लीवर में सूजन और गर्मी का आयुर्वेदिक इलाज

लीवर को लोग कई नामो से बोलते है है जैसे कि कलेजा,जिगर इत्यादि. लीवर शरीर का बहुत महत्वपूर्ण अंग है. जो शरीर में 500 ज्यादा कार्य करता है. जैसे कि खाना पचाना, शरीर में उर्जा का संचालन करना, हानिकारक पदार्थ को शरीर से बाहर निकलना, रोगों से लड़ने के लिए शरीर को ताकतवर बनाना. शारीरिक विकास करने के लिए लीवर अन्य पदार्थ बनाने में मदद करता है जैसे कि खून, ग्लूकोज, प्रोटीन इत्यादि. यदि लीवर में दर्द, इन्फेक्शन या कोई बीमारी है तो इसका तुरंत उपचार करना बहुत जरूरी है. आइये जानते है लीवर को ठीक करने के आयुर्वेदिक तरीके और देसी नुख्से कौन कौन से है.

liver me sujan ke desi nukhse

लीवर में सूजन का आयुर्वेदिक इलाज – Liver Ki Garmi Ka Ayurvedic Ilaj in Hindi

  1. हल्दी के प्रयोग से लीवर में सुजन को ठीक किया जा सकता है. हल्दी में नेचुरल एंटीसेप्टिक पदार्थ पाए जाते है. रात में सोने से पहले एक गिलास दूध में एक चम्मच हल्दी मिलाकर पीने से लीवर की गर्मी दूर हो जाएगी.
  2. गाजर और पालक का जूस दिन में दो बार पीने से लीवर से जुड़े सभी समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है.
  3. मुठेली लीवर में सूजन ठीक करने के लिए फायदेमंद है. मुठेली कि जड़ पीस लीजिये अब उबलते पानी में इस पाउडर को डाल दे और जब पानी ठंडा हो जाये तो इसे पी लीजिये.
  4. गेहूं के ज्वार में बहुत फायदेमंद पोषक तत्व पाए जाते है लीवर के बीमारी को ठीक करने के लिए. गेहूं के ज्वार का रस निकालकर पीने से लीवर के बीमारी ठीक हो जाएगी.
  5. हानिकारक पदार्थ शरीर से बाहर निकलने के लिए सेव का सिरका बहुत बढ़िया श्रोत है. 1 चम्मच शहर और 1 चम्मच सेब का सिरका 1 गिलास पानी में डालकर पीने से शरीर में ताकत मिलती है. इस प्रक्रिया को दिन में दो बार दोहराएँ. पेट कम करने के लिए सेब का सिरका खाना खाने से पहले पानी में मिलकर पिए पेट कम हो जायेगा.
  6. 100-100 ग्राम रोजाना प्याज खाने से लीवर से जुडी समस्याओ का समाधान हो जायेगा.
  7. आमले में भरपूर मात्रा में विटामिन c पाई जाती है जो लीवर को काम करने में मदद करता है. आमला का चूर्ण या आमला का रस प्रतिदिन 2-3 बार लेने से लीवर के समस्या दूर हो जाएगी.
  8. 1 गिलास पानी में 1 नीबू का रस निचोड़ लीजिये अब इसमें थोडा सेंधा नमक मिलाकर पीने से लीवर में सूजन तथा कमजोरी दूर हो जाएगी इस प्रक्रिया को दिन में दो बार करे.
  9. नीबू और पपीते का रस मिलकर पीने से लीवर के गर्मी दूर हो जाएगी. रोजाना दिन में तीन बार इस प्रक्रिया को 1 महीने तक करे जरूर लीवर के समस्या से छुटकारा मिलेगा.
  10. 1 गिलास लस्सी में थोडा सा काली मिर्च पीसकर, हींग और जीरा मिलाकर खाना खाने के बाद पीने से लीवर के गर्मी दूर हो जाएगी.

लिवर का कार्य क्या है : Function of Liver in Hindi

भोजन के पाचन क्रिया में लिवर का अहम् भूमिका होता है। कार्बोहाइड्रेट्स को लिवर ग्लाइकोजन के रूप में शरीर में स्टोर कर रखता है और जरुरत पड़ने पर इसे ग्लूकोज के रूप में देता है। लिवर शरीर को नुकसान पहुचाने वाले पदार्थों को निष्क्रिय करता है और प्रोटीन बनाता है जिस से हमारा शारीर रक्तस्त्राव और इंफेक्शन से बचा रहता है। शारीरिक विकास के लिए लिवर विभिन्न प्रकार के आवश्यक पदार्थ बनाने में मदद करता है जैसे ग्लूकोज, खून, प्रोटीन. पित्त.

लिवर के रोग : Liver Diseases

वायरल हैपेटाइटिस,पीलिया,(जोडिंस), लिवर सिरोसिस, फैटी लिवर, लिवर कैंसर, लिवर एबसेस और लिवर में सूजन आना लिवर में होने वाली कुछ प्बीरमुख बीमारियाँ है.

यह भी पढ़े-
अस्थमा का देसी इलाज
पथरी का असरदार आयुर्वेदिक नुख्से

लिवर की कमजोरी का कारण क्या है – Cause of Liver Weakness in Hindi

  • यदि खाने पीने का सही तरीका न हो तो लीवर से जुडी समस्याये हो सकती है.
  • गैस- कब्ज कि समस्या के कारण.
  • ज्यादा फ़ास्ट फ़ूड खाने से लीवर के समस्याओ से जूझना पड़ सकता है.
  • शराब, धूम्रपान या नशा के कारण.
  • ज्यादा एंटीबायोटिक दवाइयां और नकली दवाइयां खाने से.
  • अत्यधिक तेल और मसालेदार वाली चीजो को खाने से.

लिवर की सूजन कैसे कम करें – Liver Me Sujan Ke Upay

  • ज्यादा मात्रा में पानी  पिए.
  • लस्सी का सेवन करे.
  • मिर्च मसाला कम से कम खाए.
  • तली हुई चीजें और घी खाने से परहेज करे.
  • चीनी और अन्य मीठी चीजें खाने से दूर रहें.
  • रोटी की जगह फल और हरी सब्जियों का अधिक सेवन करें.
  • सब्जियों में पालक, लौकी, टमाटर, करेला, गाजर भरपूर मात्रा में खाये.
  • फलों में जामुन, पपीता, सेब, आंवला, लीची का सेवन करे.

लिवर को स्वस्थ रखने के उपाय – Liver Ko Theek Karne Ke Upay

  • नकली दवा खाने से बचे.
  • 1 दिन में 2-4 लीटर पानी जरुर पियें.
  • धूम्रपान और शराब का सेवन न करे.
  • रोजाना योगा- व्यायाम और एक्सरसाइज करे.
  • अत्यधिक मसालेदार और तला हुआ खाने से बचे.
  • बिना किसी कारण के एंटीबायोटिक दवाई न खाएं.

About Vijay Singraul

नमस्कार दोस्तों, मैं HindiMePost का Chief Author और Founder हूँ | मुझे Blogging और Technology से जुडी जानकारियां पढने और दूसरों के साथ शेयर करने में अच्छा लगता है| आप भी इस ब्लॉग से जुड़े और रोजाना कुछ नया सीखें.

View all posts by Vijay Singraul →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *