तुलसी के फायदे – Benefits of Basil Leaf in Hindi

हिन्दू धर्म में तुलसी का बड़ा महत्त्व है लोग इसकी पूजा करते हैं। घर या आंगन में तुलसी का पौधा लगाना बहुत शुभ माना जाता है साथ ही इससे नकारात्मकत ऊर्जा दूर रहती है।

आयुर्वेद में भी तुलसी को बहुत उपयोगी माना गया है। इसके औषधीय गुण व्यक्ति को कई रोगों से बचाता है साथ ही हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद होती है। आज के इस पोस्ट में हम तुलसी के फायदे और इसको उपयोग करने के तरीकों के बारे में विस्तार से जानेगे।

तुलसी क्या है – What is Tulsi in Hindi

tulsi ke fayde

तुलसी एक औषधीय पौधा है जो स्वास्थ्य के लिहाज से बहुत फायदेमंद होता है। तुलसी के पेड़ की जड़, शाखाएं, पत्ती और बीज सभी का अपना-अपना महत्व है। लोग तुलसी को अपने घर के आँगन या छत या बाग-बगीचें में लगाते हैं।

झाड़ीनुमा तुलसी के पेड़ की ऊंचाई लगभग 1-3 फूट होती है। इसकी पत्तियाँ हरे रंग की खुशबूदार होती हैं। आमतौर पर तुलसी के नए पौधे वर्षा ऋतु में उगते है। और इनकी अवधि लगभग 2-3 वर्ष की होती है। इसके बाद इसकी वृद्धावस्था आ जाती है और पत्ते कम और छोटे हो जाते हैं तथा शाखाएँ सूखने लगती हैं।

तुलसी के फायदे – Tulsi Ke Fayde

तुलसी को आयुर्वेदिक जड़ी बूटियों से सर्वश्रेष्‍ठ माना गया है। तुलसी का इस्‍तेमाल भोजन से लेकर दवाइयों के रूप में किया जाता है। तो चलिए जानते हैं कि तुलसी के क्या क्या फायदे होते हैं।

1.) तुलसी के फायदे इम्युनिटी बढ़ाने में

रोगों से लड़ने के लिए शरीर की इम्युनिटी मजबूत होना बहुत आवश्यक होता है। जिस व्यक्ति के शरीर की इम्युनिटी अच्छी होती है वो जल्दी बीमार नही पड़ता है। नियमित रूप से तुलसी के पत्तों का सेवन करने से आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता में बढोत्तरी होती है।
(और पढ़ें – इम्युनिटी पावर कैसे बढ़ाएं)

2.) तुलसी का लाभ सर्दी- ज़ुकाम में

सर्दी जुकाम बहुत आम समस्या है जो किसी को भी हो सकते हैं। कई बार लोगो को सर्दी जुकाम से काफी परेशानी हो जाती है। सर्दी- ज़ुकाम से राहत पाने के लिए तुलसी बहुत अच्छा विकल्प माना जाता है। आप ताज़ा तुलसी के पत्ते चबा लें या तुलसी, अदरक, काली मिर्च की दूध वाली चाय पीने से बहुत लाभ मिलता है।
(और पढ़ें – सर्दी जुकाम की आयुर्वेदिक दवा)

3.) तुलसी पत्ते के फायदे तनाव दूर करने में

आजकल की भागदौड़ भरी ज़िंदगी में कई लोग मानसिक तनाव से जूझ रहे है। मानसिक परेशानी और तनाव से छुटकारा पाने के लिए तुलसी का सेवन कर सकते हैं। तुलसी के पत्तों में एंटी- स्ट्रेस एजेंट होते हैं जिससे आपका तनाव काफी हद तक कम हो सकता है।

4.) तुलसी खाने से लाभ मुंह के लिए

मौखिक स्वास्थ्य के लिए तुलसी बहुत फायदेमंद होता है। इसमें मौजूद एंटीबैक्टीरियल गुण मुंह से आने वाली बदबू, पायरिया और मसूड़ों से जुड़ी समस्यायों को दूर करने में मददगार साबित हो सकती है।

कुछ तुलसी के पत्तों को धूप में डाल दें और 2-3 दिन तक सूखने दें। जब पत्ते सूख जाएँ तो इनका पाउडर बना लें। अब इस पाउडर को ब्रश की मदद से दांत साफ़ करने के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं।

5.) तुलसी के औषधीय गुण त्वचा के लिए

त्वचा के विकारों को दूर करने के लिए तुलसी के पत्तों का रस बहुत फायदेमंद होता है। ताज़ा तुलसी के पत्तों का रस त्वचा पर लगाने से मुँहासे और बैक्टीरिया दूर हो जाती हैं। इसके साथ ही आपकी त्वचा नरम, कोमल और स्वस्थ हो जाती है।
(और पढ़ें – चेहरे से कील मुंहासे हटाने के घरेलू उपाय)

6.) तुलसी की चाय करे सिर दर्द को दूर

अक्सर सिर दर्द होने पर हम लोग चाय का सहारा लेते हैं। लेकिन शायद आप नहीं जानते होंगे कि चाय में तुलसी के कुछ पत्ते मिलाकर पीने से इसका असर दुगना हो जाता है। इसके अलावा सिर दर्द से राहत पाने के लिए तुलसी और चंदन के पेस्ट बनाकर माथे पर लगा सकते हैं।
(और पढ़ें – सिर दर्द के घरेलू उपाय)

7.) तुलसी के फायदे पेट के लिए

पेट से जुड़ी कई समस्याओं को दूर करने में तुलसी बहुत कारगर होती है। कब्ज से राहत पाने के लिए एक गिलास गुनगुने पानी में 2 ग्राम तुलसी के बीज का सेवन कर सकते है। इसके अलावा अपच, बवासीर, अम्लता या मासिक धर्म/माहवारी की समस्या दूर करने के लिए तुलसी की चाय पी सकते हैं।
(और पढ़ें – कब्ज का रामबाण इलाज)

8.) तुलसी के रस का फायदा पथरी दूर करने में

पथरी की समस्या से छुटकारा पाने के लिए तुलसी का सेवन करना बहुत लाभदायक होता है। इसके लिए 1-2 ग्राम तुलसी की पत्तियों को पीसकर शहद के साथ सेवन कर सकते है। इस प्रक्रिया को रोजाना 3-4 महीनो तक करें, इससे मूत्र मार्ग द्वारा पथरी निकल जायेगी।
(और पढ़ें – पथरी की दवा पतंजलि)

9.) तुलसी के पत्ते के फायदे पीलिया में

पीलिया एक ऐसी बीमारी है जिसका अगर सही समय पर इलाज ना किया जाए तो आगे चलकर गंभीर बीमारी का रूप ले सकती है। पीलिया रोग से छुटकारा पाने के लिए 1-2 ग्राम तुलसी के पत्तों को पीसकर छाछ के साथ मिलाकर सेवन कर सकते हैं। इसके अलावा तुलसी के पत्तियों का काढ़ा बनाकर पीने से पीलिया रोग ठीक हो जाता है।

10.) तुलसी के फायदे दाद और खुजली दूर करने में

दाद और खुजली से राहत पाने के लिए तुलसी का इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके लिए आप तुलसी के पत्तों से बना लेप दाद वाली जगह पर लगायें। ऐसा करने से दाद और खुजली की समस्या दूर हो जायेगी। और घाव भी जल्दी भर जाएगा।
(और पढ़ें – दाद को जड़ से खत्म करने की दवा)

तुलसी का उपयोग – Uses of Tulsi in Hindi

तो चलिए अब जानते हैं कि तुलसी का सेवन आप किन-किन तरीकों से कर सकते हैं –

  1. रोज सुबह खाली पेट तुलसी की पत्तियों को चबाकर खा सकते हैं।
  2. तुलसी के पत्तों को चाय में डालकर पी सकते हैं।
  3. चटनी में तुलसी के पत्तों को काटकर डाल सकते हैं।
  4. जूस में तुलसी के पत्ते डालकर सेवन कर सकते हैं।
  5. खाना बनाते समय अंत में तुलसी के पत्तों को डाल दे, इससे खाने में अनोखा स्वाद मिलेगा।
Rate this post

Leave a Comment