काली मिर्च के फायदे | Benefits of Black Pepper in Hindi

काली मिर्च के फायदे – काली मिर्च का इस्तेमाल लगभग हर भारतीय रसोईघर में किया जाता है। यह न सिर्फ खाने का जायका बढ़ाती है बल्कि शरीर के लिए बहुत फायदेमंद होती है।

आयुर्वेद में काली मिर्च का इस्तेमाल कई दसको से होता रहा है। इसके औषधीय गुण कई प्रकार के रोगों को ठीक करने के लिए लाभकारी होते है। आज के इस पोस्ट में हम जानेंगे कि काली मिर्च के फायदे क्या हैं और इसका उपयोग कैसे कर सकते हैं।

काली मिर्च क्या है – What is Black Pepper in Hindi

black pepper in hindi

काली मिर्च एक औषधीय मसाला है जिसका वैज्ञानिक नाम पाइपर निग्राम है। अंग्रेजी में इसे ब्लैक पेप्पर (Black Pepper) का जाता जाता है। काली मिर्च देखने में गोल, छोटी और काले रंग की होती है। खाने में काफी तीखा होता है।

जगह के हिसाब से काली मिर्च के अलग-अलग नाम हैं। तेलुगू में इसे नाला मिरियालु, तमिल में करूमिलाकु व कन्नड़ में कारे मनसु कहा जाता है। काली मिर्च की खेती एक वर्ष में दो उपज होती हैं।

पहली उपज अगस्त-सितम्बर में और दूसरी उपज मार्च-अप्रैल में। काली मिर्च की खेती सबसे ज्यादा भारत के दक्षिण पश्चिमी क्षेत्रों में की जाती है जिसमें केरल, मैसूर, तमिलनाडु और गोवा का नाम शामिल है।

काली मिर्च एक फूल वाली बेल होती है, जब यह फल सूख जाता है तो काली मिर्च निकाल आती है। काली मिर्च में कई तरह के औषधीय गुण मौजूद होते हैं। इसमें मुख्य रूप से एंटी-फ्लैटुलेंस, ड्यूरेटिक, एंटी-इंफ्लेमेटरी, डाइजेस्टिव, मैमोरी इनहेंसर, विटामिन ए और विटामिन सी, सेलेनियम आदि।

काली मिर्च के फायदे – Kali Mirch Ke Fayde

काली मिर्च खाने से आपकी सेहत को जबरदस्त फायदे मिलते हैं। साथ ही इसका इस्तेमाल करके कई प्रकार के रोगों को ठीक किया जा सकता है। तो चलिए जानते हैं कि काली मिर्च के फायदे क्या क्या होते हैं।

1.) काली मिर्च के फायदे सर्दी जुकाम में

सर्दी जुकाम से तुरंत राहत पाने के लिए काली मिर्च का इस्तेमाल किया जा सकता है। काली मिर्च में रोगाणुरोधी गुण मौजूद होते हैं जो बंद नाक और सर्दी- जुकाम को दूर करने में कारगर होते हैं। इसके लिए आप चाय में काली मिर्च डालकर सेवन कर सकते हैं।
(और पढ़ें – सर्दी जुकाम के घरेलू उपाय)

2.) काली मिर्च के फायदे दांत दर्द में

दांतों से जुड़ी समस्याओं से राहत पाने के लिए काली मिर्च का इस्तेमाल कर सकते हैं। लौंग के तेल में काली मिर्च पाउडर मिलाकर दांतों की मालिश करने से दांत और मसूड़ों का दर्द ठीक हो जाता है।

इसके अलावा 1-2 ग्राम काली मिर्च का चूर्ण को जामुन या अमरूद के पत्तों के साथ पीस लें और इससे कुल्ला करने से दांत दर्द ठीक होता है।
(और पढ़ें – दांत के दर्द का रामबाण इलाज)

3.) काली मिर्च के फायदे कोलेस्ट्रॉल नियंत्रण में

शरीर में कोलेस्ट्रॉल का स्तर अधिक होने पर कई सारी शारीरिक समस्यायें होने लगती है। बढ़े हुए कोलेस्ट्रॉल को कम करने के लिए काली मिर्च का इस्तेमाल किया जा सकता है। काली मिर्च में पाइपरिन नामक तत्त्व मौजूद होता है जो शरीर में कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करने में मदद करता है।
(और पढ़ें – कोलेस्ट्रॉल कम करने का रामबाण इलाज)

4.) काली मिर्च के लाभ वजन नियंत्रण में

बढ़े हुए वजन को कम करने के लिए भी काली मिर्च का इस्तेमाल कर सकते हैं। काली मिर्च में मौजूद पाइपरिन और एंटीओबेसिटी गुण भूख में किसी तरह का बदलाव किये वजन को नियंत्रित करने में फायदेमंद होते हैं।
(और पढ़ें – मोटापा कम करने का रामबाण उपाय)

5.) काली मिर्च खाने के फायदे दमा-खाँसी में

काली मिर्च का प्रयोग दमा-खाँसी को सफलतापूर्वक ठीक करने में किया जा सकता है। इसके लिए 2 ग्राम काली मिर्च चूर्ण को 200 मिली ग्राम दूध में पकाकर पीने से दमा-खाँसी से राहत मिलती है। गले की खराश को दूर करने के लिए 2-3 काली मिर्च मुंह में रखकर चूसे।
(और पढ़ें – बलगम वाली खांसी के लिए घरेलू उपाय)

6.) काली मिर्च का फायदा गठिया दर्द में

गठिया और जोड़ों का दर्द दूर करने के लिए काली मिर्च का इस्तेमाल किया जा सकता है। काली मिर्च का तेल से मालिश करने से रक्त संचार तेज होता है जिससे जिससे आर्थराइटिस, जोड़ो का दर्द में आराम मिलता है।
(और पढ़ें – गठिया को जड़ से खत्म करने के उपाय)

7.) काली मिर्च के फायदे डायबिटीज नियंत्रण में

डायबिटीज रोगियों के लिए काली मिर्च बहुत फायदेमंद होती है। डायबिटीज के रोगियों में इंसुलिन का उत्पादन सामान्य मात्रा में नहीं होता है। शुगर के रोगियों के शरीर में इंसुलिन का उत्पादन सामान्य से अधिक या फिर बहुत ही कम होता है।

काली मिर्च का सेवन करने से असंतुलित इंसुलिन नियंत्रित हो जाते है जिससे शुगर रोगियों को आराम मिलता है।
(और पढ़ें – शुगर को जड़ से खत्म करने के उपाय)

8.) काली मिर्च के फायदे डैंड्रफ को दूर करने में

डैंड्रफ की समस्या से छुटकारा पाने के लिए काली मिर्च का इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके लिए 1 चम्मच पीसी काली मिर्च चूर्ण को दही में मिलाकर पेस्ट बना लें। अब इस पेस्ट को बालों की जड़ में लगायें और आधे घंटे तक ऐसे ही लगा रहने दें। इसके बाद पानी से धो लें।
(और पढ़ें – डैंड्रफ का रामबाण इलाज)

9.) काली मिर्च के फायदे इम्युनिटी बढ़ाने में

काली मिर्च को इम्यूनिटी बूस्टर भी कहा जाता है इसके लिए शरीर की इम्युनिटी बढाने के लिए इसका सेवन कर सकते हैं। इसके लिए काली मिर्च की चाय या काढ़ा बनाकर पी सकते हैं।
(और पढ़ें – इम्यूनिटी बढ़ाने के घरेलू उपाय)

10.) काली मिर्च के फायदे पेट के लिए

काली मिर्च का सेवन करने से पेट की कई सारी समस्याएं दूर हो जाती है जैसे पेट के कीड़े, अपच, बदहज और गैस्ट्रिक की समस्या। 2-3 ग्राम काली मिर्च चूर्ण को 1 कप छाछ में मिलाकर सुबह खाली पेट पी सकते हैं।
(और पढ़ें – पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय)

काली मिर्च का उपयोग कैसे करें – How to use Black Pepper in Hindi

आप काली मिर्च का सेवन कई प्रकार से कर सकते हैं जैसे –

  1. काली मिर्च की चाय बनाकर पी सकते हैं।
  2. खाना बनाते समय जैसे सब्जी में काली मिर्च डाल सकते हैं।
  3. बर्गर, सॉस, आमलेट में काली मिर्च का पाउडर इस्तेमाल कर सकते हैं।
  4. फास्ट फूड को तीखा बनाने के लिए ऊपर से काली मिर्च का पाउडर छिड़क सकते हैं।
  5. काली मिर्च पाउडर को शहद मिलाकर चाटा जा सकता है।

काली मिर्च के नुकसान – Side Effects of Black Pepper in Hindi

काली मिर्च का सेवन करने से फायदे और नुकसान दोनों हो सकते हैं। तो चलिए जानते हैं कि काली मिर्च के नुकसान क्या क्या हो सकते हैं –

  1. अधिक मात्रा में काली मिर्च का सेवन करने से पेट में जलन हो सकती है।
  2. काली मिर्च आंखों के संपर्क में आनी से आंखों में जलन हो सकती है।
  3. गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिलाओं को काली मिर्च का अधिक सेवन करने से बचना चाहिए।
Rate this post

Leave a Comment