ब्लूबेरी के फायदे, उपयोग और नुकसान | Blueberry in Hindi

Blueberry in Hindi – हम सब भलीभांति जानते हैं कि फल खाने से हमारे स्वस्थ को कई लाभ मिलते हैं। आपने भी अपने जीवन में कई तरह के फलो का सेवन किया होगा लेकिन कुछ फल ऐसे भी है जिनका शायद ही कभी सुना हो। जी हाँ हम बात कर रहें हैं ब्लूबेरी (blueberry) की जिससे नीलबदरी भी कहा जाता है।

ब्लूबेरी फल दिखने में जामुन की तरह होता है। और सेहत के लिए बहुत ही गुणकारी माना जाता है। आज के इस पोस्ट में हम विस्तार से जानेगे कि ब्लूबेरी क्या है, इसके फायदे और इसका इस्तेमाल कैसे कर सकते हैं।

ब्लूबेरी क्या है ( What is Blueberry in Hindi)

blueberry in hindi

ब्लूबेरी का पौधा झाड़ीनुमा होता है जिसकी लम्बाई लगभग चार सेंटीमीटर होती है। इसके पौधे में सफ़ेद, लाल, पीले रंग के फूल लगते हैं। ब्लूबेरी फल आकार में छोटा और गोल होता हैं। यह खाने में इसका स्वाद खट्टा-मीठा और रसदार फल होता हैं।

कच्चे ब्लूबेरी फल का रंग पीला और हरा होता है। और पकने के बाद इसका रंग नीला हो जाता है। ब्लूबेरी का वैज्ञानिक नाम “वैक्सीनियम को रिबोसोम” है और हिंदी में इसे नील बदरी कहा जाता है।

ब्लूबेरी की खेती

भारत में ब्लूबेरी खाने का प्रचलन बहुत कम है और इसका कारण है कि भारत की जलवायु ब्लूबेरी के उत्पादन के लिए उपयुक्त नहीं है। ब्लूबेरी का उत्पादन करने के लिए ठण्ड जलवायु अच्छी मानी जाती है। ब्लूबेरी का उत्पादन कई देशो में किया जाता है जैसे अमेरिका, कनाडा, पोलेंड, जर्मनी,निदरलेंड,मेक्सिको, फ्रेंस,स्पिन, स्वीडन, न्यूज़ीलैण्ड आदि।

पिछले कुछ वर्षों में ब्लूबेरी मांग पूरी दुनियाभर में अधिक हो गई है। विश्व में ब्लूबेरी का सबसे अधिक उत्पादन अमेरिका में किया जाता है। यहाँ पर हर साल लगभग 240 हजार टन ब्लूबेरी का उत्त्पादन किया जाता है। इस उत्त्पादन का 50% ताजा फल के रूप बाज़ार में भेज दिया जाता है और बाकी का 50% सुखाकर स्टोर कर लिया जाता है।

कनाडा ब्लूबेरी के उत्पादन में दूसरे स्थान पर है। यहाँ पर ब्लूबेरी की सबसे बड़ी फसल मानी जाती है। वहीं ब्लूबेरी के उत्पादन की लिस्ट में पोलेंड तीसरे स्थान है। पोलेंड पर हर साल लगभग 13 हजार टन ब्लूबेरी का उत्पादन किया जाता है। यहाँ पर उत्पादन का ज्यादातर हिस्सा दूसरे देशों में निर्यात कर दिया जाता है।

ब्लूबेरी के फायदे – Benefits of Blueberry in Hindi

ब्लूबेरी खाने में स्वादिष्ट होने के साथ साथ सेहत के लिहाज से भी बहुत फायदेमंद होता है। तो चलिए जानते हैं कि ब्लूबेरी के फायदे क्या क्या फायदे होते हैं।

1.) ब्लूबेरी के फयदे कोलेस्ट्रॉल नियंत्रण में

शरीर में कोलेस्ट्रॉल का स्तर बढ़ने से कई सारी समस्याएं होने लगती है। बड़े हुए कलेस्ट्रॉल को प्राकृतिक रूप से कम करने के लिए ब्लूबेरी का इस्तेमाल किया जा सकता है।

ब्लूबेरी में एंथोसायनिन और फाइबर पाया जाता है, जो ख़राब कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मदद करता है साथ ही अच्छे कलेस्ट्रॉल बढ़ाने में भी मदद करता है।

(और पढ़ें – कोलेस्ट्रॉल कम करने का रामबाण इलाज)

2.) ब्लूबेरी का उपयोग करें मोटापा घटाने में

मोटापा एक गंभीर समस्या है जिसको कम करने के लिए लोग कई सारे हथकंडे अपनाते हैं लेकिन सफलता हाथ नही लगती है। अगर आप भी बढ़े हुए वजन से परेशान है और इसे कम करना चाहते हैं तो ब्लूबेरी का सेवन कर सकते हैं।

ब्लूबेरी में फाइबर भरपूर मात्रा में पाया जाता है जिससे आपका पेट भरा हुआ महसूस होता है और आप अतिरिक्त भोजन करने से बच जाते हैं। और धीरे-धीरे वजन कम होने लगता है।

(और पढ़ें – मोटापा कम करने का रामबाण उपाय)

3.) ब्लूबेरी के फयदे मधुमेह नियंत्रण में

शुगर के गंभीर समस्या है जिससे लाखों लोग ग्रसित रहते हैं। शुगर से ग्रसित रोगियों के लिए ब्लूबेरी एक गुणकारी औषधी है।

ब्लूबेरी में एन्थोसायनिन नामक यौगिक पाया जाता है जो एंटीडायबिटिक के रूप में काम करता है। ब्लूबेरी में मौजूद एंटीडायबिटिक गुण शरीर में बड़े हुए अतरिक्त रक्त शर्करा के स्तर को कम करने में मदद करता हैं। इसके लिए ब्लूबेरी का जूस मधुमेह रोगियों के लिए बहुत फायदेमंद होता है।

(और पढ़ें – शुगर को जड़ से खत्म करने के उपाय)

4.) ब्लूबेरी के लाभ आँखों के लिए

आँखे हमारे शरीर का सबसे अनमोल अंग होता है। इसलिए इन्हें स्वस्थ रखने में हमारी पहली प्राथमिकता होनी चाहिए। आँखों को स्वस्थ रखने और आँखों की रोशनी बढ़ाने के लिए ब्लूबेरी बहुत कारगर माना जाता है।

ब्लूबेरी में एंथोसायनिन नामक गुण पाया जाता है जो आंखों से जुड़ी बीमारियों के खतरे को कम करने में मदद करता है।

(और पढ़ें – आंखों की रोशनी बढ़ाने के घरेलू उपाय)

5.) ब्लूबेरी के फायदे स्वस्थ हृदय के लिए

हृदय हमारे शरीर का महत्वपूर अंग होता है जो 24 घंट काम करता है। आज के समय में ह्रदय रोग का खतरा दिन प्रतिदिन बढ़ रहा है। ह्रदय रोग होने का कारण मुख्य रूप से ख़राब दिनचर्या और शरीर में पौष्टिक तत्वों की कमी को माना जाता है।

ब्लूबेरी का इस्तेमाल ह्रदय को स्वस्थ बनाने के लिए किया जा सकता हैं। ब्लूबेरी में मौजूद उच्च फाइबर और अन्य एंटीऑक्सिडेंट्स तत्व हृदय रोग का इलाज करने के लिए बहुत अच्छी फ़ूड सप्लीमेंट मानी जाती है।

6.) ब्लूबेरी के फायदे मुहाँसे दूर करने में

मुंहासों की समस्या से छुटकारा पाने के लिए ब्लूबेरी का इस्तेमाल किया जा सकता है। ब्लूबेरी में सैलिसिलेट्स एसिड पाया जाता है जो मृत त्वचा को हटाने, रोम छिद्र को खोलने और बैक्टीरिया के लड़ने में सक्षम होता है। मुहाँसों को दूर करने के लिए ब्लूबेरी पैक बनाकर इस्तेमाल किया जा सकता है।

इसके लिए नींबू के रस और शहद के साथ ब्लूबेरी को मिलाकर पेस्ट बना लें। अब इस पेस्ट को अपने चेहरे पर लगाएं और 20 मिनट तक ऐसे ही लगा रहने दें। इसके बाद गुनगुने पानी के साथ धो लें। इस प्रक्रिया को हप्ते में एक बार कर सकते हैं।

(और पढ़ें – चेहरे से कील मुंहासे हटाने के घरेलू उपाय)

7.) ब्लूबेरी के गुण करे हड्डियों को मजबूत

शरीर को स्वस्थ रखने में हड्डियों की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। स्वस्थ और मजबूत हड्डियाँ होने से मनुष्य कठिन परिश्रम करने में सक्षम होता है। वहीँ कमजोर हड्डियों से ग्रसित मनुष्य अपने आप को लाचार और असहाय महसूस करता है।

हड्डियों को स्वस्थ और निरोगी बनाने के लिए ब्लूबेरी का इस्तेमाल किया जा सकता है। ब्लूबेरी में पॉलीफेनॉल्स नामक तत्व पाया जाता है जो हड्डियों के मजबूत बनाने और ऑस्टियोपोरोसिस (कमजोर हड्डियां) की समस्या से बचा जा सकता है।

8.) ब्लूबेरी के फायदे इम्युनिटी बढ़ाने में

ब्लूबेरी आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ावा दे सकती है और संक्रमण को रोक सकती है। जब आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली मजबूत होती है, तो आप जुकाम, बुखार, और अनगिनत अन्य रोगों से बच जाते हैं जो कि बैक्टीरिया और वायरस द्वारा फैल जाते हैं।

ब्लूबेरी में फाइटोकेमिकल्स तत्व पाए जाते हैं, जो रोग प्रतिरोधक कोशिकाओं की क्षमता को बढ़ाने में मदद करते हैं। साथ ही इसमें मौजूद विटामिन सी जो इम्युनिटी बूस्ट करने में लाभदायक होता है।

(और पढ़ें – इम्युनिटी पावर कैसे बढ़ाएं)

9.) ब्लूबेरी करे याददाश्त को तेज

बढ़ती उम्र के साथ याददाश्त कमजोर होना आम बात है। लेकिन आजकल युवा पीढी भी भूलने की समस्या से परेशान है। ब्लूबेरी मानसिक विकास के लिए किसी वरदान से कम नहीं है और याददाश्त बढ़ाने में भी मदद करता है।

ब्लूबेरी में मौजूद फाइटो न्यूट्रीएंट मस्तिष्क की सभी कोशिकाओं को सक्रिय कर देता है जिससे याददाश्त में सुधार आने लगता है। इसके आलावा ब्लूबेरी में पाए जाने वाला एंथोसायनिन गुण मस्तिष्क की कोशिकाओं में रक्त संचार को बेहतर बनाने में मदद करता है।

10.) ब्लूबेरी के फायदे बालों के लिए

बाल सिर का ताज होते हैं। लेकिन वर्तमान समय में बहुत सारे लोग बालो से जुड़ी समस्याओं से जूझ रहें हैं जैसे सफ़ेद बाल, बालों का झड़ना, डैंड्रफ आदि। बालों के विकास और उनकी मजबूती बनाये रखने के लिए ब्लूबेरी को इस्तेमाल किया जा सकता है।

ब्लूबेरी को विटामिन-ए, विटामिन-सी और विटामिन-ई भरपूर मात्रा में पाई जाती है। ये पोषक तत्व आपके बालों को मजबूत, घना और डैंड्रफ से बचाते हैं। इसके लिए आप ब्लूबेरी का रस और जैतून का तेल दोनों को मिलाकर बालों पर लगा सकते हैं।

(और पढ़ें – झड़ते हुए बालों को रोकने के उपाय)

ब्लूबेरी का उपयोग – How to Use Blueberry in Hindi

किसी भी चीज का फायदा तभी मिलता है जब हम उसका इस्तेमाल सही तरीके से करते हैं। तो चलिए अब जानते हैं कि ब्लूबेरी उपयोग कैसे कर सकते हैं।

  • ब्लूबेरी को आप सीधा धोकर भी खा सकते हैं।
  • ब्लूबेरी का जूस बनाकर पी सकते हैं।
  • ब्लूबेरी को आप स्मूदी के रूप में खा सकते हैं।
  • ब्लूबेरी को केक के ऊपर लगाकर सेवन कर सकते हैं इससे केक का स्वाद भी बढ़ जाता है।
  • ब्लूबेरी को अन्य फलों के साथ मिलाकर या सलाद रूप में खा सकते हैं।

ब्लूबेरी के पौष्टिक तत्व – Blueberry Nutritional Value in Hindi

ब्लूबेरी में कई प्रकार के पौष्टिक तत्वों पाए जाते हैं जैसे फाइबर, विटामिन सी, विटामिन बी 6, फोलेट, पोटेशियम, कार्बोहाइड्रेट, सोडियम, मैंगनीज, कॉपर, कैल्शियम, आयरन, मैग्नीशियम, फैटी एसिड सैचुरेटेड, फैटी एसिड पॉलीअनसैचुरेटेड, फैटी एसिड मोनोअनसैचुरेटेड, थियामिन, फोलेट, विटामिन-ए, विटमिन ई, पानी, ऊर्जा, प्रोटीन, सेलेनियम आदि तत्व पाए जाते हैं। तो चलिए जानते हैं कि 100 ग्राम ब्लूबेरी में पोषक तत्वों की कितनी मात्रा मौजूद होती है।

पोषक तत्व प्रति 100 ग्राम
प्रोटीन 0.74 ग्राम
पोटैशियम 77 मिलीग्राम
कैल्शियम 6 मिलीग्राम
नियासिन 0.418 मिलीग्राम
कार्बोहाइड्रेट 14.49 ग्राम
विटामिन सी 9.7 मिलीग्राम
विटामिन-ई 0.57 मिलीग्राम
विटामिन-के 19.3 माइक्रोग्राम
सोडियम 1 मिलीग्राम
मैग्नीशियम 6 मिलीग्राम
जिंक 0.16 मिलीग्राम
फॉस्फोरस 12 मिलीग्राम
ऊर्जा 240 किलोजूल
फाइबर 2.4 ग्राम
थायमिन 0.037 मिलीग्राम

ब्लूबेरी के नुकसान – Side Effects of Blueberry in Hindi

ब्लूबेरी खाने के कई फायदे है , लेकिन अधिक मात्रा में इसका सेवन करने से आपके स्वस्थ के लिए हानिकारक भी हो सकता है। तो चलिए जानते हैं ब्लूबेरी के सेवन से नुकसान क्या-क्या हैं।

  • ब्लूबेरी में विटामिन K भरपूर मात्रा में पाया जाता है इसलिए इसका अधिक सेवन करने से शरीर के रक्त को पतला कर सकता है।
  • ब्लूबेरी का सेवन करने से कुछ लोगो को एलर्जी की समस्या भी हो सकती है।
  • ब्लूबेरी में फाइबर अधिक मात्रा में पाया जाता है इसलिए ज्यादा मात्रा में इसका सेवन करने से पेट में गैस और दस्त की समस्या हो सकती हैं।
  • गर्भवती महिलाओ पर ब्लूबेरी का सेवन करने से पहले किसी डाक्टर से परामर्श जरूर लेनी चाहिए।
Rate this post

1 thought on “ब्लूबेरी के फायदे, उपयोग और नुकसान | Blueberry in Hindi”

  1. प्रिय महोदय!
    ऐसा अद्भुत लेख जो मुझे सबसे अच्छा लगा और इस लेख को पढ़कर मुझे बहुत खुशी हुई।
    Mamtaskyt(botldacare)

    Reply

Leave a Comment