क्विनोआ क्या है और इसके फायदे | Quinoa in Hindi

अच्छी सेहत और स्वस्थ रहने के लिए पोष्टिक आहार का सेवन करना बहुत आवश्यक होता है. लोग कई प्रकार के आनाज का सेवन करते है जैसे गेहू, चावल, चना, मक्का आदि. कुछ आनाज ऐसे होते है जिनको कम मात्रा में खाने से शरीर को ज्यादा मात्रा में ऊर्जा मिलती है. आज के इस पोस्ट में हम एक ऐसे औषधिय पौधे क्विनोआ’ की बात कर रहे है जिसका सेवन करने से सरीर स्वस्थ और बिमारियों से लड़ने में मददगार होता है.

जंगल और पहाड़ों में हमेशा से ही आयुर्वेदिक औषधियां पायी जाती हैं.इन्हीं आयुर्वेदिक औषधियां में से एक औषधि है ‘क्विनोआ’. आपको बता दें कि क्विनोआ भारतीय औषधि नहीं है बल्कि इसे दक्षिण अम्रेरिका से लाया गया था.क्विनोआ  में बहुत सारे पोष्टिक तत्व मौजूद होते है. तो आईये आगे क्विनोआ के बारे में विस्तार से जानते हैं.

Contents

क्विनोआ क्या है – Quinoa Meaning in Hindi

Quinoa Meaning in Hindi 

क्विनोआ फूलदार पौधा है, जिसकी लम्बाई तकरीबन एक से दो मीटर होती है. यह एक वार्षिक पौधा है जिसका इस्तेमाल कई गंभीर बिमारियों के ठीक करने में किया जाता है.क्विनोआ को ‘चिनोपोडियम क्विनोआ’ के नाम से भी  जाना जाता है. क्विनोआ के बीज देखने में ओट्स की तरह दिखाई देते है. जिनका आकार न तो बहुत बढ़ा और न ही बहुत छोटा होता होता है बल्कि माध्यम आकार के होते हैं. क्विनोआ को हिंदी में (Quinoa in Hindi Name) किनोवा ही कहा जाता है.

क्विनोआ के प्रकार- Types of Quinoa in Hindi

क्विनोआ मुख्य रूप से तीन प्रकार के होते हैं. नीचे तीनो के बारे में विस्तार से जानते हैं.

1 सफेद क्विनोआ – White Quinoa in Hindi

White Quinoa Meaning in Hindi

सफेद क्विनोआ को हाथी दात और आईवरी क्विनोआ भी कहा जाता है. यह क्विनोआ सबसे लोकप्रिय है और आसानी से बाजार में मिल जाता है. इसका इस्तेमाल तरह-तरह के स्वादिष्ट व्यंजन बनाने में किया जाता है जैसे पोहा,इडली,डोसा,स्प्राउट, सलाद, आदि.

2 लाल क्विनोआ – Red Quinoa in Hindi

Red Quinoa Meaning in Hindi

लाल क्विनोआ देखने में लाल रंग का होता है इसलिए इसे लाल क्विनोआ कहा जाता है. इस क्विनोआ इस्तेमाल कम किया जाता है और यह बाजार में कम मात्रा में उपलब्ध होता है. इसमें ख़ास बात यह है कि इसे पकाने का बाद भी इसका कलर लाल ही बना रहता है. इसका इस्तेमाल सलाद के तौर पर किया जाता है.

3 काला क्विनोआ – Black Quinoa in Hindi

Black Quinoa Meaning in Hindi

काला क्विनोआ देखने में काले और हल्के भूरे रंग के होते हैं. इसकी खेती सफेद क्विनोआ और लाल क्विनोआ के मुकाबले कम की जाती है. साथ ही इसका इस्तेमाल भी इन दोनों के मुकाबले कम किया जाता है. इस क्विनोआ पकाने में ज्यादा समय लगता है लेकिन खाने में हल्का मीठा होता है.

क्विनोआ के फायदे – Benefits of Quinoa in Hindi

क्विनोआ में प्रोटीन, आयरन, फाइबर और अन्य पौष्टिक तत्व भरपूर मात्रा में पाए जाते है जिनका सेवन करने से शरीर को बहुत फायदा मिलता है. तो आइये जानते है कि क्विनोआ के फायदे कौन-कौन से हैं.

1 क्विनोआ लाभदायक हैं वजन घटाने में

जो लोग मोटापे से परेशान है या अपना वजन कम करना चाहते हैं उनके लिए क्विनोआ मददगार साबित हो सकता है.आम तौर पर लोग मोटापा कम करने के लिए व्यायाम और कई दवाइयों का इस्तेमाल करते है. इसके अलावा कई लोग भूखा रहकर वजन कम करने की कोशिश करते है. इस प्रकार से वजन तो कम नहीं होता लेकिन अन्य बिमारियों का खतरा होने लगता है.

क्विनोआ में फाइबर के अधिक मात्रा पायी जाते है जो आनाज और बीज के मुकाबले कई गुना ज्यादा होती है.फाइबर  एक घुलनशील पदार्थ होता है जो वजन घटाने में फायदेमंद होता है.सुबह के नाश्ते में क्विनोआ का सेवन करें आप देंखेगे कि 1 सप्ताह में आपका मोटापा कम हो गया है.

2 क्विनोआ फायदेमंद हैं कोलेस्ट्रॉल को कण्ट्रोल करने में

मानव शरीर में दो प्रकार के कोलेस्ट्रॉल पाए जाते हैं हाई डेंसिटी लिपोप्रोटीन कोलेस्ट्रॉल यानि अच्छा कोलेस्ट्रॉल, लो डेंसिटी लिपोप्रोटीन यानी खराब कोलेस्ट्रॉल. स्वस्थ मनुष्य के शरीर में कोलेस्ट्रोल का सही स्तर 200 मिलीग्राम होता है.शरीर में कोलेस्ट्रोल का सही स्तर होना बहुत आवश्यक होता है. यदि शरीर में डेंसिटी लिपोप्रोटीन कोलेस्ट्रॉल यानि अच्छा कोलेस्ट्रॉल है तो हृदय के लिए फायदेमंद है.और यदि शरीर में ख़राब कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बढ़ जाए तो सीने में दर्द, हार्ट अटैक, स्ट्रोक या डायबिटीज होने का खतरा बढ़ जाता है.

क्विनोआ में फाइबर,प्रोटीन,मैग्नीशियम जैसे तत्व मौजूद होते हैं जो कोलस्ट्रोल के स्तर को कण्ट्रोल करते हैं. इसके अलावा क्विनोआ का सेवन करने से शरीर में अच्छा कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाने मदद करते है.

3 डायबिटीज में क्विनोआ फायदेमंद हैं

भागदौड़ भरी जिंदगी में और खराब जीवनशैली के कारण कई गंभीर बीमारियाँ होना का खतरा बढ़ जाता है. उनमे से ही एक बीमारी का नाम डायबिटीज है. डायबिटीज को मधुमेह या शुगर की बीमारी भी कहा जाता है.जब रक्त में शुगर की अधिक मात्रा हो जाते है उसे डायबिटीज कहा जाता है. यदि इस बीमारी को समय पर कण्ट्रोल नहीं किया गया, तो इसके खतरानाक परिणामों का सामना करना पड़ सकता है.डायबिटीज रोगी की जान भी जा सकती है.

क्विनोआ में प्रोटीन, अमीनो एसिड, फाइबर के प्रचुर मात्रा पायी जाती हैं जो रक्त में शुगर के स्तर को कम करने का कार्य करते करते हैं. डायबिटीज रोगियों को सुबह के नास्ते में क्विनोआ से बने आहार का सेवन करना चाहिए इससे  डायबिटीज कण्ट्रोल होने में मदद मिलेगी.

4 पाचन के लिए लाभदायक है क्विनोआ

पाचन तंत्र शरीर का मुख्य अंग होता है.जो भोजन पचाने का कार्य करता है. जब पाचन तंत्र में कोई समस्या होती है तो ठीक से नहीं पचाता है जिस कारण शरीर में कई रोग होने का खतरा बढ़ जाता है.क्विनोआ का सेवन करने से पाचन तंत्र को स्वस्थ रहता है. क्विनोआ में फाइबर की भरपूर मात्रा पायी जाती हैं जो आंत में मौजूद अच्छे बैक्टीरिया को बढ़ावा देने का काम करता हैं, जिससे पाचन तंत्र को फायदा मिलता है.

5 क्विनोआ के फायदे है सूजन को कम करने में

सूजन एक प्रकार की बीमारी है जो कभी कभी चोट लगने पर, अधिक पैदल चलने से या ठण्ड के कारण शरीर में सूजन आ जाती है. सूजन को कम करने में क्विनोआ असरदार साबित हो सकता है.क्विनोआ में फैटी एसिड तत्त्व मौजूद होता है जो हल्की और सामान्य सूजन से छुटकारा पाने के लिए लाभदायक होता है.

6 क्विनोआ मददगार है खून बढ़ाने में

शरीर में पोषक तत्त्व,आयरन और विटामिन की कमी के कारण खून की कमी हो जाती है.खून की कमी को एनीमिया रोग के नाम से भी जाना जाता है. खून की कमी से शरीर में कई तरह के बदलाब देखने को मिलते है जैसे शरीर में  थकान महसूस होना, कमजोरी होना, तनाव होना और चक्कर आने जैसी समस्याएँ होने लगती है. एनीमिया की समस्या छुटकारा पाने के लिए क्वीनोआ बहुत फायदेमंद साबित हो सकता है.क्विनोआ में आयरन की प्रचुर मात्रा पायी जाती है जो शरीर में हीमोग्लोबिन के स्तर को बढ़ाकर खून की कमी दूर करने में मदद करता है.

7 क्विनोआ असरदार है बालों को मजबूती बनाने में

भागदौड़ भरी ज़िन्दगी में गलत खान-पान और गलत दिनचर्या से शरीर को आवश्यक पोषक पदार्थ नहीं मिल पाते जिससे बाल गिरना शुरू हो जाते है. आज कल बाल गिरने की समस्या बहुत ज्यादा बढ़ गयी है. यदि सही समय पर इसका इलाज न किया जाए तो गंजा होने में ज्यादा साल नहीं लगते.बालों की जड़ मजबूत बनाये रखने में क्विनोआ बहुत लाभदायक होता है. क्विनोआ में प्रोटीन, कैल्शियम और विटामिन ई और अन्य पोषक तत्त्व मौजूद होते हैं जो बालों को मजबूती प्रदान करने में मदद करता है. अपने आहार में रोजाना क्विनोआ का सेवन करने से  आपके झड़ते बाल रुक जायेंगे.

8 क्विनोआ का उपयोग करने ह्रदय को स्वस्थ रखने में

ह्रदय बहुत महत्वपूर्ण अंग होता है जो 24 घंटे धडकता है.ह्रदय संबधित बीमारियाँ व्यक्ति की जान भी ले सकती हैं. इसलिए यदि आपको ह्रदय से संबंधित कोई समस्या है तो उसका तुरंत इलाज करना बहुत आवस्यक है. ह्रदय को स्वस्थ रखने में क्विनोआ बहुत कारगर होता है.क्विनोआ में फैटी एसिड, ओलिक एसिड और फाइबर प्रचुर मात्रा में पाया जाता है, जिसका सेवन करने से हदय को स्वस्थ साथ ही दिल के दौरे (हार्ट अटैक) के खतरे से बचाता है.

9 क्विनोआ गुणकारी है हड्डियों को मजबूत बनाने में

भागदौड़ भरी ज़िंदगी में ज्यादातर लोग सही खान पान पर ध्यान नहीं देते है जिससे उनके शरीर में आवश्यक पोषक तत्वों की कमी हो जाती है. शरीर में कैल्शियम की कमी से हड्डियां कमजोर होने लगती हैं जिसका नतीजा जरा सी चोट लगने पर हड्डी जल्दी टूट जाती हैं. क्विनोआ में प्रोटीन और कैल्शियम प्रचुर मात्रा में पाया जाता है जो हड्डियों के घनत्व को बढ़ाकर उन्हें मजबूती प्रदान करने में मदद करता है. हड्डियों को मजबूत और स्वस्य बनाये रखने के लिए रोजाना सुबह-सुबह अंकुरित क्विनोआ के दानों का सेवन करें.

10 त्वचा में फायदेमंद है क्विनोआ

स्वस्थ और खूबसूरत त्वचा पाने की चाहत हर किसी की होती है. त्वचा की  ख़ूबसूरती पाने या बनाये रखने के लिए कई प्रकार की क्रीम और दवाइयों का इस्तेमाल करते है.लेकिन फिर भी त्वचा में निखार नहीं आता है. स्वस्थ और खूबसूरत त्वचा पाने के लिए क्विनोआ का इस्तेमाल करें. क्विनोआ में विटामिन बी 12 पाया जाता है जो त्वचा के लिए फायदेमंद होता है.

11 कैंसर से बचाव के लिए फायदेमंद है क्विनोआ

कैंसर’ यह नाम सुनते ही लोगो का दिल और दिमाग में डर का माहौल बन जाता है, क्योंकि यह एक खतरनाक बीमारी है जिसका दवाई आज तक नहीं बन पाई है. कुछ आयुर्वेदिक उपचार से इसे कंट्रोल किया जा सकता है.कैंसर से बचाव में क्वीनोआ  को उपयोग में लाया जा सकता है. क्वीनोआ में फाइबर,ओमेगा-3 फैटी एसिड, अल्फा-लिनोलिक एसिड पाया जाता है जो कैंसर से बचाव करने में मदद करता है.कैंसर के इलाज के लिए किसी अच्छे डॉक्टर की सलाह लेना बहुत आवश्यक होता है.

12  क्वीनोआ फायदेमंद है डैंड्रफ के लिए

आमतौर पर डैंड्रफ या रूसी की समस्या को गंभीरता से नहीं लिया जाता है लेकिन इसका इलाज करना बहुत आवश्यक है नहीं तो बाल की जड़ें कमजोर होने लगती है और बाल भी गिरने लगते हैं. यूँ तो बाजार में बहुत सारे एंटी-डैंड्रफ शैंपू उपलब्ध हैं लेकिन उनका इस्तेमाल करने से बाल रूखेपन का शिकार होने लगते हैं. डैंड्रफ की समस्या से छुटकारा पाने के लिए क्वीनोआ का इस्तेमाल कर सकते हैं. क्वीनोआ में कैल्सियम,आयरन, फास्फोरस की प्रचुर मात्रा पायी जाते है जो बालो की रूसी दूर करने में लाभदायक होता है. सबसे पहले क्विनोआ को उबालकर उसका पेस्ट तैयार कर लें और ठंडा होने के बाद  सर पर लगाएं. लगभग 15-20 मिनट बाद बालों को स्वच्छ पानी से धो लें.

13 रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में असरदार है क्विनोआ

कोविड-19 महामारी ने लोगों को जागरूक कर दिया कि शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता (इम्युनिटी) को बढ़ाना कितना आवश्यक है. रोग प्रतिरोधक क्षमता बेहतरीन होने से छोटे- मोटे रोगों से हमारा शरीर स्वयं ही सामना कर लेता है हमें किसी डॉक्टरी के पास जाने कि या दवाइयाँ खाने की जरुरत नहीं पड़ती है.अक्सर मौसम के बदलाव के कारण कुछ लोग जल्दी बीमार पड़ जाते हैं लेकिन जिन लोगो कि कुछ इम्युनिटी सिस्टम अच्छी होती है उन पर बदलते मौसम का कुछ प्रभाव नहीं पड़ता है. क्विनोआ में एंटी ऑक्सीडेंट, फाइबर, आयरन, जिंक, मैग्नीशियम, पोटेशियम,विटामिन जैसे अन्य पोषक तत्व मौजूद होते हैं जो हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में में मदद करते हैं.

14 क्वीनोआ का इस्तेमाल मेटाबॉलिज्म बढ़ाने के लिए

शरीर को काम करने के लिए ऊर्जा की जरुरत होती है और ऊर्जा हमें भोजन से प्राप्त होती है. शरीर में भोजन का ऊर्जा के रूप में बदलना मेटाबॉलिज्म या चयापचय कहलाता है. यदि शरीर का मेटाबॉलिज्म कम होता है तो थकान, ,मांसपेशियों में कमजोरी, ड्राई स्किन, वजन बढ़ना, जोड़ों में सूजन और अन्य गंभीर बीमारियाँ हो सकती हैं. क्वीनोआ पाचन क्रिया के साथ-साथ मेटाबॉलिज्म बढ़ाने में मदद करता है. क्वीनोआ में अमीनो एसिड, कार्बोहाइड्रेट, लिपिड, फाइबर और मैक्रोन्यूट्रिएंट्स तत्त्व मौजूद होते हैं जो मेटाबॉलिज्म में सुधार के लिए भी फायदेमंद साबित हो सकते हैं.

15 क्विनोआ मददगार है टिशू के विकास में

जिस व्यक्ति की शारीरिक ग्रोथ अच्छे से होती है तो ऐसा माना जाता है कि उसका शारीरिक विकास अच्छा हो रहा है. टिशू की मरम्मत और विकास में करने के लिए क्विनोआ का सेवन करें. क्विनोआ में फाइबर, प्रोटीन और एंटीऑक्सीडेंट तत्त्व मौजूद होते है जो कोशिकाओं को होने वाले क्षति से बचाते हैं और टिशू के विकास में अहम् भूमिका निभाते है.

क्विनोआ के पौष्टिक तत्व – Nutritional Value of Quinoa in Hindi

क्विनोआ में पोटैशियम, फाइबर, कार्बोहायड्रेट, प्रोटीन, जिंक, कैल्शियम, विटामिन और अन्य पोषक तत्व भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं. जो शरीर को स्वस्थ और बीमारियों से लड़ने में मदद करते है. तो आइये जानते हैं कि क्विनोआ में कौन-कौन से पोषक तत्व और उनकी कितनी मात्रा मौजूद होती है.

पोषक तत्व पोषक तत्वों की मात्रा
प्रोटीन 4.4 ग्राम
फाइबर 2.8 ग्राम
कैल्शियम 17 mg
फास्फोरस 152 mg
कार्बोहाइड्रेट 21.3 ग्राम
सोडियम 07 mg
एनर्जी 120 कैलोरीज
मैग्नीशियम 64 mg
जिंक 1.09 mg
कॉपर 0.192 mg
आयरन 1.49 mg
विटामिन ए 05 iu
विटामिन बी 6 0.123 mg
विटामिन ई 0.63 mg
फोलेट (डीएफई) 42 µg

क्विनोआ के नुकसान – Side Effects of Quinoa in Hindi

क्विनोआ के फायदे के हिसाब से देखा जाए तो इससे होने वाले नुकसान न के बराबर है. तो आइये जानते हैं कि क्विनोआ का ज्यादा मात्रा में सेवन करने से क्या क्या नुकसान हो सकते हैं.

  1. यह ब्लड शुगर के स्तर को कम करता है.  इसलिए, सुगर रोगियों को इसका सेवन करने से पूर्व किसी अच्छे डॉक्टर की सलाह जरुर लेनी चाहिए.
  2. जिन लोगो का वजन कम है उन्हें क्विनोआ का सेवन नहीं करना चाहिए क्योंकि इसमें वजन को कम करने वाले तत्त्व मौजूद होते है.
  3. क्विनोआ के ज्यादा मात्रा में सेवन करने  से अपच की समस्या  हो सकती है.
  4. जिन लोगो को कुछ खाद्य पदार्थ खाने से एलर्जी की समस्या होते है, ऐसे लोगो को क्वीनोआ का सेवन करने से पूर्व डॉक्टर से परामर्श लेना चाहिए.
  5. ब्लड प्रेशर की समस्या वाले लोगों को  क्वीनोआ का सेवन से बचना चाहिए, क्योंकि क्वीनोआ में एंटीहाइपरटेंसिव तत्त्व पाया जाता है जो ब्लड प्रेशर कम करने का काम करता जाता है.

क्विनोआ का उपयोग सलाद में

किनोवा सलाद बनाना काफी आसान है और यह लोकप्रिय भारतीय किनोवा रेसिपी है.

सामग्री

  • दो कप पानी
  • एक कप क्विनोआ
  • गोभी के 10 पत्ते बारीक कटे हुए
  • तीन चम्मच जैतून का तेल
  • दो चम्मच नींबू का रस
  • एक चम्मच डीजोन मस्टर्ड
  • एक लहसुन बारीक कटा हुआ
  • दो-तीन काली मिर्च पिसी हुई
  • आधा चम्मच नमक
  • एक कप पेकान (एक प्रकार का अखरोट)
  • एक कप किशमिश
  • पनीर आधा कप

बनाने की विधि 

  1. क्विनोआ को लगभग 10-15 मिनट तक पानी में उबालकर और ठंडा होने के लिए रख दें.
  2. अब एक बड़े बर्तन में गोभी की पत्तियां डालकर उसमें जैतून का तेल, नींबू का रस, काली मिर्च, नमक, डीजोन मस्टर्ड और लहसुन डालकर अच्छी तरह से मिला लीजिये.
  3. अब इसमें क्विनोआ, पेकान, किशमिश और पनीर डालकर मिलाएं और सेवन करें.

क्विनोआ पुलाव कैसे बनायें

यह भारतीय पुलाव की तरह होता है जिसमें केवल चावल की जगह पर किनोवा इस्तेमाल किया जाता है.

सामग्री

  • 2 कप भिगोए किनोवा
  • ½ कप कटा हुआ पालक
  • 1 मध्यम प्याज, कटा हुआ
  • 1 मध्यम गाजर, कटा हुआ
  • 5-6 मशरूम, मोटे तौर पर कटा हुआ
  • 5-6 फ्रेंच बीन्स, मोटे तौर पर कटा हुआ
  • ¼ कप कॉर्न
  • 1 बड़ा चम्मच तेल
  • नमक स्वादअनुसार
  • 1 चम्मच जीरा
  • 1 चम्मच लाल मिर्च पाउडर
  • 1 चम्मच हल्दी पाउडर
  • 1 चम्मच गरम मसाला पाउडर

बनाने की विधि 

  1. एक कढाई में तेल डालकर गर्म करें.
  2. अब उसमे जीरा डालें थोडा जीरा पकने के बाद प्याज डालें औरप्याज को हल्का भूरा होने तक पकाएं.
  3. उसके बाद गाजर, फ्रेंच बीन्स, मकई के दाने , मशरूम और स्वादानुसार नमक को मिलाएं और लगभग 2-3 मिनट तक हाई फ्लेम पर पकने दें.
  4. क्विनोआ डालने के बाद उसके साथ में लाल मिर्च पाउडर, हल्दी पाउडर और गरम मसाला पाउडर डालकर और अच्छी तरह से मिलाएँ.
  5. पालक और 3 कप पानी डालकर अच्छी तरह से मिलाएँ. इसमें उबाल आने दे. क्विनोआ पूरी तरह से होने तक ढक कर पकाएं.

FAQs -Quinoa in Hindi

क्विनोआ को हिंदी में क्या कहते हैं?

क्विनोआ को हिंदी में किनोवा ही कहा जाता है.

क्विनोआ का क्या रेट है?

बाजार में क्विनोआ की कीमत 500 -1000 प्रति किलो होती है.

क्विनोआ क्या काम आता है?

क्विनोआ का इस्तेमाल खून,इम्युनिटी सिस्टम और मेटाबॉलिज्म बढ़ाने के लिए किया जाता है.

क्या क्विनोआ को रोजाना खा सकते है?

हाँ, बेहतर स्वास्थ्य लाभ पाने के लिए रोजाना क्विनोआ का सेवन कर सकते हैं.

क्या वजन घटाने के लिए क्विनोआ खा सकते है?

हाँ, क्वीनोआ खाने से वजन घटाने में मदद मिलती है.

निष्कर्ष

मुझे उम्मीद है आपको यह पोस्ट क्विनोआ के फायदे और नुकसान -Quinoa in Hindi जरुर पसंद आई होगी. यदि आपके मन में इस पोस्ट से जुड़े कोई सवाल हैं या क्विनोआ से जुड़े कोई तथ्य है तो निचे कमेंट कर सकते हैं.इस पोस्ट को सोशल मीडिया पर ज्यादा से ज्यादा शेयर करें जिससे अन्य लोग क्विनोआ के फायदे के प्रति जागरूक होंगे.

अन्य पढ़ें –

 

About Vijay Singraul

नमस्कार दोस्तों, मैं HindiMePost का Chief Author और Founder हूँ. मुझे Blogging और Technology से जुडी जानकारियां पढने और दूसरों के साथ शेयर करने में अच्छा लगता है. आप भी इस ब्लॉग से जुड़े और रोजाना कुछ नया सीखें.

Leave a Comment