मेथी के फायदे, उपयोग और नुकसान | Fenugreek in Hindi

Fenugreek in Hindi – हम लोग भलीभांति जानते हैं कि हरी सब्जियां खाना हमारे स्वास्थ के लिए कितना फायदेमंद होती है। आज हम एक ऐसी ही हरी सब्जी के बारे में बताने जा रहे हैं जिसका नाम मेथी है।

मेथी के पत्तों का साग बहुत लोग पसंद करते हैं। इसके साथ ही कई लोग मेथी की चटनी खाना पसंद करते हैं। मेथी की पत्तियों ही नहीं बल्कि मेथी के दानों (Fenugreek Seeds) का इस्तेमाल किया जाता है। आज के इस पोस्ट में हम मेथी के बारे में विस्तार से जानेंगे, इसलिए इस पोस्ट को अंत तक जरूर पढ़ें।

मेथी क्या है (What is Fenugreek in Hindi)

fenugreek in hindi

मेथी सब्जी होने के साथ-साथ एक जड़ी बूटी भी है। मेथी के ताजे पत्तियां, टहनियों और सूखे बीज का इस्तेमाल किया जाता है। मेथी का इस्तेमाल लगभग हर भारतीय रसोईघर में किया जाता है फिर चाहे हरी पत्तों की सब्जी के रूप में या फिर बीजों के रूप में।

आयुर्वेद में मेथी का इस्तेमाल सदियों से आयुर्वेदिक दवाइयों के रूप में में होता आया है। इसके औषधीय गुण कई प्रकार के टिल बिमारियों को ठीक करने में भी सहायक होती है।

मेथी का पौधा साल में सिर्फ एक बार होता है। इसके पौधे की लम्बाई लगभग 2-3 फिट होती है। मेथी के पत्तियां छोटी -छोटी हरे रंग की होती हैं। इसकी फली में छोटे-छोटे पीले-भूरे रंग के सुगंधित बीज होते हैं।

मेथी की दो प्रजातियाँ होती है, एक स्वरुप जो अपने आप लग जाती हैं उसे वन मेथी कहते हैं। हालांकि यह कम गुणकारी होती है इसलिए इसका इस्तेमाल जानवरों के चारे के रूप में इस्तेमाल किया जाता है। दूसरा स्वरुप जिसकी खेती करते हैं। इसका इस्तेमाल अलग-अलग तरीकों से जैसे सब्जी, चटनी, जूस, पराठे और अन्य स्वादिष्ट व्यंजनों के रूप में किया जाता है।

मेथी के फायदे (Benefits of Fenugreek in Hindi)

मेथी की पत्तियां और दाने सहित हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत ही फायदेमंद होते हैं। इसका इस्तेमाल कई प्रकार के रोगों का उपचार करने के लिए किया जाता है। चलिए जानते हैं कि मेथी के फायदे क्या-क्या होते हैं।

1.) मेथी के फायदे कोलेस्ट्रॉल नियंत्रण में

हमारे शरीर में दो प्रकार के कोलेस्ट्रॉल मौजूद होते हैं एलडीएल कोलेस्ट्रॉल (LDL Cholesterol) और एचडीएल कोलेस्ट्रॉल (HDL Cholesterol). एचडीएल कोलेस्ट्रॉल शरीर के लिए अच्छा माना जाता है वहीं एलडीएल कोलेस्ट्रॉल नुकसानदायक होता है।

कोलेस्ट्रॉल के स्तर को नियंत्रित करने के लिए मेथी बहुत लाभकारी होती है। मेथी के दानों में नारिंगेनिन नामक फ्लेवोनोइड पाया जाता है जो उच्च कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मदद करता है।

(और पढ़ें – कोलेस्ट्रॉल कम करने का रामबाण इलाज)

2.) मेथी है लाभकारी मासिक धर्म में

मासिक धर्म के दौरान महिलाओं को असहनीय पीड़ा से गुजरना पड़ता है। ऐसी स्थिति में में अगर मेथी का सेवन करें तो बहुत लाभदायक होता है।

मेथी के बीज में एंटी इंफ्लेमेटरी, एनाल्जेसिक, एंटीस्पास्मोडिक व ड्यूरेटिक गुण पाए जाते हैं जो मासिक धर्म में होने वाले दर्द को कम करते है। इसके लिए मेथी का जूस, चाय अथवा पानी के साथ पाउडर के रूप में इस्तेमाल कर सकते हैं।

3.) मेथी के फायदे त्वचा के लिए

स्वस्थ और खूबसूरत त्वचा हर किसी को अच्छी लगती है। लेकिन पिम्पल्स और मुहासे के कारण त्वचा ख़राब दिखने लगती है। अगर आप भी पिम्पल्स और मुहासे से परेशान है तो मेथी के पाउडर का पेस्ट बनाकर प्रभावित क्षेत्रों पर लगाने से जबरदस्त फायदा मिलता है।

इसके अलावा उम्र बढ़ने के साथ-साथ त्वचा में झुर्रियां भी पड़ने लगती है। झुर्रियों की समस्या से निपटने के लिए मेथी के पाउडर को दही में मिलाकर लगा सकते हैं। ऐसा करने से झुर्रियों की समस्या से राहत मिलती है।

(और पढ़ें – चेहरे से कील मुंहासे हटाने के घरेलू उपाय)

4.) मेथी के गुण करे मधुमेह को कंट्रोल

जब रक्त में सामान्य से अधिक शुगर का स्तर बढ़ जाता है तो व्यक्ति को मधुमेह रोग हो जाता है। मधुमेह एक घातक रोग है। मधुमेह को जड़ से ख़त्म नहीं किया जा सकता है बस इसे कण्ट्रोल किया जा सकता है।

मधुमेह को कण्ट्रोल करने के लिए मेथी का इस्तेमाल किया जा सकता है। मेथी के बीजों में मौजूद हाइपोग्लिसेमिक प्रभाव टाइप 2 मधुमेह के रोगियों के लिए बहुत फायदेमंद होता है। इसके लिए एक गिलास पानी में 1 से 2 चम्मच मेथी के बीज डालकर रात भर के लिए छोड़ दें। अगली सुबह उठकर खाली पेट में मेथी के बीज को चबा कर खा लें और इस पानी को पी लें।

(और पढ़ें – शुगर को जड़ से खत्म करने के उपाय)

5.) मेथी के फायदे हृदय रोग में

हृदय हमारे शरीर का महत्वपूर्ण अंग होता है। हृदय या दिल 24 घंट काम करता है इसलिए इसको स्वस्थ रखना बहुत आवश्यक होता है। जो लोग नियमित रूप से मेथी का सेवन करते हैं, उनका हृदय स्वस्थ रहता है।

मेथी के एंटीआक्सीडेंट तत्व पाए जाते है जो हृदय रोग के खतरे को दूर करते हैं। इसके लिए आप रोज़ाना एक-दो कप मेथी के बीजों की चाय पी सकते हैं।

6.) मेथी खाने के लाभ हैं गठिया रोग में

बढ़ती उम्र के साथ-साथ जोड़ों में दर्द और सूजन की समस्या होने लगती है जिसे गठिया रोग कहा जाता है। गठिया रोग से निपटने के लिए मेथी एक अच्छा विकल्प है।

मेथी के बीज में आयरन, कैल्शियम और फॉस्फोरस मौजूद होता है जो हड्डियों को मजबूत प्रदान करता है। साथ ही इसमें मौजूद एंटी-ऑक्सीडेंट और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण जोड़ों में होने वाली सूजन को दूर करते हैं, जिससे गठिया से गसित रोगी को आराम मिलता है।

इसके लिए आप एक चमच्च मेथी के बीज को पानी में डालकर रात भर के लिए रख दें। अगली सुबह उठकर इन बीजों को चबाकर खाएं। इसके अलावा मेथी के बीज को गर्म पानी के साथ पीसकर पेस्ट बना लें। अब इस पेस्ट को प्रभावित क्षेत्र पर लगायें और सूखने के बाद गर्म पानी से धो लें।

(और पढ़ें – गठिया को जड़ से खत्म करने के उपाय)

7.) मेथी दाने के फायदे हैं वजन घटाने में

आजकल मोटापे से कई लोग परेशान है। मोटापा एक गंभीर बीमारी है जो अपने साथ अन्य कई बिमारियों को न्योता देती है। जो लोग मोटापे से छुटकारा पाना चाहते हैं उन लोगों के लिए मेथी रामबाण है।

मेथी में फाइबर की अच्छी मात्रा पाई जाती है, जो खाने को सही ढंग से पचाने में मदद करती है साथ ही भूख को शांत रखने का काम करती है। जिस वजह से हम अतिरिक्त भोजन करने से बचते हैं और धीरे-धीरे वजन कम होने लगता है।

(और पढ़ें – वजन कम करने के लिए घरेलू उपाय)

8.) मेथी के फायदे स्तन दूध को बढ़ाने में

नवजात शिशु के लिए मां के दूध से बेहतर कुछ नहीं होता है। माँ के दूध से ही शिशु का मानसिक और शारीरिक विकास होता है। इसलिए कम से कम छह माह तक शिशु को माँ का दूध जरूर पिलाना चाहिए।

स्तनपान कराने वाली महिलाओं को मेथी के बीजों का सेवन करना चाहिए, इससे माताओं में दूध उत्पादन की क्षमता बढ़ती है। इसके लिए एक गिलास पानी में एक चम्मच मेथी के बीज को रातभर के लिए
भिगो दें। अगली सुबह उठकर इसका सेवन करें।

9.) मेथी दिलाये कब्ज से छुटकारा

कब्ज एक आम समस्या है जो किसी भी उम्र के लोगो को हो सकता है। आमतौर पर अनियमित दिनचर्या, गलत खान-पान और पाचन तंत्र ख़राब होने के कारण लोगो को कब्ज की समस्या हो जाती है।

अगर आप भी कब्ज की समस्या से परेशान है तो मेथी का इस्तेमाल एक औषधी के रूप में कर सकते हैं। मेथी के बीज में फाइबर की अच्छी मात्रा पाई जाती है। फाइबर एक घुलनशील पदार्थ है जो कब्ज से राहत दिलाने में बहुत फायदेमंद होता है।

(और पढ़ें – कब्ज का रामबाण इलाज)

10.) मेथी के फायदे बालों के लिए

सिर के बाल शरीर का ताज होता है। हर कोई सुन्दर और घने बाल चाहता है और इसके लिए हर संभव प्रयास करता है। बालों को मजबूत और घने बनाने के लिए मेथी का कर सकते है।

मेथी में प्रोटीन और निकोटिनिक एसिड मौजूद होता है जो बालों की ग्रोथ बढ़ाने में मदद करता है। इसके अलावा डैंड्रफ की समस्या से छुटकारा पाने के लिए मेथी के दानों का पेस्ट बनाकर बालों पर लगायें। ऐसा करने से डैंड्रफ की समस्या दूर हो जाती है।

(और पढ़ें – डैंड्रफ का रामबाण इलाज)

मेथी का उपयोग – Uses of Fenugreek in Hindi

किसी भी चीज का फायदा तभी मिलता है जब सही तरीके से उसका इस्तेमाल किया जाए। तो चलिए जानते हैं कि मेथी का उपयोग कैसे कर सकते हैं।

  1. मेथी की पत्तियों की सब्जी, पराठा और जूस बनाकर उपयोग कर सकते हैं।
  2. मेथी के दानो का उपयोग हर्बल चाय के रूप में कर सकते है। चाय बनाने के लिए पानी में मेथी के दाने डालकर उसे उबाल लें। इसके बाद स्वादनुसार इसमें नींबू और शहद मिला सुबह और शाम पी सकते हैं।
  3. एक पानी पाने में एक चम्मच मेथी के दाने डालकर रातभर के लिए रखें। अगली सुबह उठकर खाली पेट इसका सेवन करें।
  4. मेथी की पत्तियों को सुखाकर रख लें। अब इन सूखी पातियों को सूप या सब्जी में डालकर इस्तेमाल कर सकते हैं।
  5. मेथी के दानों हल्की आंच में भून लें और फिर इसे सब्जी या सलाद के ऊपर डालकर सेवन कर सकते हैं।

मेथी के पौष्टिक तत्व – Nutritional Value of Fenugreek in Hindi

मेथी में कई प्रकार के औषधीय तत्व मौजूद होते हैं जैसे प्रोटीन, वसा, कार्बोहाइड्रेट, कैल्शियम, आयरन, फाइबर, मैग्नीशियम, फास्फोरस, पोटेशियम, सोडियम, जिंक, विटामिन सी, थायमिन, नियासिन, राइबोफ्लेविन, विटामिन-बी 6, विटामिन-ए, विटामिन K, फोलेट, ऊर्जा, एंटीओक्सीडेंट, सेलेनियम और अन्य तत्व मौजूद होते हैं। तो चलिए जानते हैं कि 100 ग्राम मेथी में पोषक तत्वों की कितनी मात्रा मौजूद होती है।

पोषक तत्व प्रति 100 ग्राम
प्रोटीन 23 g
पोटैशियम 770 mg
कैल्शियम 176 mg
नियासिन 1.64 mg
कार्बोहाइड्रेट 58.35 g
विटामिन सी 3 mg
सोडियम 67 mg
मैग्नीशियम 191 mg
जिंक 2.5 mg
फॉस्फोरस 296 mg
ऊर्जा 323 g
फाइबर 24.6 g
थायमिन 0.322 mg

मेथी के नुकसान – Side Effects of Fenugreek in Hindi

अगर किसी भी चीज का अधिक मात्रा में सेवन किया जाए तो स्वास्थ्य पर हानिकारक प्रभाव पड़ता है। तो चलिए जानते हैं कि मेथी से क्या क्या नुकसान हो सकते हैं।

  1. कम रक्तचाप वाले मरीज को मेथी का सेवन नहीं करना चाहिए।
  2. अधिक मात्रा में मेथी का सेवन करने से दस्त, उल्टी और एलर्जी की समस्या हो सकती है।
  3. अस्थमा के मरीजों को मेथी का परहेज करना चाहिए।
  4. छोटे बच्चों को मेथी का सेवन नहीं करना चाहिए है।
  5. गर्भवती महिलाओं को इसका सेवन नहीं करना चाहिए।

FAQs – Fenugreek in Hindi

मेथी की तासीर कैसी होती होती है।

मेथी की तासीर बहुत गर्म होती है। इसलिए इसका इस्तेमाल संतुलित मात्रा में करें।

सुबह खाली पेट मेथी खाने से क्या होता है?

सुबह खाली पेट मेथी का सेवन करने से मधुमेह और कोलेस्ट्रॉल नियंत्रित रहता है।

मेथी खाने से क्या नुकसान है?

अधिक मात्रा में मेथी का सेवन करने से उल्टी, दस्त और एलर्जी की समस्या हो सकती है।

निष्कर्ष

मुझे उम्मीद है आपको यह पोस्ट मेथी क्या है और इसके फायदे (Fenugreek in Hindi) जरुर पसंद आया होगा. यदि आपके मन में मेथी से जुड़े कोई सवाल या जुझाव है तो नीचे कमेंट कर सकते है. इस पोस्ट को ज्यादा से ज्यदा सोशल मीडिया पर भी शेयर करें जिससे अन्य लोगो को मेथी के औषधीय गुणों के बारे में सही जानकारी मिले।

Rate this post

Leave a Comment