DBMS क्या है और इसके प्रकार?

क्या आप जानते है DBMS क्या है (What is DBMS in Hindi) और इसका इस्तेमाल कैसे करते है? DBMS (Database Management System) एक ऐसा सॉफ्टवेर है जो डाटा को Create, Delete और Control करता है| DBMS, Data और Program के मध्य एक परत के जैसे काम करता है| Program पहले DBMS को एक्‍सेस करते हैं, फिर डेटा को एक्सेस करते हैं।

DBMS के इस्तेमाल से User और Programmer दोनों ही डाटा को Manage कर सकते है और यदि डाटा में कुछ बदलाव करना है तो भी आसानी से हो जाता है| लगभग सभी ई-कॉमर्स वेबसाइट प्रोडक्ट और कस्टमर इनफार्मेशन को मैनेज करने के लिए DBMS का इस्तेमाल करती है| आगे और विस्तार से जानते है की DBMS क्या होता है|

DBMS क्या है (What is DBMS in Hindi)

what is database in hindi
DBMS का full form है Database Management System. DBMS एक सॉफ्टवेर है जो यूजर की जरूरतों के हिसाब से डेटाबेस से इनफॉर्मेशन को Store, Modify और Extract करने में सक्षम बनाता है। डाटाबेस में एक बार वेबसाइट का डाटा स्टोर करने पर उसे मैनेज करना काफी आसान हो जाता है जैसे Data को Sort करना, Percentage निकलना, और अपडेट करना|

शुरुआत में डेटाबेस की पहुच एक सीमित दायरे तक थी जिससे केवल  Row और Column को मैनेज कर सकते थे, जैसे कि एक स्प्रैडशीट| और केवल Text और Numerical डाटा ही संभव था| लेकिन आज के रिलेशन डेटाबेस बहुत Advanced है जो यूजर को विभिन्न टेबल में स्‍टोर डेटा को मैनेज करने के अनुमति देते है| आधुनिक डेटाबेस में यूजर्स विभिन्जैन प्सेरकार के डाटा जैसे  Photo, Videos, Animation, Text इत्यादि को स्टोर कर सकते हैं।

DBMS Logical और Physical दोनों डाटा को मैनेज करता है| इसका मतलब यह है कि यूजर कौन से डाटा देख सकता है, कितना डाटा स्टोर है, डाटा कौन से प्लेटफार्म में स्टोर है,ये सब DBMS की मदद से गोपनीय कर सकते है|

DBMS के प्रकार (Types of DBMS in Hindi)

DBMS (Database Management System) को मुख्य रूप से चार भागो में विभाजित किया गया है|

1. Hierarchical Databases (DBMS)

Hierarchical Database Management Systems पैरेंट चाइल्‍ड  मॉडल पर आधारित है| इस डेटाबेस में डेटा को इस के साथ Tree Structure (Parents – Child) के रूप में व्‍यवस्थित किया जाता है। इसमें सामान्य रूप से डाटा की एक से अधिक रिलेशनशिप होती हैं,जो डेटा को स्‍टोर करने के लिए काफी अच्‍छा होता हैं।

Hierarchical Database Management Systems

2. Network Databases (DBMS)

जब किसी Database में many to many रिलेशनशिप होती है तो वह Network Database Management Systems कहलाता है। यहाँ Hierarchical Databases और Network Databases में बस इतना सा अंतर यह है कि Network Database में Tree Structure में Child के कई Parents हो सकते हैं।

Network Database Management Systems

3. Relational Databases (DBMS)

जब किसी Database में डाटा Row (tuples) और columns (attributes) के Relationship में store किया जाता है तो वह Relational Database Management Systems कहलाता है। Relational Database सबसे ज्यादा इस्तेमाल किये जाने वाला Database Management Systems है| इसमें डाटा एक ही table या अन्य tables में अन्य डाटा  से Related होता है, जिससे एक या अधिक tables को जोड़कर अच्छी तरह से Manage कर सकते है|

Relational Database Management Systems

4. Object Oriented Database

ऐसे Database Object Oriented Programming Language (OOPS) द्वारा डाटा को व्यवस्थित किया जाता है, Object Oriented Database Management Systems कहलाता है। इस प्रकार के databases में programming language की मदद से objects create करके उन्हें databases में स्टोर किया जाता है।  इस प्रकार के DBMS काफी मंहगे होते है|
Object Oriented Database Management Systems
ये भी पढ़े-
HTML क्या है और कैसे सीखें?
PHP क्या है और कैसे सीखें?
Java क्या है और कैसे सीखें?

DBMS के मुख्‍य घटक (Main Components of DBMS in Hindi)

1.  सारणी (tables)

DBMS में सारा डाटा Tables में स्टोर होता है| Tables Row और Column से मिलकर बना होता है, जिसके अन्दर डाटा स्टोर रहता है| विभिन्न प्रकार के फार्मूले Tables पर लगाये जाते है जैसे डेटा संग्रह, फिल्‍टर करना, पुन: प्राप्‍त करना और संपादन करना।

2. फील्‍ड (Field)  

टेबल के अन्दर सभी Column को फील्ड कहते है| इसमें हर डाटा का अपना विशिष्ट जगह होता है जैसे ग्राहक क्रमांक, ग्राहक का नाम, ग्राहक का फ़ोन नंबर,गली नंबर, शहर, राज्‍य,वर्तमान पता आदि।

3. रिकॉर्ड (Record)

 टेबल के अन्दर Row में जो डाटा स्टोर रहता है उसे रिकॉर्ड कहते है| रिकॉर्ड एक एंट्री होता है जिसमे व्यक्ति का नाम, पता, फोन नंबर भरा जाता है|

4. क्‍वेरीज (Queries) 

जब डाटाबेस या टेबल से डाटा निकला जाता है तो उसे क्‍वेरी कहते है|जैसे आप अपने शहर में रहने वाले किसी व्यक्ति का डाटा निकलवाना चाहते है तो उसे क्‍वेरी कहेंगे|

5. फॉर्म्‍स (Forms) 

टेबल में डाटा स्टोर करना आसन होता है लेकिन उमसे कुछ संसोधन करना और भण्डारण करना काफी मुस्किल होता है| इस समस्‍या को दूर करने के लिए, फॉर्म्‍स का इस्तेमाल किया जाता है, जिससे डाटा टेबल के जैसे ही फॉर्म्‍स में स्टोर किया जाता है|

6. रिपोर्ट्स (Reports) 

जब डाटाबेस से निकले गये डाटा को किसी पेपर में प्रिंट करते है तो उसे रिपोर्ट्स कहा जाता है|

Function of DBMS in Hindi

  1. Create Data – DBMS में डाटा को Create किया जाता है यानि इसे टेबल में स्टोर किया जाता है|
  2. Manage Data – इसमें डाटा को Manage किया जाता है, जिससे इस्तेमाल करने में आसानी हो|
  3. Update Data – अपनी जरूरतों के हिसाब से डाटा को Update भी किया जाता है|
  4. Delete Data – अतिरिक्त डाटा या बेकार डाटा को Delete किया जाता है|
  5. Backup Data – इसमें एक बार में सभी डाटा का Backup लिया जाता है|
  6. Data Recovery – सिस्टम ख़राब होने पर डाटा को Recover कर लिया जाता है|

मुझे उम्मीद है आपको यह पोस्ट DBMS क्या है (What is DBMS in Hindi) और इसके Components के बार में जरुर पसंद आया होगा| यदि आपके मन में इस पोस्ट से जुड़े कोई सवाल या सुझाव है तो निचे कमेंट जरुर करें, जिससे हम कुछ सुधार करने का मौका मिलेगा| पोस्ट अच्छा लगा हो या कुछ सीखने का मिला हो तो इसे सोशल मीडिया पर भी शेयर करें|

DBMS क्या है और इसके प्रकार?
5 (100%) 4 vote[s]

About Vijay Singraul

नमस्कार दोस्तों, मैं HindiMePost का Chief Author और Founder हूँ | मुझे Blogging और Technology से जुडी जानकारियां पढने और दूसरों के साथ शेयर करने में अच्छा लगता है| आप भी इस ब्लॉग से जुड़े और रोजाना कुछ नया सीखें.

View all posts by Vijay Singraul →

One Comment on “DBMS क्या है और इसके प्रकार?”

  1. BAHUT ACCHE SE SAMJHAYAAA HAI AAPNE.
    KYYA AAP ORACLE 10 G KA FRONT END KAISE USE KARNA HAI. TABLES BANANA ETC. KE LIYE. PLEASE US PAR EK POST DALEN.
    NETWORKING PAR KOI POST LIKHWANI HAI TO MUJHSE SAMPARK KAREN THANKS.
    my blog qaayet.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *