कंप्यूटर क्या है और कितने प्रकार के होते है

कंप्यूटर क्या है (What Is Computer in Hindi) और कितने प्रकार के होते है, यह सवाल बहुत साधारण है लेकिन बहुत लोगो के मन में चलता रहता है. इस सवाल के बारे में आप शायद पहले से थोडा- बहुत जानते होंगे लेकिन जरा रुकिए क्योंकि जो मैं आज मैं आज बताने जा रहा हु उसमे से आपको कुछ नया जरुर सीखने को मिलेगा.

आज हम लोग जिस कंप्यूटर का इस्तेमाल कर रहे है उसको बनाने में बहुत सारे साइंटिस्टों की कणी मेहनत का नतीजा है. आज मैं इस पोस्ट में आपको बताऊंगा Definition of Computer in Hindi, तो बिना देरी किये शुरू करते है.

कंप्यूटर क्या है (What Is Computer in Hindi)

definition of computer in hindi

कंप्यूटर एक इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस है,जो यूजर द्वारा दिए गए इनपुट डाटा को प्रोसेसिंग कर डाटा का आउटपुट प्रदान करता है. कंप्यूटर शब्द अंग्रेजी भाषा के “Compute” शब्द से मिलकर बना है जिसका मतलब है “गणनाकरना ” और इसी कारण से इसे गणक या संगणक नाम से भी बोला जाता है.

कंप्यूटर का अविष्कार Calculaton करने के लिए किया गया था, लेकिन आज कंप्यूटर से डॉक्यूमेंट बनाना, ईमेल भेजना, गेम खेलना, गाने सुनना, फोटो प्रिंटिंग, इन्टरनेट इत्यादि काम किये जाते है. कंप्यूटर में सोचने समझने की क्षमता नहीं होती वह Command फॉलो कर काम करता है यानि जो हम डाटा इनपुट करते है उसे डाटा को प्रोसेसिंग कर अपने प्रोग्रामिंग के अनुसार, रिजल्ट देता है.

कंप्यूटर के जनक Charles Babbage को कहा जाता है और इसका कारण है कि उन्होंने ही सर्व प्रथम Mechanical कंप्यूटर को बनाया था जिसे Analytical Engine भी कहा जाता है. डाटा को इनपुट करने के लिए इसमें Punch Card लगाया गया था.

कंप्यूटर का फुल फॉर्म क्या है – Full Form of Computer

अब जानते हैं की कंप्यूटर का फुल फॉर्म क्या होता है.

C – Commonly , O – Operated, M – Machine, P – Particularly, U – Used for, T – Technical और E – Educational , R –  Research.

कंप्यूटर का आविष्कार किसने किया – Father of Computer in Hindi

कंप्यूटर का अविष्कार दुनिया के विकासशील अविष्कारों में से एक है क्योंकि इसने पूरी दुनिया की काया ही पलट कर रख दी. कंप्यूटर के आने से इंसानों की ज़िन्दगी आसान बना दी. Charles Babbage कंप्यूटर के अविष्कारक है.Charles Babbage को ही कंप्यूटर का जनक कहा जाता है जिन्होंने सन 1882 में पहला मैकेनिकल कंप्यूटर बनाया था.

कंप्यूटर के प्रकार (Type of Computer in Hindi)

कंप्यूटर को तीन आधारों पर बाटा गया है

कार्यप्रणाली के आधार पर (Based on Mechanism)
उद्देश्य के आधार पर (Based on Purpose)
आकार के आधार पर (Based on Size)

type of computer in hindi
कार्यप्रणाली के आधार पर (Based on Mechanism) – कार्यप्रणाली के आधार पर कंप्यूटर को तीन भागो में बता गया है.

Analog Computer –

वो कंप्यूटर जो भौतिक मात्राओ को मापकर उनका रिजल्ट अंको में प्रदान करते है Analog कंप्यूटर कहलाते है जैसे दाब (Pressure), तापमान (Tempressure), लम्बाई (Length), ऊचाई (Height) इत्यादि. Analog कंप्यूटर का मुख्य रूप से इस्तेमाल विज्ञान और इंजीनियरिंग क्षेत्रो में किया जाता है

Analog Computer in hindi

Digital Computer-

वो कंप्यूटर जो अंको कि गणना करते है डिजिटल कंप्यूटर कहलाते है. डिजिटल कंप्यूटर का इस्तेमाल व्यापार चलने, घर का वजट तैयार करने या किसी चीज का Calculation करके (Digit में) प्रश्न का उत्तर देना.

Digital Computer in hindi

Hybrid Computer –

वो कंप्यूटर जो Analog कंप्यूटर और डिजिटल कंप्यूटर कंप्यूटर के गुण होते है Hybrid कंप्यूटर कहलाते है जैसे पेट्रोल पंप की मशीन Hybrid कंप्यूटर है.

उद्देश्य के आधार पर (Based on Purpose) –उद्देश्य के आधार पर कंप्यूटर को दो भागो में बता गया है.

Special Purpose – ऐसे कंप्यूटर जिन्हें किसी विशेष कार्यों के लिए बनाया जाता है Special Purpose कंप्यूटर कहलाते है जैसे- अन्तरिक्ष विज्ञान, मौसम की जानकारी, उपग्रह संचालन, अनुसंधान एवं शोधकरण, यातायात नियंत्रण, कृषि और जीव विज्ञानं, चिकित्सा इत्यादि.

General Purpose – ऐसे कंप्यूटर जिन्हें सामान्य कार्यों के लिए बनाया जाता है General Purpose कंप्यूटर कहलाते है जैसे पत्र (Letter) लिखना, दस्तावेज (Document) बनाना, Document को प्रिंट करना इत्यादि.

आकार के आधार पर (Based on Size) –आकार के आधार पर कंप्यूटर को निम्न भागो में बता गया है.

Super Computer – सुपर कंप्यूटर बहुत तेजी से काम करने वाले कंप्यूटर होते है क्योंकि इनमे कई सारे C.P.U. लगे होते है जिससे एक से अधिक व्यक्ति एक साथ काम कर सकते है. ये कंप्यूटर बहुत महगे और आकार में बड़े होते है.

Micro Computer – माइक्रो कंप्यूटर का आकार बहुत छोटा होता है इसमें एक व्यक्ति आराम से काम कर सकता है. माइक्रो कंप्यूटर में Micro Processor लगाया जाता है जो बड़े कंप्यूटर के सामान ही काम कर सकता है.

Mini Computer – मिनी कंप्यूटर, माइक्रो कंप्यूटर से बड़े व काम करने में फ़ास्ट होते है. मिनी कंप्यूटर का इस्तेमाल बैंकिंग सेक्टर और यातायात संसाधनों में किया जाता है.

Main Frame Computer – Main Frame कंप्यूटर आकर में बड़े और एक साथ ज्यादा मात्र में डाटा प्रोसेसिंग करने की क्षमता होती है. इसका इस्तेमाल बड़ी बड़ी कंपनियों और गवर्मेंट सेक्टर में होता है.

Desktop Computer – ऐसा कंप्यूटर जिसे Desk पर लगाया जाता है डेस्कटॉप कंप्यूटर कहलाता है साथ ही इसमें C.P.U., मोनिटर (Monitor), कि-बोर्ड (keyboard), तथा माउस (Mouse) लगाये जाते है.

ये भी पढ़े-
माउस क्या है – What is Mouse in Hindi
मदरबोर्ड क्या है- What is Motherboard in Hindi
कीबोर्ड क्या है- What is Keyboard in Hindi

कंप्यूटर के मुख्य भाग – Parts of Computer in Hindi

कंप्यूटर बहुत सारे कॉम्पोनेन्ट से मिलकर बना होता है और यदि आपने कभी कंप्यूटर खोलकर देखा होगा तो इसके कॉम्पोनेन्ट बहुत जटिल दिखाई देते है. इसमें लगे सभी डिवाइस का बहुमूल्य योगदान होता है जिसके बिना कंप्यूटर चल नहीं सकता है.अब कंप्यूटर में लगे कॉम्पोनेन्ट के बारे में संक्षिप्त जानकारी हासिल करते हैं.

Motherboard

यह मुख्य circuit board होता है.इसका आकार एक पतली प्लेट के जैसे होता है लेकिन इससे बहुत से कॉम्पोनेन्ट जुड़े रहते है जैसे -CPU, Mouse, Printer,Keyboard, Monitor इत्यादि. मदर बोर्ड को कंप्यूटर का backbone भी कहा जाता है जिससे सभी डिवाइस प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष्य रूप से जुड़े रहते हैं.

CPU: (Central Processing Unit)

CPU कंप्यूटर का दिमाग भी कहा जाता है, ठीक उसी प्रकार से जैसे मनुष्य के शरीर में सोचने-समझने के लिए दिमाग होता है.CPU मदरबोर्ड के अन्दर लगा रहता है जो कंप्यूटर में होने वाली सभी गतिविधियों पर नजर बनाये रखता है.इसके साथ ही यूजर द्वारा दिए गए इनपुट को प्रोसीड करता है और फिर उसका आउटपुट प्रदान करता है.CPU को और अधिक विकसित करने के लिए ज्यादा ट्रांजिस्टर का लगाया जाता है जिससे काम करने की क्षमता और अधिक हो जाए.

Hard Disk Drive

हार्ड डिस्क स्टोरेज डिवाइस होता है जिसमे सॉफ्टवेर,फोटोज, वीडियोस,फाइल्स इत्यादि को लम्बे समय के लिए रखा जाता है.डाटा स्टोर करने के लिए हार्ड डिस्क बहुत कम कीमत में ज्यादा साइज़ का मिल जाता है.आज कल के कंप्यूटर में 1 TB हार्ड डिस्क होना आम बात है.

RAM

RAM का पूरा नाम होता है “Random Access Memory” जिसे अलग अलग नाम से जाना जाता है जैसे – Main Memory, Primary Memory, Volatile Memory. RAM डाटा को temporarily स्टोर करता है,एक बार कंप्यूटर बंद होने पर RAM में स्टोर डाटा खाली हो जाता है. यह कंप्यूटर को फ़ास्ट करता है यानी जितना अधिक GB का RAM होगा सिस्टम उतना ही फ़ास्ट चलेगा.

Power Supply Unit

यह एक इलेक्ट्रोनिक डिवाइस है जो Main Power Supply से power लेकर उसे जरुरत के अनुसार दूसरे कॉम्पोनेन्ट में Supply करता है.

कंप्यूटर के फायदे – Advantages of Computer in Hindi

कंप्यूटर का इस्तेमाल हम हर जगह करते है मानो जैसे यह हमारी जिंदगी का अहम् अंग हो. अब जानते है कंप्यूटर के कौन-कौन से फायदे हैं.
सस्ता यन्त्र होना – एक जमाना था जब कंप्यूटर इतने महगे होते थे की इसको खरीदना सबके बस की बात नहीं थी. लेकिन अब समय बदल गया है और कम कीमत पर बढ़िया कंप्यूटर/लैपटॉप मिल जाते है.आज का दौर ऑनलाइन शौपिंग का है जिससे घर बैठे अपने मन पसंद का कंप्यूटर घर में मागवा सकते हैं.

समय की बचत – जब से कंप्यूटर का दौर शुरू हुआ है इसने मानव जीवन को काफी आसन कर दिया है फिर चाहे सरकारी दफ्तर हो या प्राइवेट कम्पनी हर जगह कंप्यूटर से काम किया जाता है जिससे समय की काफी बचत होती है. अब मान लीजिये आपको कही पर पैसे भेजने है इसके लिए आपको बैंक जाकर लम्बी कतार में घंटो खड़े होना पड़ता था. लेकिन अब कंप्यूटर के आने से चंद मिनटों में कभी भी, कही से पैसे भेज सकते है और अपने समय की बचत कर सकते है.

विज्ञान के क्षेत्र में-  वैसे कंप्यूटर तो विज्ञान की ही दें है, कंप्यूटर की मदद से बड़े बड़े- रिसर्च किये जाते है. कंप्यूटर का यह फायदा होता है की अलग अलग देशो से वैज्ञानिक जुड़कर बड़े अविष्कार करते है.

चिकित्सा के क्षेत्र में – चिकित्सा के क्षेत्र में कंप्यूटर कर बहुत बड़ा योगदान है, इसकी मदद से बड़े बड़े इलाज संभव हो  पाते है. आज का युग डिजिटल युग है इसलिए डॉक्टर्स भी इन्टरनेट का सहारा लेकर बीमारी का पता लगाते है और फिर मरीज का इलाज करते है.

मनोरंजन के क्षेत्र में – कंप्यूटर के आने से फिल्म इंडस्ट्री काफी एडवांस हो गयी है. एक फिल्म को बनाने से लेकर रिलीज़ तक का सफ़र काफी आसान हो गया है. साथ ही दर्शको को भी पता  चल जाता है की कौन सी फिल्म आने वाली है और वो घर बैठ कंप्यूटर की मदद से सिनेमा हाल की टिकेट कर लेते है.

कंप्यूटर से नुकसान – Disadvantages of Computer in Hindi

जिस प्रकार से हर सिक्के के दो पहलू होते है ठीक उसी प्रकार से कंप्यूटर के फायदे है तो उससे नुकसान  होता है.

समय की बर्बादी – कुछ लोग कंप्यूटर मे Game, Movies देखने में इतना मग्न रहते है की उन्हें जरुरी कामो का ध्यान भी नहीं रहता. ऐसे में उनका समय बर्बाद हो जाता  है और जरुरी काम भी अधूरे रह जाते है.

आँखों का नुक्सान – जो लोगो ऑफिस या दफ्तर में लगातार कंप्यूटर में काम करते है उनकी आँखों पर बुरा असर पड़ता है और  फिर चश्मे का सहारा लेना पड़ता है.

सुरक्षा पर खतरा – आजकल सारा काम कंप्यूटर पर होता है इसलिए हर कोई अपने डॉक्यूमेंट कंप्यूटर पर स्टोर कर रखता है. ऐसे में यदि कोई वायरस कंप्यूटर में आ गया या किसी hackers ने कंप्यूटर को हैक कर लिया तो जरुरी दस्तावेज़ बर्बाद हो सकते हैं.

बेरोज़गारी की समस्या –  एक कंप्यूटर कई लोगो का काम आसानी से कर सकता है. इसीलिए आपने देखा होगा की सरकारी दफ्तर, प्राइवेट कंपनी, स्कूल कॉलेजो में बड़े बड़े कंप्यूटर लगाये जाते है.इसलिए बेजोगारी की समस्या बढती जा रही है.

कंप्यूटर का भविष्य (Future of Computer in HIndi)

लोगो की जरूरतों के हिसाब से दिन-प्रतिदिन कंप्यूटर में बदलाव किये जा रहे हैं. जो पहले के मुकाबले सस्ते और ज्यादा काम करने की क्षमता रखते हैं. पहले कंप्यूटर का आकार एक घर के बराबर था लेकिन अब के कंप्यूटर को हाथ में उठाकर आसानी से वर्क किया जा सकता है. आज कल Article Intelligence के ऊपर काफी जोर दिया जा रहा है जिसे फलस्वरूप कंप्यूटर खुदबखुद काम करने के लिए तर्पर रहेगा.

मुझे पूर्ण विश्वाश है मैं आप लोगो को कंप्यूटर क्या है (What Is Computer in Hindi) और Type of Computer in Hindi के बारे में पूरी जानकारी दी है और मैं आशा करता हु की आपको कंप्यूटर टेक्नोलॉजी के बारे में समझ आ गया होगा. यदि आपको इस पोस्ट से जुड़े किसी प्रकार का Doubt है तो बेझिझक कमेंट कर पूछ सकते है.

  • 5/5
  • 4 ratings
4 ratingsX
Very bad! Bad Hmmm Oke Good!
0% 0% 0% 0% 100%
About Vijay Singraul 101 Articles
नमस्कार दोस्तों, मैं HindiMePost का Chief Author और Founder हूँ | मुझे Blogging और Technology से जुडी जानकारियां पढने और दूसरों के साथ शेयर करने में अच्छा लगता है| आप भी इस ब्लॉग से जुड़े और रोजाना कुछ नया सीखें.

6 Comments

  1. Such a fabulous article. very helpful and informative. thanks for sharing with us. thanks a lot 🙂

  2. It’s an amazing post in support of all the web viewers; they will get benefit from it I am sure.

  3. Hey,
    Thanks for sharing this helpful & wonderful post. i really appreciate your hard work. this is very useful & informative for me.
    thanks for sharing with us. thanks a lot.

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*