Cloud Computing क्या है और इसके फायदे?

इन्टरनेट की दुनिया में क्या आप जानते है Cloud Computing क्या है (What is Cloud Computing in Hindi). कंप्यूटर टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में जब से इन्टरनेट ने कदम रखा है तब से कंप्यूटर टेक्नोलॉजी काफी ने उचाईयो तब अपनी जगह बना ली है और खास बदलाव Cloud Computing और Distributed Computing में देखने को मिला है.

एक रिपोर्ट के अनुसार Cloud Computing वर्ष 2020 तक लगभग $327 billion का Business करेगी, और इसका कारण है कि आज लगभग सभी कंपनियां Cloud सर्विसेज का इस्तेमाल कर रही है चाहे वह Directly हो या फिर Indirectly. यदि हम Google सर्विसेज का इस्तेमाल करते है जैसे Gmail, Google Drive तो हमारा डाटा Direct Cloud में स्टोर होता है. यदि बात यदि Twitter Social Media की बात करें तो इसमें Indirectly डाटा Cloud में स्टोर होता है. कंप्यूटर नेटवर्क को बेहतर बनाने के लिए Cloud Computing और Distributed Computing दोनों की जरुरत पडती है जिससे तेजी से ग्लोबली डाटा प्रोसेस हो.

Cloud Computing क्या है (What is Cloud Computing in Hindi)

what is cloud computing in hindi

Cloud Computing इन्टरनेट पर आधारित एक ऐसा कंप्यूटिंग सिस्टम होता है जहा पर डाटा और सर्विसेज शेयर किये जाते है. यहाँ पर Infrastructure, platform, application, और store space उपलब्ध होता है, इसमें से Users अपनी जरूरतों के हिसाब से Cloud Services का इस्तेमाल करता है और इन्ही सर्विसेज के लिए उसे पैसे देने पड़ते है.

Cloud में डाटा Physical Server पर स्टोर रहता है, जिसे क्लाउड कंप्यूटिंग की टीम Control and Manage करती है, आपको अलग से लोकल हार्ड ड्राइव पर स्टोर करने की जरुरत नहीं है. Cloud पर स्टोर डाटा को हम किसी भी समय,कही से भी और किसी भी डिवाइस जैसे Computer, Laptop, smartphone से इस्तेमाल कर सकते है.

हर Users चाहता है की जब वह इन्टरनेट पर कुछ सर्च करें तो उसे तुरंत इनफार्मेशन मिलना चाहिए. ऐसे में यदि कोई कोई अप्लिकेशन खुलता नहीं या खुलने में ज्यादा समय लेता है तो Users निराश हो जाता है. आज कल लोगो को 24*7 की सर्विसेज चाहिए, इन्ही जरूरतों को पूरा करने के लिए Cloud Computing Technology लायी गयी है. Low Cost, Good Performance, Accessibility और availability की वजह से क्लाउड कंप्यूटिंग सर्विस सभी कंपनियों की पहली पसंद बन चुकी है.

Cloud Computing के फायदे (Benefits of Cloud Computing)

1. Worldwide Accessibility – Cloud में स्टोर डाटा फाइल्स को कही से भी Access कर सकते है लेकिन इसके इन्टरनेट होना अनिवार्य है. बिज़नेस के हिसाब से यह बहुत फायदेमंद है क्योंकि Employee को अपने साथ डॉक्यूमेंट रखने की जरुरत नहीं पढ़ती. वह देश- विदेश कही पर बैठकर अपने जरुरी डॉक्यूमेंट इस्तेमाल कर, अपने बिज़नेस को बढ़ा सकता है.

2. High Storage – हार्ड डिस्क में जब कोई डाटा स्टोर होता है, हमेशा मेमोरी फुल होने चिंता बनी रहती है. Cloud में High Storage होता है जिसमे जिनता जरुरत हो उतना मेमोरी इस्तेमाल कर सकते है.

3. Easy Set-Up – Cloud Computing में डाटा सर्विसेज Set Up करना काफी आसान होता है. इसमें आपको Cloud नेटवर्क में जाकर अपना User Id और Password Set Up करना है, फिर आपका क्लाउड सर्विसेज चालू हो जायेगा.

4. Low Cost – Cloud Computing सर्विसेज काफी सस्ती होती है. कुछ Cloud Computing जैसे Google Drive, Dropbox 15 GB तक का फ्री स्टोरेज प्रदान करती है. और अधिक स्टोरेज लेने के लिए इन कंपनियों से खरीद सकते है, जो कम लागत में हो जाते है. Cloud सर्विसेज का भुगतान Monthly/ Yearly दोनों होता है, जिससे आप जिन सर्विसेज का इस्तेमाल करते है केवल उन्ही का भुकतान कर सकते है.

ये भी पढ़े-
ई-कॉमर्स क्या है –  What is E commerce in Hindi?
Tally क्या है – What is Tally in Hindi?

Cloud Computing के प्रकार (Types of Cloud Computing)

Cloud Computing को मुख्य रूप से तीन भागो में बाटा गया है – Iaas, Pass, Saas.

(1) Infrastructure-as-a-Service (IaaS) : –

यह सर्विस IT Infrastructure का Access देती है, जिससे किसी रेमोर्ट लोकेशन से monitoring, accessing, Infrastructure और performance को नियंत्रण किया जाता है, उदाहरण के लिए – Servers, Firewalls, Routers, CDN इत्यादि.

(2) Platform-as-a-Service (PaaS) : –

यह एक Cloud base environment होता है जहा पर web server, access tool और Database शामिल रहता है. इसका उद्देश्य Clod Infrastructure को Control करना और यूजर के लिए अच्छा environment बनाना जिसके तेजी से अपना काम कर सके. PaaS के उदाहरण है – Gmail, Outlook इत्यादि.

(3) Software-as-a-Service (SaaS) : –

Saas वेब को Access करता है और छोटे बिसनेस के लिए सबसे ज्यादा इस्तेमाल किये जाने वाला सॉफ्टवेर है. इस एप्लीकेशन को Third Party Vendors द्वारा Control किया जाता है जिसका access केवल Client के पास होता है. Google App Engine, SAP Hana, Cloud Foundry, यह सभी SaaS के उदाहरण हैं.

Cloud Services देने वाली वेबसाइट के नाम

  1. Google Drive
  2. Microsoft Sky Drive
  3. Yandex.Disk Claudsrvis
  4. 4Sync
  5. Drop Box

मुझे उम्मीद है आपको यह पोस्ट Cloud Computing क्या है (What is Cloud Computing in Hindi) जरुर पसंद आया होगा. यदि आपके मन में इस पोस्ट से जुड़े कोई सवाल है या चाहते है इसमें कुछ सुधार करने की जरुरत है तो निचे कमेंट बॉक्स में कमेंट कर सकते है. इस पोस्ट को सोशल मीडिया पर भी शेयर करें जिससे और लोगो को Cloud Computing सर्विसेज के बारे में सही जानकारी प्राप्त होगी.

About Vijay Singraul

नमस्कार दोस्तों, मैं HindiMePost का Chief Author और Founder हूँ | मुझे Blogging और Technology से जुडी जानकारियां पढने और दूसरों के साथ शेयर करने में अच्छा लगता है| आप भी इस ब्लॉग से जुड़े और रोजाना कुछ नया सीखें.

View all posts by Vijay Singraul →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *