बवासीर के घरेलू उपचार और देसी नुख्से

bawaseer-ka-gharelu-upay-ayurvedic-nuskhe/

बवासीर दो प्रकार से होता है अंदरूनी और बाहरी| अंदरूनी बवासीर में मस्से नहीं दिखाई देते लेकिन बाहरी बवासीर में मस्से दिखाई देते है| जब व्यकित मल त्यागता है तो उसके साथ खून भी बाहर आता है जिसे खूनी बवासीर कहते है| खून बहुत ज्यादा बाहर निकलता है कि रोगी इसे देखकर घबरा जाता है| यदि रोगी को बाहरी बवासीर है तो मस्से सूज कर मोटे हो जाते है जिसके कारण जलन, तेज दर्द और खुजली होने लगती है| आज हम इस पोस्ट में पढेंगे कि बवासीर को ठीक करने के घरेलू तरीके कौन कौन से है|

बवासीर के इलाज के घरेलू तरीके और देशी नुख्से

  1. खूनी बवासीर से पीड़ित रोगी को दही या लस्सी के साथ प्याज का सेवन करना चाहिए इससे आराम मिलेगा|
  2. मूली खाना या मूली का रस पीने से बवासीर से छुटकारा मिलता है| 25-50 ग्राम मूली के रस का सेवन एक खुराक में कर सकते है|
  3. आम और जामुन कि गुठलियों के अन्दर वाले हिस्से को सुखाकर पीस लीजिये| अब इस चूर्ण को रोजाना 1 चम्मच पानी या लस्सी के सेवन करने से बवासीर से तुरंत आराम मिल जाएगा|
  4. इसबगोल कि भूसी बहुत फायदेमंद है पेट साफ़ करने के लिए यदि पेट में गैस बनती है|
  5. 40 -50  ग्राम इलाइची तवे पर भून लीजिये अब इसको ठंडी होने के बाद इसका चूर्ण बना लीजिये| इस चूर्ण को रोजाना सुबह खली पेट खाते से पाईल्स जैसी समस्या से राहत मिलती है|
  6. 100 ग्राम किसमिस को रात में पानी में भिगोकर रख दीजिये| अगली सुबह किसमिस को मसलकर खाने से बवासीर से छुटकारा मिलेगा|
  7. ताजा मक्खन के साथ 10 – 15 ग्राम काला तिल को धुलकर खाने से खूनी बवासीर राहत मिलेगी और खून आना बंद हो जायेगा| पाईल्स को दूर करने के लिए एक चौथाई दाल चीनी में एक चम्मच शहद मिलाकर सेवन कीजिये|
  8. 50- 10 ग्राम अरंडी के तेल को हल्का गर्म कर लीजिये अब उसमे 10 -20 कपूर मिलाकर रख ले| मस्सो को स्वस्छ पानी से धुलकर साफ़ कपड़े से पोछ ले| अब इस मिश्रण को मस्सो में लगाकर हल्का हल्का मालिश करें| इस देसी उपचार को रोजाना दिन में 2 बार लगाने से मस्सो का दर्द, सूजन, जलन और खुजली से तुरन रहत मिलेगा|
  9. सेहुंड के दूध में थोडा सा हल्दी पाउडर मिला लीजिये अब इसकी 1 बूंद को मस्से पर लगाने से आराम मिलेगा|

बवासीर में परहेज क्या करना चाहिए

बवासीर के इलाज में जितना ज्यादा जरूरी यह जानना है कि क्या खाना चाहिए उतना ही इस बात कि भी जानकारी होना जरूरी है कि क्या नहीं खाना चाहिए|

  1. ज्यादा तेल मसाला और तीखे चटपटे खाना बंद करें|
  2. मांस मछली, बासी खाना, ज्यादा खटाई न खाएं|
  3. आलू बैगन और डिब्बे में पैक भोजन न करें|
  4. सिगरेट, शराब और तम्बाकू से दूरी बनाये|
  5. ज्यादा काफी और चाय पीने से बचे|
  6. पेट में गैस बनना बवासीर का प्रमुख कारण है| इसलिए पेट में गैस, कब्ज न बनने दे|
  7. दूषित पानी से सौच न करें|
  8. बवासीर के रोगियों को उड़द कि डाल नहीं खाना चाहिए|
  9. जंक फ़ूड और बाहर का खाना बंद करें|
5.0
02

About Vijay Singraul

नमस्कार दोस्तों, मैं HindiMePost का Chief Author और Founder हूँ | मुझे Blogging और Technology से जुडी जानकारियां पढने और दूसरों के साथ शेयर करने में अच्छा लगता है| आप भी इस ब्लॉग से जुड़े और रोजाना कुछ नया सीखें.

View all posts by Vijay Singraul →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *