जैतून का तेल के फायदे और नुकसान | Olive Oil in Hindi

आज हर डॉक्टर एक अच्छा तेल खाने की सलाह देता है क्योंकि ज्यादातर तेल के फायदे कम नुकसान ज्यादा होते है. अब आपके मन में सवाल आ रहा होगा कि फिर कौन सा तेल इस्तेमाल करना चाहिए. तो दोस्तों उस ख़ास तेल का नाम है जैतून का तेल.अभी तक आपने देखा होगा कि हर रसोई घर में खाना पकाने के लिए सरसों के तेल का सबसे ज्यादा इस्तेमाल होता था. लेकिन हाल के कुछ सालों से जैतून का तेल के फायदे (jaitun ka tel ke fayde) को देखते हुए अब कई लोग पकवान बनाने में इसका इस्तेमाल कर रहे हैं.

जैतून का तेल में ऐसे अनोखे गुण होते है जो सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होते है. इसके अलावा जैतून का तेल इस्तेमाल कई औषधीयाँ बनाने और कई गंभीर रोगों को ठीक करने में किया जाता है. तो चलिए विस्तार से जानते हैं जैतून का तेल के अनोखे फायदे (benefits of olive oil in hindi) के बारे में.

विषय सूची

जैतून का तेल क्या है – Olive Oil Meaning in Hindi

jaitun ka tel
जैतून का तेल एक वनस्पति तेल है जो जैतून के फल से तैयार किया जाता है.इसके वृक्ष की ऊंचाई लगभग 15 मी होती है और इसकी शाखाएँ पतली तथा छाल भूरे-सफेद रंग की होती है.जैतून का तेल साफ,पारदर्शी,सुनहरे रंग का और हल्का गंधयुक्त होता है. इसके तेल का खाने और लगाने दोनों के रूप में काम आता है.

जैतून का तेल में विटामिन, मिनरल, एंटीऑक्सीडेंट, फैटी एसिड और कई अन्य गुण मौजूद होते है. इसका वैज्ञानिक नाम है ओलीआ यूरोपीय है.जैतून का तेल का उत्पादन सबसे पहले भूमध्यसागरीय क्षेत्रों में किया गया था. भारत में सर्वाधिक जैतून के पेड़ जम्मू-कश्मीर, कर्नाटक, तमिलनाडू और आंध्र प्रदेश राज्य में पाए जाते हैं.

जैतून का तेल के प्रकार – Types of Olive Oil in Hindi

अक्सर हम सोचते है कि जैतून का तेल एक ही प्रकार का होता है लेकिन ऐसा नहीं है इसके कई प्रकार होते है.

1. वर्जिन जैतून तेल – Virgin Olive Oil in Hindi

यह जैतून का तेल सबसे लोकप्रिय होता है इसका इस्तेमाल खाना बनाने के लिए किया जाता है.वर्जिन जैतून तेल में एसिड की मात्रा कम होती है. इसके अलावा इस तेल को बनाने की प्रक्रिया अन्य प्रकार के तेल के मुकाबले अलग होती है अर्थात जैतून के फलो को दो बार दबाकर तेल निकला जाता है.

2. एक्स्ट्रा वर्जिन जैतून तेल – Extra Virgin Olive Oil in Hindi

एक्स्ट्रा वर्जिन जैतून तेल सबसे अच्छा तेल माना जाता है क्योंकि इसमें एंटीऑक्सीडेंट,मिनरल्स और अन्य पोषक तत्वों की मात्रा अन्य प्रकार के तेल के मुकाबले ज्यादा पायी जाती है. इस तेल का इस्तेमाल खाना बनाने में कम किया जाता है. एक्स्ट्रा वर्जिन जैतून तेल की कीमत अधिक होती है.

3. प्योर जैतून तेल – Pure Olive Oil in Hindi

प्योर जैतून तेल एक शुद्ध तेल होता है, जो वर्जिन जैतून तेल और एक्स्ट्रा वर्जिन जैतून तेल बनने के बाद निकलता है. इस तेल को बनाने के लिए जैतून के फलों को तीसरी बार दबाकर तेल निकाला जाता है. इस तेल में विटामिन्स और पोषक तत्वों की मात्रा कम पायी जाती है इसलिए इसका इस्तेमाल कम किया जाता है.

4. पोमेस जैतून तेल – Pomace Olive Oil in Hindi

पोमेस जैतून तेल बाजार आसानी से मिल जाता है. लेकिन इसका इस्तेमाल खाना बनाने में बहुत कम किया जाता है.  इस तेल में विटामिन्स और पोषक तत्वों की अन्य तेल के मुकाबले कम होती है.

5. लैम्पेंट जैतून तेल – Lampante Olive Oil in Hindi

इस तेल का उत्पादन ख़राब जैतून के फलों से किया जाता है इसलिए इसका इस्तेमाल खाना बनाने में नहीं किया जाता है.लैम्पेंट जैतून तेल का इस्तेमाल सिर्फ तकनीकी कामों में और ईंधन के रूप में किया जाता है.

जैतून का तेल के फायदे – Jaitun Ka Tel Ke Fayde

जैतून का तेल में कई विटामिन्स, मिनरल्स और पोषक तत्वों का संग्रह है जिसका इस्तेमाल करने से शरीर को कई स्वास्थवर्धक लाभ मिलते है. तो आइये जानते है कि जैतून का तेल के फायदे (Jaitun Ka Tel Ke Fayde) कौन कौन से हैं.

1. जैतून का तेल के फायदे वजन कम करने में

भागदौड़ भरी ज़िन्दगी में लोग अनियमित जीवनशैली और गलत खान पान अपनाते है जिस कारण उनका वजन बढ़ने लगता है. आज के समय में मोटापा गंभीर समस्या बन गई जिससे कई लोग परेशान है और यह संख्या दिन-प्रतिदिन बढ़ती जा रही है.मोटापा कम करने के लिए कई लोगो जिम जाते है, फ़ास्ट रखते है लेकिन इन सब के बावजूद कुछ ख़ास फायदा नहीं मिलता.

बढ़ते हुए वजन को कम करने के लिए जैतून का तेल बहुत कारगर माना जाता है.जैतून तेल में मोनो सैचुरेटेड फैट और फाइबर की प्रचुर मात्रा पायी जाती है जो मोटापे के कम करने में मदद करती है. इसके साथ ही पेट में जमा चर्बी को कम करने में मदद करती है.

(और पढ़ें – बढ़ा हुआ पेट कम करने के उपाय – Pet Kam Karne Ke Upay)

2. जैतून का तेल रखे मधुमेह से दूर

मधुमेह एक जानलेवा बीमारी है जो एक बार किसी को हो जाए तो मरते दम तक उसके साथ ही रहती है.मधुमेह चयापचय संबंधी बीमारियों का एक समूह होता है जिसमें रक्त में शर्करा का स्तर ज्यादा होता है. मधुमेह अधिक उम्र के लोगों के साथ-साथ बच्चो में भी देखने को मिलता है.मधुमेह को कण्ट्रोल करना बहुत जरुरी होता है नहीं तो रोगी की जान भी जा सकती है.

जैतून के तेल का सेवन करने से मधुमेह के मरीजों को बहुत फायदा मिलता है.जैतून के तेल में फैटी एसिड और एंटी ऑक्साइड तत्त्व की भरपूर मात्रा पायी जाती है जो रक्त में बढ़ी शर्करा को नियंत्रित करती है जिसे मधुमेह रोगियों को आराम मिलता है.

(और पढ़ें – शुगर को जड़ से खत्म करने के उपाय – Sugar Kam Karne Ke Upay)

3. जैतून का तेल का प्रयोग फटी एड़ियों के लिए

एडियों का फटना एक आम समस्या है जो किसी भी उम्र के लोगो के साथ हो सकता है हालाँकि बच्चों में फटी एड़ियों की समस्या न के बराबर होती है. फटी एडियों को ठीक करने के लिए बाजार ने कई प्रकार की क्रीम और तेल उपलब्ध है लेकिन जब तक इन क्रीम का इस्तेमाल फटी एडियों पर किया जाता है तब तक ठीक रहती है बंद करने पर दुबारा एडियाँ फटना चालू हो जाती है.

जड़ से फटी एड़ियों की समस्या से छुटकारा पाने के लिए जैतून तेल का प्रयोग कर सकते हैं.जैतून का तेल में विटामिन सी और एंटी ऑक्साइड तत्व पाए जाते है जो फटी एडियों के लिए फायदेमंद होता है. इसके लिए एक चम्मच जतून का तेल,एक चम्मच नरियल का तेल,एक चम्मच पेटोलियम जैली और आधा चम्मच नींबू का रस मिलाकर एक पेस्ट बना लें. अब इस पेस्ट को सुबह-शाम फटी एडियों पर लगाने से लाभ मिलता है.

4. जैतून तेल के लाभ सूजन के लिए

शरीर के किसी भी हिस्से में सूजन आना, किसी न किसी समस्या का संकेत होता है.ऐसे में शरीर की गतिविधियों पर नजर रखकर, सूजन होने का कारण जानने का प्रयत्न करना चाहिए. चोट से होने वाले सूजन का हम कुछ घरेलू उपचार से ठीक करने के प्रयास करते है. कई बार किसी अन्य कारणों से सूजन लम्बे समय तक बनी रहती है.

सूजन की समस्या से छुटकारा पाने के लिए जैतून का तेल का इस्तेमाल किया जा सकता है.जैतून तेल में एंटीइंफ्लेमेटरी और एंटीऑक्सीडेंट तत्व मौजूद होते हैं जो सूजन को कम करने में मदद करते हैं.

5. आँखों के लिए जैतून का तेल

आंखें हमारे शरीर का सबसे महत्वपूर्ण अंग होती हैं. उम्र ढलने के साथ साथ आँखे कमजोर होना आम बात है लेकिन यदि कम उम्र में आँखे कमजोर हो जाए या धुंधला दिखाई देने लगे तो चिंता का विषय बन जाता है. आँखे कमजोर होने के कुछ प्रमुख कारण हो सकते हैं जैसे ज्यादा कंप्यूटर और मोबाइल चलाना, कई घंटे टीवी देखते रखा, दूषित वातावरण, पोषक तत्वों की कमी होना इत्यादि. कारण चाहे कुछ भी हो लेकिन समय रहते इसका इलाज करना बहुत आवश्यक होता है नहीं तो हमेशा के लिए आँखों की रोशनी जा सकती है.

आँखों की रोशनी बढाने के लिए जैतून का तेल का इस्तेमाल किया जा सकता है.जैतून का तेल में विटमिन ई और एन्टीइंफ्लेमेटरी तत्त्व मौजूद होते हैं जो आँखों को स्वस्थ रखने में मदद करते हैं. इसके लिए आप रोजाना सोने से पहले जैतून के तेल से आँखों के आसपास हल्की-हल्की मालिश कर सकते हैं इससे रक्त संचार सही होगा.

6. कब्ज से राहत दिलाये जैतून का तेल

कब्ज एक आम समस्या है जो किसी भी उम्र के लोगो को हो सकती है.कब्ज होने के कई कारण हो सकते है जैसे ज्यादा जंक फ़ूड खाना, ज्मैयादा मैदा से बनी चीजो का सेवन करना, पर्याप्त मात्रा में पानी न पीना, अनियमित दिनचर्या, गलत खान-पान इत्यादि. कब्ज भले ही सामान्य बीमारी है इसे ठीक करना बहुत जरुरी होता है नहीं तो इसकी वजह से शरीर को अन्य गंभीर बीमारियाँ हो सकती है.

कब्ज से छुटकारा पाने के लिए जैतून का तेल बहुत कारगर माना जाता है.जैतून का तेल में फाइबर, मोनोअनसैचुरेटेड फैटी एसिड, ओमेगा-3 जैसे अन्य खनिज पदार्थ पाए जाते हैं जो कब्ज की समस्या से निजात दिलाने में मदद करते हैं. इसके लिए नींबू पानी में आधी चम्मच जैतून का तेल मिलाकर रोजाना सुबह खाली पेट पीने से कब्ज से छुटकारा मिलता है.

(और पढ़ें – सुबह उठते ही पेट साफ होने के उपाय – Pet Saaf Karne Ke Gharelu Upay)

7.झड़ते बालों के लिए जैतून तेल के लाभ

बाल झड़ने की समस्या एक गंभीर समस्या बन गई है जिसे यदि समय रहते नियंत्रित न किया जाए तो व्यक्ति कब गंजा हो जाता है पता भी नहीं चलता. बाल झड़ने के कई कारण हो सकते हैं जैसे उम्र बढ़ने, अत्यधिक तनाव, धूम्रपान, पोषक तत्वों की कमी, हार्मोनल असंतुलन,आनुवांशिक कारक इत्यादि.

झड़ते हुए बाल को रोकने के लिए आप जैतून का तेल का इस्तेमाल कर सकते हैं.इसके लिए जैतून के तेल में कुछ मीठी नीम की पत्तियां डालकर उबाल लें. लगभग 5 मिनट बाद इसे उतार लें और ठंडा होने के लिए रख दें. अब इस पेस्ट को एक डिब्बे में डालकर रख लें. अब रोजाना इस पेस्ट को रात में सोने के पहले लगाने से बाल की जड़ें मजबूत होगी और बाल झड़ना बंद हो जायेंगे.

(और पढ़ें – बाल उगाने का तरीका – Jhadte Balon Ka Ilaj)

8. जैतून तेल के गुण करे कैंसर के खतरे को कम

कैंसर एक जानलेवा बीमारी है जो किसी भी उम्र को हो सकती है. यदि कैंसर का इलाज प्रारम्भिक अवस्‍थाओं में किया जावें तो यह पूरी तरह से ठीक हो सकता है. वहीँ अंतिम चरण में इसका इलाज करना असंभव हो जाता है. कैसर का इलाज बहुत महगा होता है जो आम लोगो के बस की बात नहीं है. सही खान पान और नियमित जीवन-शैली अपनाने से कैंसर को नियंत्रित किया जा सकता है.

जैतून के तेल का नियमित इस्तेमाल करने से काफी हद तक कैंसर के खतरे को कम किया जा सकता है.जैतून का तेल में पॉलीफेनोल्स और एंटीऑक्सीडेंट तत्व पाए जाते हैं जो कैसर के खतरे को कम करने में मदद करते है.

9. हड्डियों की मजबूती के लिए जैतून का तेल

बढ़ती उम्र के साथ-साथ हड्डियां कमजोर होना आम बात है , लेकिन भागदौड़ भरी ज़िंदगी में कई युवाओं की भी हड्डियां कमजोर होने लगती है. हड्डियाँ कमजोर होने के कई कारण हो सकते हैं जैसे अनियमित दिनचर्या, गलत खान पानऔर शरीर में पोषक तत्वों की कमी होना.समय रहते कमजोर हड्डियों का इलाज करना चाहिए नहीं तो इसके कारण अन्य गंभीर बीमारियाँ हो सकती है.

हड्डियों को मजबूत बनाने के लिए जैतून का तेल का इस्तेमाल किया जा सकता है. इसके लिए आप रोजाना जैतून का तेल से मालिश कर सकते है जिससे हड्डियाँ स्वस्थ और मजबूत होगीं.

10. त्वचा के लिए जैतून का तेल लाभ

सुन्दर दिखना हर किसी की चाहत होती है.ऐसे में यदि त्वचा में सूखापन आ जाए तो उसकी पर्सनालिटी में फीकापन आ जाता है. इसके लिए लोग तरह-तरह की क्रीम और पाउडर का इस्तेमाल करते है लेकिन जब तक इनका असर रहता है तब तक आपकी त्वचा में निखार रहता है बाद में ज्यो का त्यों आपकी त्वचा हो जाती है.

जैतून का तेल त्वचा के लिए बहुत लाभकारी होता है.जैतून का तेल में विटामिन्स, एंटीऑक्सीडेंट, एन्टीइंफ्लेमेटरी,ओमेगा 6 फैटी एसिड जैसे कई तत्व मौजूद होते हैं जो त्वचा को स्वस्थ और खूबसूरत बनाने में मदद करते है.

(और पढ़ें – चेहरा साफ करने के उपाय – Gora Hone Ke Gharelu Nuskhe)

जैतून के तेल का उपयोग – Uses of Olive Oil in Hindi

हमने जान लिया कि जैतून का तेल बहुत फायदेमंद होता है लेकिन इसका फायदा आपको तभी मिलेगा जब आप जैतून तेल का उपयोग सही तरीके से करेंगे. तो चलिए जानते हैं कि जैतून का तेल का उपयोग कैसे किया जाता है.

  1. आप जैतून का तेल का इस्तेमाल खाना बनाने में कर सकते हैं.
  2. त्वचा, सिर या शरीर पर जैतून के तेल से मालिश कर सकते हैं.
  3. सलाद पर जैतून तेल के कुछ बूंदे छिड़कर उसका सेवन कर सकते हैं.
  4. आप जैतून के तेल को किसी भी प्राकृतिक फेस पैक में मिलाकर उपयोग कर सकते हैं.
  5. ब्रेड पर भी जैतून का तेल लगाकर खा सकते हैं.

जैतून तेल के नुकसान – Side Effects of Olive Oil in Hindi

यदि सही मात्रा में जैतून का तेल का इस्तेमाल न किया जाए तो इसके नुकसान उठाने भी पड़ सकते हैं. तो चलिए जानते हैं कि जैतून का तेल के नुकसान कौन-कौन से हो सकते हैं.

  1. गर्भवती महिला या स्तनपान कराने वाली महिला को जैतून का तेल के सेवन से पूर्व किसी चिकित्सक की सलाह जरूर लेना चाहिए.
  2. ज्यादा मात्रा में जैतून तेल का सेवन से पेट संबंधी समस्याएं हो सकती है.
  3. यदि आपकी त्वचा तैलीय है, तो जैतून तेल के इस्तेमाल से कील-मुहांसों की शिकायत हो सकती है.
  4. मधुमेह रोगियों को जैतून तेल का सेवन करने से पहले डॉक्टर की सलाह जरुर लेनी चाहिए.
  5. लो ब्लड प्रेशर वाले लोगो को इसका इस्तेमाल नहीं करना चाहिए.

FAQs -Jaitun Ka Tel

जैतून के तेल से मालिश करने से क्या होता है?

जैतून के तेल से सिर पर मालिश करने से बाल की जड़ें मजबूत और झड़ना बंद हो जाते हैं.इसके अलावा जैतून के तेल से त्वचा पर मालिश करने से त्वचा स्वस्थ और चमकदार होती है.

जैतून के तेल की तासीर कैसी होती है?

जैतून के तेल की तासीर ठंडी होती है इसलिए इसका इस्तेमाल ज्यादातर ग्रीष्म ऋतू में किया जाता है.

जैतून का तेल किस काम में आता है?

जैतून का तेल का इस्तेमाल करने से कई स्वास्थवर्धक लाभ मिलते हैं जैसे कब्ज से राहत, आँखों के लिए, पाचनक्रिया मजबूत करने में,झड़ते बालों को रोकने के लिए, वजन नियंत्रण में इत्यादि.

जैतून का तेल कब लगाना चाहिए?

जैतून के तेल को गर्मी और सर्दी दोनों मौसम में इस्तेमाल कर सकते हैं. इस तेल से त्वचा, सिर और शरीर पर मालिश कर सकते हैं.

जैतून का तेल क्या भाव मिलता है?

आधा लीटर जैतून का तेल की कीमत लगभग 500 रूपए होती है. इसे आप ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों जगह से खरीद सकते हैं.

निष्कर्ष

मुझे उम्मीद है आपको यह पोस्ट जैतून का तेल फायदे (Jaitun Ka Tel Ke Fayde) जरुर पसंद आयी होगी. यदि आपके मन में जैतून का तेल से जुड़े कोई सवाल या सुझाव है तो नीचे कमेंट कर सकते है. इसके अलावा इस पोस्ट को सोशल मीडिया पर भी शेयर करें जिससे अन्य लोगो को जैतून का तेल के बेहतरीन फायदों के बारे में सही जानकारी मिलेगी.

अन्य पढ़ें –

About Vijay Singraul

नमस्कार दोस्तों, मैं HindiMePost का Chief Author और Founder हूँ. मुझे Blogging और Technology से जुडी जानकारियां पढने और दूसरों के साथ शेयर करने में अच्छा लगता है. आप भी इस ब्लॉग से जुड़े और रोजाना कुछ नया सीखें.
Instagram

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *