कि बिहार की राजधानी पटना है। बिहार की राजधानी पटना को पहले पाटलिपुत्र के नाम से भी जाना जाता था। यदि आपके मन में इस पोस्ट से जुड़े कोई सवाल या सुझाव हैं तो नीचे कमेंट बॉक्स में जरुर कमेंट करें। 

About Editorial Staff

Hindi Me Post पर आपको कंप्यूटर, टेक्नोलॉजी, डिजिटल मार्केटिंग और ऑनलाइन पैसे कमाने की जानकारी शेयर की जाती है. हमारा मकसद है हम एक दम सरल भाषा आपको जानकरी दें. Facebook | Instagram | Twitter

Leave a Comment