टेक्नोलॉजी क्या है – इसके फायदे और नुकसान | Technology In Hindi

ऐसा कोई भी व्यक्ति नहीं होगा जो टेक्नोलॉजी से जुड़ा न हो। आज हम जानेंगे कि टेक्नोलॉजी क्या है What is Technology in Hindi)? इस डिजिटल युग में टेक्नोलॉजी दिन-प्रतिदिन बदलती जा रही है और मानव-जीवन को आसान करती जा रही है। एक जमाना था जब हम मोबाइल और कंप्यूटर की कल्पना भी नहीं कर सकते थे। पहले जामने में लोग दूर-दराज क्षेत्रो में सन्देश भेजने के लिए चिट्ठी का सहारा लेते थे। लेकिन आज के दौर में हम मोबाइल और कंप्यूटर की मदद से सेकंडो में हजारो मील बैठ आदमी से बात-चीत कर सकते है। ये सब संभव हुआ है टेक्नोलॉजी के आने से।

टेक्नोलॉजी एक मानव ज्ञान है जो नए नए उपकरण और सामग्री बनाने में सहायक होता है। हम अपने दैनिक जीवन में विशिष्ठ कामो को पूरा करने के लिए टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल करते है, जिससे हमारा दैनिक जीवन सरल हो जाता है।हम अपनी क्षमताओं अविष्कार करने के लिए भी टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल करते है, जिससे लोग किसी भी तकनीकी प्रणाली का अहम् हिस्सा बन जाते है। आगे हम विस्तार से जानेगे की टेक्नोलॉजी क्या है और कितने प्रकार की होती है।

Contents

टेक्नोलॉजी क्या है (What is Technology in Hindi)

What is Technology in Hindi
टेक्नोलॉजी ऐसी चीज है जो मानव-जीवन के कार्यों को तेज और बेहतर बनती है उदाहरण के लिए जैसे कलम का अविष्कार हुआ जिससे लोगो के विचार और काम-काज का तरीका लिखने के लिए आसान बना दिया। बाद में प्रिंटिंग मशीन  का अविष्कार हुआ, जिससे बड़े पैमाने में लिखे गए विचारो को पेपर में प्रिंटिंग होने लगा। और अब पेपर प्रिंटिंग द्वारा जानकारी दूसरों के साथ शेयर करना आसान हो गया था। बाद में टाइपराइटर  की खोज हुई, जिससे लोगो को कलम से लिखने के बजाय टाइप करके लिखा जाने लगा। अब दस्तावेज़ आसानी और तेजी से तैयार होने लगे। अंत में कंप्यूटर की खोज हुई जो टेक्नोलॉजी को काफी हाई लेवल का बना दिया।

यह जानना बहुत जरुरी है कि टेक्नोलॉजी और विज्ञान दोनों अलग-अलग विषय है, जो विशिष्ट कार्यों को पूरा करने के लिए या किसी समस्या का समाधान निकलने के लिए एक साथ काम करते है| विज्ञान का मतलब इस बात से है कि चीजें कैसे और क्यों होती हैं जबकि टेक्नोलॉजी चीजों को बनाने पर केंद्रित है।

हम लोग अपने दैनिक जींवन में कार्यों को करने के लिए टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल करते है जैसे यातायात,दूरसंचार, परिवहन, शिक्षा, उद्योग- धंधा को बढाने के लिए और भी बहुत से कामो को पूरा करने के लिए। कई बिसनेस मैन टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल कर अपने अपने प्रोडक्ट और सर्विसेज का निर्माण करते है और फिर समय के अन्दर उन प्रोडक्ट को अच्छी दरो पर बेच देते है। उदाहरण तौर पर सैमसंग और एप्पल  कंपनी को देख लीजिये जो अपना दबदबा बनाये रखने के लिए हाई टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल कर समय-समय पर मोबाइल और दूसरे इलेक्ट्रॉनिक आइटम लांच करती रहती है।

टेक्नोलॉजी के प्रकार -Types of Technology in Hindi

टेक्नोलॉजी को कामो के आधार पर विभिन्न भागो में बाटा गया है, जिनका इस्तेमाल हम दैनिक जीवन में करते है।

(1) संचार प्रौद्योगिकी- Communication Technology

ऐसी टेक्नोलॉजी जिसका इस्तेमाल डाटा या इनफार्मेशन एक जगह से दूसरे जगह भेजने के लिए किया जाता है Communication Technology कहलाती है, उदाहरण के लिए मोबाइल, कंप्यूटर, ईमेल, फैक्स इत्यादि जिनका इस्तेमाल एक जगह से दूसरे जगह पर सूचनायों का आदान-प्रदान करने के लिए किया जाता है।

(2) निर्माण प्रौद्योगिकी-Construction Technology

ऐसी टेक्नोलॉजी जिसका इस्तेमाल Construction इंडस्ट्री में किया जाता है Construction Technology कहलाती है। यहाँ पर Construction इंडस्ट्री से मतलब है इमारतों और पुलों को बनाने के लिए होने वाली टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल। जमीन की संरचना बनाने जैसे 2D,3D Angle बनाने के लिए इसी टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल किया जाता है।

(3) सहायक प्रौद्योगिकी-Assistive Technology

इस टेक्नोलॉजी का उपयोग विकलांगो के लिए किया जाता है जैसे व्हीलचेयर। स्चूलो में विकलांगो छात्रो को शिक्षाप्रद बनाने के लिए इस टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल किया जाता है जैसे जो लोग टाइपिंग करने में असमर्थ है speech recognition एप्लीकेशन की मदद से कंप्यूटर चलाना।

(4) चिकित्सा प्रौद्योगिकी-Medical Technology

इस टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल चिकित्सा के क्षेत्रो में किया जाता है जिससे रोगी का सही इलाज हो। विकासशील देखो में इस टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल करने से रोगियों की संख्या कम हुई है क्योंकि बीमारी का पता पहले से चल जाता है जैसे Point of Care टेस्टिंग मशीन से डॉक्टर रोगियों का परिक्षण कर लेते है जो दर्द रहित होती है।

(5) संसूचना प्रौद्योगिकी-Information Technology

इस टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल लोगों को सही समय पर सही जानकारी प्रदान करने के लिए किया जाता हैं जैसे बैंक,टेलिकॉम कम्पनी अपने ग्राहक को एक साथ सूचना देने के लिए Information Technology का इस्तेमाल करती है।

(6) मनोरंजन प्रौद्योगिकी-Entertainment Technology

मनोरंजन संधाधनो में इस टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल किया जाता है जैसे वीडियो,म्‍यूजि़क सिस्टम्स, एनिमेशन इत्यादि। मनोरंजन का क्षेत्र बहुत व्यापक है और हर कोई अपने तरीके से मनोरंजन करता है, वीडियोगेम बनाने में Entertainment Technology का इस्तेमाल किया जाता है।

(7) व्यापार प्रौद्योगिकी-Business Technology

इस टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल व्यापार को चलाने और उसे बढाने के लिए किया जाता है। इसमें हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर टेक्नोलॉजी दोनों सम्लित हो
सकते है। एक छोटे व्यपार से बड़ा व्यपार बनने तक के सफ़र में टेक्नोलॉजी का बहुत बड़ा हाथ होता है जैसे -3D प्रिंटिंग मशीन का इस्तेमाल आकार और डिज़ाइन बनाने के लिए, हर ऑफिस में टेबल, कुर्शी की जगह निर्धारित करने के लिए किया जाता है।

(8) शिक्षात्मक प्रौद्योगिकी-Educational Technology

Educational क्षेत्रो को बेहतरीन बनाने के लिए इस टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल किया जाता है।इस टेक्नोलॉजी का उद्देश्य कक्षा में या बाहर विभिन्न तकनीकी गतिविधियों,मूल्यांकन और संसाधनों का निर्माण और प्रबंधन करके छात्रों के प्रदर्शन में सुधार करना है जैसे Educational Material छात्रों को जल्दी प्राप्त हो, नया कोर्स सीखने में मददऔर व्यक्तिगत सीखने को प्रोत्साहित करना।

(9) परिवहन टेक्नोलॉजी – Transportation Technology

ऐसी टेक्नोलॉजी जिसका इस्तेमाल करके ट्रांसपोर्टेशन को सुविधाजनक बनाया जाता है,ट्रांसपोर्टेशन टेक्नोलॉजी कहा जाता है।इस टेक्नोलॉजी की मदद से सड़क, पुल, रेलमार्ग, हवाई अड्डा जैसे ट्रांसपोर्टेशन सुविधाओ का निर्माण किया गया जिससे आवागमन करने में सुविधा हुई।अब एक स्थान से दूसरे स्थान जाने में बहुत कम समय लगता है

(10) कृषि टेक्नोलॉजी – Agriculture Technology

कृषि हमारे देश की आधारशिला है और इसको बेहतर बनाने के लिए कृषि टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल किया जाता हैजिससे खेती करने में कम मेहनत और समय बचे.आज के समय में ट्रैक्टर्स, हार्वेस्टर जैसे उपकरण कृषि क्षेत्र इस्तेमाल किये जाते है जो समय और धन की बचत करते हैं

ये भी पढ़े-
विज्ञापन क्या है और इसके फायदे?
E commerce क्या है और इसके फायदे?
wikipedia क्या है और इसका इस्तेमाल कैसे करें?

टेक्नोलॉजी के फायदे – Advantages of Technology in Hindi

टेक्नोलॉजी दैनिक कार्यों को आसान बना देता है।टेक्नोलॉजी मानव द्वारा निर्मित है इसलिए इसका इस्तेमाल हर जगह कर सकते है।अब जानते है टेक्नोलॉजी के कौन-कौन से फायदे हैं-

  1. टेक्नोलॉजी के माध्यम से व्यवसायों  को बढाने में मदद मिलती है जैसे व्यवसाय का लेखा-जोखा करने के लिए अकाउंट सॉफ्टवेर QuickBooks है।
  2. मोबाइल और इन्टरनेट के माध्यम से दुनिया के किसी भी कोने में बैठे व्यक्ति से बात-चीत कर सकते है।
  3. कंप्यूटर के माध्यम से लोग घर बैठे अपना काम कर सकते है जैसे बिल भुकतान, पैसे ट्रान्सफर, टिकेट बुकिंग इत्यादि।
  4. आधुनिक टेक्नोलॉजी से हमारा बहुत समय बचता है जैसे वाशिंग मशीन -कपडे धोने के लिए, Refrigerator,AC, Iron इत्यादि।
  5. टेक्नोलॉजी आपके डाटा और इनफार्मेशन को सुरक्षित रखती है।डेटाबेस और रिमोट स्टोरेज सुविधाओं का उपयोग करके डाटा को किसी भी समय, कही से भी एक्सेस किया जा सकता है।
  6. टेक्नोलॉजी के मदद से छोटे व्यवसाय सफल हो रहे है। वो इन्टरनेट के माध्यम से अपने उपभोक्ता की जरूरतों को समझ कर अपने नये प्रोडक्ट और सर्विसेज लांच कर रहे है।
  7. विडियो, म्यूजिक सिस्टम,गेम्स सोशल मीडिया प्लेटफार्म इत्यादि टेक्नोलॉजी की मदद से विकशित हुए हैं।
  8. कृषि के क्षेत्र में टेक्नोलॉजी ने बड़े बड़े कृषि यन्त्र दिए हैं जिससे कम लागत और समय की बचत होती है।
  9.  आवागवन को सरल बनाए के लिए सड़के, रेलमार्ग, हवाई अड्डों जैसी सुविधाओ का निर्माण हुआ है जो की टेक्नोलॉजी की मदद से संभव हुआ है।
  10. शिक्षा के क्षेत्र में E-Learning का बड़ा योगदान है,जिससे छात्र घर बैठ इन्टरनेट की मदद से Self Study कर सकता है।

टेक्नोलॉजी के नुकसान – Disadvantages of Technology in Hindi

टेक्नोलॉजी आने से फायदे मिले है तो हमे कुछ नुकसान भी उठाने पढ़ रहे है-

  1. टेक्नोलॉजी सुरक्षित नहीं है। रिमोट डेटाबेस में स्टोर डाटा को हैकिंग का खतरा बना रहता है।
  2. हम आधुनिक टेक्नोलॉजी से जुड़ चुके है जैसे अस्पताल, पॉवर ग्रिड, हवाई अड्डे, रेल और सड़क परिवहन सिस्टम, और सैन्य सुरक्षा इत्यादि। ऐसे में यदि टेक्नोलॉजी रातोंरात दूर हो गयी तो मनुष्य लगभग असहाय हो जाएगा।
  3. टेक्नोलॉजी अपने साथ किसी न किसी प्रकार की पर्यावरणीय समस्याएं लेकर आती है और इसमें इस्तेमाल होने वाले यंत्र विषैले, या गैर-biogradable होते है
  4. अधिकांश टेक्नोलॉजी को चलने के लिए उर्जा की आवश्यकता होती है जैसे बिजली, ईधन। ये स्त्रोत तेजी से खपत हो रहे है।
  5. टेक्नोलॉजी से मजदूरी और आम श्रमिकों के लिए अधिक बेरोजगारी देखने को मिली है क्योंकि उनकी भूमिकाएं कंप्यूटर द्वारा बदलती जा रही है इससे कंपनी को बड़ा मुनाफा होता है
  6. टेक्नोलॉजी का सबसे बड़ा असर हमारे स्वास्थ्य पर देखने को मिला है जिससे लोगो को मानसिक बीमारिया हो रही है
  7. लगातार कंप्यूटर या स्मार्टफोन को चलाने से त्वचा रोग और आँखों की रोशनी कम होना जैसी बीमारिया हो रही है
  8. आज के नौजवान को सोशल मीडिया और इंटरनेट लत लग  रही है जिससे समय की बर्बादी और डिप्रेशन का शिकार हो रहे है
  9. लगातार कई घंटो तक कंप्यूटर के सामने बैठने से कई लोगों को जकरण, पीठ में दर्द और घुटनों का दर्द जैसे समस्याएं हो रही है
  10. टेक्नोलॉजी का दुष्परिणाम छोटे बच्चों पर भी देखने को मिला है, पेरेंट्स बच्चो को मोबाइल दे दे है बच्चे इंटरनेट पर गलत चीजें देखकर मानसिक रोग का शिकार हो रहे हैं

टेक्नोलॉजी का इतिहास – History Of Technology in Hindi

टेक्नोलॉजी शब्द ग्रीक भाषा के टेक्नी से लिया गया है जिसका अर्थ है कला और शिल्प होता है।
इसका इस्तेमाल पहले कलाओं का वर्णन करने के लिए किया गया था, लेकिन आज के दौर में इसका इस्तेमाल हमारे चारों ओर की प्रगति और परिवर्तनों का वर्णन करने के लिए किया जाता है।

इसका इस्तेमाल पृथ्वी पर जीवन की शुरुआत के साथ शुरू हुआ था और प्रारंभिक चिकित्सा,संसूचना प्रौद्योगिकियों, जैसे कंप्यूटर और परमाणु ऊर्जा की स्थापना में हो रहा है।

बदलते समय के अनुसार एक और एक से अधिक चीजों का आविष्कार किया गया।सन 1930 के दशक तक, “टेक्नोलॉजी” ने औद्योगिक कलाओं के साथ- साथ स्वयं को औद्योगिक कलाओं के रूप में संदर्भित किया।

सन 1937 में, अमेरिकी समाजशास्त्री रीड बैन बताया कि “टेक्नोलॉजी में सभी औजार, मशीन, बर्तन, हथियार, आवास, कपड़े, कम्युनिकेशन, शिक्षा, चिकित्सा और परिवहन उपकरण शामिल हैं जिनके द्वारा हम उत्पादन करते हैं और उनका इस्तेमाल करते हैं।”

हम टेक्नोलॉजी में जितना गहराई से जाते हैं, लगता है कि हम भौतिक और आभासी दुनिया को एक साथ मिलाने का प्रयास कर रहे हैं। स्मार्टफ़ोन, स्मार्ट होम और यहां तक ​​कि स्मार्ट कार जो भविष्य में आने वाली है।

लेकिन यह अभी शुरुआत है और आने वाले समय में हमें एडवांस चीजे देखने को मिलेंगी जैसे ही आप सोचेंगे , उतनी ही देर में वह आपके सामने हाजिर हो जाएगी। बदलते हुए टेक्नोलॉजी के अनुसार लोगो को भी अप-टू-डेट रहने रहने की आवश्यकता है वर्ना बहुत से अवसरों को खो सकते है, या अपने प्रतिस्पर्धियों से पीछे हो जायेंगे।

भविष्य में आने वाली टेक्नोलॉजी – Future Technology in Hindi

टेक्नोलॉजी ने हमारी जीवन शैली बदल कर रख दिया है। लोगों की कार्यप्रणाली को आसान बनाने के लिए हर साल नई-नई टेक्नोलॉजी का अविष्कार किया जाता है। अब जानते है कि भविष्य में आने वाली कौन कौन सी टेक्नोलॉजी है।

1. 5G Technology

5G टेक्नोलॉजी मोबाइल फोन टेक्नोलॉजी की 5वी जनरेशन है. वर्तमान समय में भारत में 4G टेक्नोलॉजी चल रही है. 5G का फुल फॉर्म है Fifth Generation. 5G टेक्नोलॉजी आने से ऑनलाइन काम बहुत तेजी से होने लगेगा। हाई स्पीड मिलने से डाटा मिलने से डाउनलोडिंग और अपलोडिंग की स्पीड बढ़ जाएगी।

भारत में बहुत जल्द 5G टेक्नोलॉजी शुरू होने वाली है. टेलिकॉम कंपनियों ने केंद्र सरकार के साथ 5G इन्फ्रास्ट्रक्टर को लेकर मीटिंग कर ली। वहीं एयरटेल ने 5G की टेस्टिंग पूरी कर ली है और खबर है कि बहुत जल्द ही रिलायंस जियो भी 5G का ट्रायल करने वाला है। मीडिया ख़बरों के अनुसार, अगले 6 महीने में 5G टेक्नोलॉजी देश में पूरी तरह लांच हो जायेगी।

2. Blockchain Technology

ब्लॉकचेन का इस्तेमाल ऑनलाइन ट्रांजैक्शन को रोकने के लिए किया जाएगा। इस टेक्नोलॉजी के आने से ऑनलाइन ट्रांजैक्शन करने के लिए किसी  थर्ड-पार्टी की जरूरत नहीं रहेगी। ब्लॉकचेन में कोई भी ट्रांजैक्शन करने के लिए सभी नेटवर्क नोड्स को agree होना पड़ेगा, तभी नलाइन ट्रांजैक्शन सक्सेसफुल होगा। इसे हैक नहीं किया जा सकता क्योंकि हैक करने के लिए आपको बैंक के सिस्टम के साथ साथ उससे जुड़े नेटवर्क के सभी सिस्टम को हैक करना होगा।

ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी ऑनलाइन ट्रांजैक्शन सफल बानाने की Guarantee प्रदान करता है और सभी ट्रांजैक्शन का रिकॉर्ड अपने पास रखता है। ये रिकॉर्ड केवल Main System का नहीं होता है बल्कि उस नेटवर्क से जुड़े सभी सिस्टम  में secure validation होने के बाद ही ऑनलाइन ट्रांजैक्शन को valid माना जायेगा।

3. Artificial Intelligence (AI)

AI का full form है Artificial Intelligence है और इसका हिंदी में अर्थ होता है कृत्रिम होशियारी या कृत्रिम दिमाग AI एक ऐसा सिस्टम है जिससे की मशीनों को इंसानी दिमाक दिया जाता है या ऐसा कहे कि AI की मदद से मशीन इंसानों के तरह सोच सके और काम कर सके

Artificial Intelligence का इस्तमाल लगातार आने वाली टेक्नोलॉजी पर किया जा रहा है. जिससे मनुष्य जीवन की कार्यप्रणाली को आसान किया जा सके जैसे नेवीगेशन एप, स्ट्रीम सर्विस,Voice Command, स्माटफोन पर्सनल असिस्टेंट, राइड शेयरिंग ऐप, होम पर्सनल असिस्टेंट इत्यादिवो दिन दूर नहीं जब जब हमें किसी चीज के बारे में सोचेगे और वो हमारे सामने होगी.

4. Hologram Technology

होलोग्राफी टेक्नोलॉजी में एक पारदर्शी रंगीन प्रकाश का इस्तेमाल किया जाता है, जिसे प्रोजेक्‍टर की मदद से दर्शाया जाता है। इस टेक्नोलॉजी में मनुष्‍य या किसी वस्‍तु से निकलने वाली रंगीन प्रकाश की किरणों को हाई रेसोल्यूशन कैमरों द्वारा रिकॉर्ड कर लिया जाता है। और जब इस रिकॉर्डिंग को 3D प्रोजेक्‍टर पर चलाया जाता है तो वह उसी प्रकार दिखाई देता है जैसे आप किसी वास्‍तविक वस्‍तु या जीवित मनुष्‍य को अपने पास देख रहे हो।

थ्रीडी होलोग्राम टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल बहुत जगहों पर किया जाता है जैसे एक साथ चुनावी सभा को संबोधित करने के लिए, यदि कोई फंक्शन विदेश में हो रहा है तो इस टेक्नोलॉजी की मदद से भारत में या अन्य दूसरे जगह के लोग भी वास्तविक अनुभव के साथ इस फंक्शन को देख सकते हैं। बड़े बड़े फिल्म अभिनेता अपनी फिल्म का प्रचार के लिये इसका प्रयोग कर रहे हैं।

5. Self Driving Car

ऑटोमोबाइल टेक्नोलॉजी का दौर अब बहुत हाईटेक हो गया है, अब लग्जरी फीचर्स और स्टाइलिश लुक्स देने के बाद अब सेल्फ ड्राइविंग यानी बिना ड्राइवर के कार चलाने की तैयारी चल रही है। बहुत जल्दी आपको सड़क पर सेल्फ ड्राइविंग कार चलती हुई देखने को मिल सकती हैं।, जिनमें ना कोई स्टीयरिंग होगा और नाही कोई ड्राइवर होगा।

इस टेक्नोलॉजी पर बहुत सालो से काम चल रहा है। इन्हें पूरी तरह ऑटोमेटेड तो नहीं किया जा सकता, लेकिन इन कारो की पहली प्राथमिकता दिशा निर्देश पर होगी। एक सर्वे के अनुसार 90% सड़क दुर्घटनाएं लोगो की गलतियों से होती है। वहीं सेल्फ ड्राइविंग कार आने से सड़क दुर्घटनाओं की संख्या में कमीआ सकती है।

6. LiFi Technology

LiFi का Full Form है Light Fidelity। यह एक हाई स्पीड ऑप्टिकल वायरलेस टेक्नोलॉजी है। LiFi में LED बल्ब से निकलने वाली रोशनी के द्वारा डिजिटल सूचनाओं का प्रसारण किया जाता है।LiFi पूर्ण रूप से प्रकाश पर आधारित है, जो WiFi की तुलना में 100 गुना तेजी से डाटा को ट्रान्सफर में सक्षम है।

LiFi की कार्यप्रणाली को अंजाम देने के लिए तीन कॉम्पोनेन्ट की आवश्यकता पड़ती है LED Bulb, Lamp Driver और Photo Detectore। इंटरनेट का मुख्य श्रोत Lamp Driver से कनेक्ट रहता है और Lamp Driver द्वारा इंटरनेट से प्राप्त जानकारी को LED bulb में भेजा जाता है, जिसके बाद LED Bulb से निकलने वाले प्रकाश को Photo Detectore रिसीव करता है, और फिर लाइट सिग्नल को बाइनरी डाटा के रूप में ट्रान्सफर कर देता है, इसके बाद फिर आगे मोबाइल फोन या लैपटॉप पर डाटा प्रोसेसिंग के लिए भेज देता है।

7. Robot

Robot एक प्रकार की मशीन है जो विशेष काम को करने के लिए इनमे प्रोग्राम या निर्देशों स्टोर किये जाते है। यह कई मुश्किल भरे कामों को आसानी से और जल्दी करने में सक्षम होते है।कुछ रोबोट को कण्ट्रोल करने के लिए एक रिमोट कण्ट्रोल होता है और बहुत से रोबोट में उसके अंदर ही कंट्रोलर डिवाइस लगा हुआ रहता है।

आज देश में विभिन्न प्रकार के रोबोट उपलब्ध है। जिनका इस्तेमाल अलग-अलग कार्यों के लिए अलग-अलग किया जाता है। लेकिन, एक मिलिट्री रोबोट और मेडिकल रोबोट के अविष्कार में तीन प्रकार के आधारभूत चीजों का इस्तेमाल किया जाता है Mechanical Construction,Electronic Construction और Programming।

8. 3D Printer

एक basic printer केवल 2d में ही print करने में सक्षम होता है, लेकिन 3D Printer इससे काफी advanced होता है। और यह वास्तविक चीज़ों जैसे 3D print रने में सक्षम होता है। इस प्रिंटर की मदद से Imagine की गई वस्तु की design कर सकते हैं।

3D इमेज को बनाने के लिए additive processes का प्रयोग किया जाता है। इस additive process में एक इमेज को प्रिंट करने के लिए मटेरियल को successive layers में एक के ऊपर एक रखा जाता है और ऐसा तब तक किया जाता है जब तक की उस वस्तु के इमेज प्रिंट न हो जाये।3D प्रिंटर डिज़ाइन के प्रत्येक Layer को पढता है फिर उसके साथ 3D प्रिंट तैयार करता है

9. Jet Pack Suit

आपने हॉलीवुड की फिल्मों में औरगेम्स में किसी ऑब्जेक्ट को जेटपैक की मदद से हवा में उड़ते हुए और दुश्मनों को मरते हुए देखा होगा। लेकिन क्या आप जानते हैं भारत सरकार जल्द ही भारतीय सेना के जवानों को जेटपैक देने की तैयारी में है जिससे हवा में उड़कर दुश्मनों को मुहतोड़ जवाव दे सके। हवा में उड़ने वाले इस सूट को जेटपैक- द फर्स्ट ह्यूमन फ्लाइंग पायलट का नाम दिया गया है।

इस सूट को जेपीए, अमेरिका की मदद से तैयार किया जा रहा है। इस सूट को पहनकर हवा में उड़कर भारतीय सेना एक जगह से उड़कर दूसरी जगह जा सकेंगे। एक रिपोर्ट के अनुसार इस सूट को फायर फाइटर, डिफेंस, नेवी और एयरफोर्स के जवानों को दिया जायेगा। प्राकृतिक आपदाओं के दौरान लोगों बचाने में और मदद पहुंचाने के लिए जेटपैक का इस्तेमाल किया जाएगा।

10. Wireless Power

हम सभी लोग वायरलेस का इस्तेमाल कर रहे है जैसे इन्टरनेट, डाटा ट्रान्सफर उसके बाद आया वायरलेस चार्जिंग,लेकिन इस प्रोसेस में एक पैड में फ़ोन में लगाना पड़ता था और फिर फ़ोन चार्ज होता था। लेकिन अब बहुत जल्द वायरलेस पॉवर  टेक्नोलॉजी आने वाली है जिसमें आप एक पूरे घर में वायरलेस चार्जिंग सिस्टम बना सकते हो जिस प्रकार से वाईफाई होता है इससे यह फायदा होगा कि घर से सभी इलेक्ट्रॉनिक उपकरण जैसे कि टीवी, पंखा, फ्रिज, बल्ब, म्यूजिक सिस्टम या आपका फ़ोन हो, ये सभी उपकरण वायरलेस तरीके से पॉवर को खींच पायेंगे और ठीक तरह से काम कर पायेंगे

Technology FAQ’s In Hindi

प्रश्न 1 टेक्नोलॉजी का अर्थ क्या है?

आसान शब्दों में टेक्नोलॉजी का अर्थ होता है एक ऐसा माध्यम जिसका इस्तेमाल करके किसी भी काम को जल्दी या आसन बनाया जाता है, उसे टेक्नोलॉजी कहा जाता है।

प्रश्न 2 टेक्नोलॉजी को हिन्दी में क्या कहते है?

टेक्नोलॉजी को हिन्दी भाषा मे प्रौद्योगिकी कहा जाता है। प्रौद्योगिकी मनुष्य द्वारा बनाई गई जिसका उद्देश्य किसी कार्य को पूरा करना और मानव जीवन आसान बनाना है।

प्रश्न 3 टेक्नोलॉजी कितने प्रकार की होती है?

मानव जीवन विभिन्न कार्यों को पूरा करने के लिए 10 प्रकार की टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल किया जाता है- संचार प्रौद्योगिकी,निर्माण प्रौद्योगिकी,सहायक प्रौद्योगिकी,चिकित्सा प्रौद्योगिकी,संसूचना प्रौद्योगिकी,मनोरंजन प्रौद्योगिकी,व्यापार प्रौद्योगिकी,शिक्षात्मक प्रौद्योगिकी,परिवहन टेक्नोलॉजी,कृषि टेक्नोलॉजी

प्रश्न 4 भविष्य में आने वाली टेक्नोलॉजी कौन कौन सी हैं?

लोगों की जीवनशैली को बेहतर बनाने के लिए लगातार नई नई टेक्नोलॉजी का अविष्कार किया जा रहा है. भविष्य में आने वाली टेक्नोलॉजी कुछ इस प्रकार है – 5G Technology, Blockchain Technology, Artificial Intelligence, Hologram Technology, Self Driving Car, LiFi Technology, Robots,3D Printer, Jet Pack Suit,Wireless Power

प्रश्न 5 टेक्नोलॉजी का महत्व क्या है?

हमारे दैनिक जीवन में टेक्नोलॉजी का बहुत ज्यादा महत्व है , आजकल लगभग हर क्षेत्र में कार्यो को तेज गति से पूरा करने के लिए टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल किया जाता है जैसे ऑपरेशन, स्कैन, शिक्षा और चिकित्सा और अन्तिक्ष अनुसन्धान के कार्यो को टेक्नोलॉजी ने बहुत सुविधाजनक बना दिया है।

निष्कर्ष

मुझे उम्मीद है आपको यह पोस्ट टेक्नोलॉजी क्या है What is Technology in Hindi) और इसके फायदे- नुकसान जरुर पसंद आयी होगी। अब आप अपने दैनिक जीवन में इस्तेमाल होने वाले टेक्नोलॉजी के बारे में समझ चुके होंगे। यदि इस पोस्ट से जुड़े कोई सवाल या सुझाव है तो निचे कमेंट कर सकते है और इसे सोशल मीडिया पर भी शेयर करें जिससे और लोग भी जागरूक होंगे।

About Vijay Singraul

नमस्कार दोस्तों, मैं HindiMePost का Chief Author और Founder हूँ. मुझे Blogging और Technology से जुडी जानकारियां पढने और दूसरों के साथ शेयर करने में अच्छा लगता है. आप भी इस ब्लॉग से जुड़े और रोजाना कुछ नया सीखें.

1 thought on “टेक्नोलॉजी क्या है – इसके फायदे और नुकसान | Technology In Hindi”

  1. shalendra kumar chaudhuri

    thanks

    सर आपका बहुत ही अच्छा आर्टिकल लिखा है सर मेरा एक ब्लॉग है जिसमें मैं सरकारी योजनाओ से रिलेटेड जानकारी प्राप्त करवाता हु।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *