खुबानी के फायदे, उपयोग और नुकसान | Apricot in Hindi

कुछ फल ऐसे होते है जिनका सेवन करने से हमारा शरीर स्वस्थ और कई बिमारियों से लड़ने में सक्षम होता है. खुबानी भी एक ऐसा फल है जिसमे कई लाभकारी और औषधिय गुण पाए जाते हैं.अपने खट्टे मीठे स्वाद से खुबानी दुनियाभर में काफी प्रचलित है. इसका खूबसूरत आकार और खाने में स्वादिष्ट किसी को भी अपना दीवाना बना सकता है.

खुबानी गुठली वाला फल होता है जो देखने में बेर जैसा दिखाई देता है.खुबानीखास बात यह है कि इस कच्चा और सूखे मेवे दोनों रुपों में सेवन किया जा सकता है.खुबानी पौष्टिक तत्वों से परिपूर्ण होने के साथ -साथ इसके इस्तेमाल आयुर्वेद औषधियां के रुप में किया जाता है.तो चलिये आगे विस्तार से जानते हैं कि खुबानी क्या है (Apricot in Hindi) और कौन सी बीमारियों के उपचार में इस्तेमाल किया जाता है.

विषय सूची

खुबानी क्या है – Apricot Meaning in Hindi

apricot meaning in hindi

खुबानी एक किस्म का गुठली वाला फल है जिसका रंग हल्का पीला, लाल या नारंगी रंग का होता है. खुबानी का छिलका थोड़ा खुरदुरा और मुलायम होता है और खाने में स्वाद हल्का खट्टा-मीठा होता है. भारत में खुबानी की खेती लगभग 3000 वर्ष पहले ही हुई थी. खुबानी के पेड़ की लम्बाई लगभग 10-12 मीटर होती है और इसके पेड़ की तने और पत्ते काफी घने होते है.

खुबानी में विटामिन,प्रोटीन, फाइबर,मिनरल्स, एंटीऑक्साइड और कई पोषक तत्त्व पाए जाते है. खुबानी को फ्रूट्स लवर या ज्यादा फल खाने वाले लोगो की पहली पसंद होती है. खुबानी का सेवन करने से कई स्वास्थवर्धक लाभ और कई बिमारियों से छुटकारा पाने में मदद मिलती है.

खुबानी के फायदे – Khubani Ke Fayde

खुबानी में कई पोषक तत्व पाए जाते है जो सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होते हैं.तो आइये जानते हैं हमारी सेहत के लिए खुबानी के कौन-कौन से फायदे होते है.

1# सूखी खुबानी के फायदे आँखों के लिए

आंखें हमारे शरीर का महत्वपूर्ण अंग होता है इसलिए आँखों की देखभाल करने में हमारी पहली प्राथमिकता होनी चाहिए. आज कई लोगो की आंख्ने कमजोर या आँखों में कम दिखाई देता है और उसका कारण हो सकता है खराब दिनचर्या, शरीर पोषक तत्वों की कमी और दूषित वातावरण  इत्यादि रोशनी कम के कारण हो सकते हैं.

आंखों की रोशनी बढाने के लिए खुबानी का सेवन किया जा सकता है.खुबानी में विटामिन और बीटा कैरोटीन की प्रचुर मात्रा पायी जाती है जो आखों की कमजोरी दूर करके रोशनी में तेज करती है.

2# खुबानी का तेल का लाभ कान दर्द में

कान का दर्द एक आम समस्या है,जो बच्चो से लेकर युवा, बुजुर्गो को तकलीफ दे सकता है. कभी-कभी दर्द बहुत असहनीय या ज्यादा लम्बे समय के लिए होता है ऐसे में इसका इलाज करना बहुत आवश्यक  हो जाता है.खुबानी का तेल कान दर्द के लिए रामबाण इलाज है. इसके लिए 1-2 बूंद खुबानी के का तेल पीड़ित के कान में डालने से कान के दर्द कम हो जाता है.

3# खुबानी के फायदे एनीमिया को दूर करने में

शरीर में खून की कमी होने से एनीमिया रोग हो जाता है. पुरुषों की तुलना में महिलाओं को एनीमिया रोग ज्यादा ग्रसित करता है और इसका कारण है हर महीने पीरियड्स के दौरान महिलायों का खून गिरना. एनीमिया से ग्रसित व्यकित को कई शारीरिक समस्याएं होने लगती है जैसे थकान, पीली त्वचा, तेज या अनियमित दिल की धड़कन, ऊर्जा की कमी इत्यादि.

एनीमिया को दूर करने के लिए खुबानी को अपने आहार में शामिल कर सकते हैं.खुबानी में लोहा,तांबा और विटामिन्स के तत्त्व पाए जाते हैं जो शरीर में हीमोग्लोबिन की कमी को पूरा करता है जिससे एनीमिया को दूर होता है.

4# खुबानी के गुण करें हड्डियों को मजबूत

उम्र ढलने के साथ-साथ हड्डियां कमजोर होना आम बात हैं. लेकिन युवा अवस्था में यदि हड्डियाँ कमजोर हो जायें तो चिंता का विषय है.हड्डियों की कमजोरी को ‘ऑस्टियोपोरोसिस’ कहा जाता है.ऑस्टियोपोरोसिस दोनों महिला और पुरुष को हो सकता है.हड्डियां कमजोर होने के कुछ कारण हो सकते हैं जैसे अनुवांशिकता, पोषण तत्वों की कमी, धूम्रपान आदि.

हड्डियों की मजबूती बनाये रखने के लिए खुबानी का सेवन किया जा सकता है.खुबानी में पोटेशियम और मैग्नीशियम की प्रचुर मात्रा पायी जाती है जो हड्डियों को स्वस्थ रखने में अहम भूमिका निभाते हैं. नियमित रूप से खुबानी का सेवन करने से हड्डियों से जुडी सभी समस्यायों को दूर किया जा सकता है.

5# खुबानी के औषधीय गुण करें मधुमेह का इलाज

डायबिटीज एक खतरानाक बीमारी है जिसमें पीड़ित के शरीर में लंबे समय तक उच्च रक्त शर्करा का स्तर होता है. एक शोध में यह बात सामने आयी है कि यदि किसी व्यक्ति को मधुमेह या शुगर की बीमारी है तो ज़िन्दगी भर उसके साथ ही रहेगी. शुगर को जड़ से ख़त्म नहीं किया जा सकता बल्कि इसे नियंत्रित करना संभव है.शुगर की समस्या होने पर इसका तुरंत इलाज करना चाहिए नहीं तो इसके घातक परिणाम प्रदर्शित हो सकते है.

मधुमेह की समस्या से बचने के लिए खुबानी का सेवन किया जा सकता है.खुबानी में फाइबर और एंटीऑक्सीडेंट जैसे गुणकारी तत्त्व पाए जाते हैं जो शरीर में उच्च रक्त शर्करा के स्तर को कम करते है.

(और पढ़ें – शुगर को जड़ से खत्म करने के उपाय – Sugar Kam Karne Ke Upay)

6# खुबानी खाने के फायदे अस्थमा रोगी के लिए

अस्‍थमा एक घातक बीमारी है जिसमें रोगी के सांस नली में सिकुड़न और सूजन आ जाती है और सांस लेने में तकलीफ होने लगती है. यह बीमारी बच्चों से लेकर युवा, बुजुर्ग किसी को भी अपने चपेट में ले सकती है.सर्दी के मौसम में अस्‍थमा के मरीजो को ज्यादा तकलीफ होती है.आपको जानकारी होगी की कभी-कभी अस्थमा की समस्या बढ़ने से पीड़ित की मृत्यु भी हो जाती है.

खुबानी का सेवन सांस से जुड़ी समस्याओं को दूर किया जा सकता है.खुबानी में लाइकोपीन कैरोटीनॉयड और एंटीऑक्सीडेंट तत्त्व पाए जाते है जो अस्थमा नियंत्रित करने में मददगार साबित हो सकता है.

(और पढ़ें – अस्थमा के घरेलू उपचार- Saans Phoolne Ka Desi Ilaj)

7# खुबानी का तेल है लाभकारी त्वचा के लिए

महिला हो या पुरुष सुन्दर और स्वस्थ त्वचा पाना सभी की चाहत होती है.अनियमित दिनचर्या और गलत खान-पान से त्वचा संबंधी रोग होने लगते है जैसे मुहासे,झुर्रियां, त्वचा सूखना आदि.त्वचा को खूबसूरत और स्वस्थ बनाने में खुबानी का इस्तेमाल करना फायदेमंद साबित हो सकता है. खुबानी में एंटीऑक्सीडेंट और एंटी-एजिंग गुण पाए जाते है जो त्वचा को समय से पहले बूढ़ा होने से रोकना, त्वचा के दाग-धब्बों को जड़ से खत्म करने में मदद करता है.

(और पढ़ें – चेहरा साफ करने के उपाय – Gora Hone Ke Gharelu Nuskhe)

8# खुबानी के बीज के फायदे कब्ज के लिए

आज के समय में कब्ज ऐसी आम समस्या है, जिससे लगभग हर को कभी न कभी ग्रसित हो जाता है. कब्ज पाचन तंत्र से जुड़ी बीमारी है, जिसके कारण कई समस्याएं होने लगती है जैसे दिनभर गैस, एसिडिटी, पेट में भारीपन, सिरदर्द और मल त्यागने में कठिनाई. कब्ज की  समस्या किसी को भी और किसी भी उम्र में हो सकती है. कभी कभी यह समस्या कुछ समय के लिए होती है, तो कई बार लंबे समय आपको इस समस्या को झेलना पड़ सकता है.

यदि आप भी कब्ज की समस्या से परेशान है तो चिंता करने की कोई बात नहीं है. खुबानी का इस्तेमाल करने से कब्ज की समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है.खुबानी में फाइबर भरपूर मात्रा में पाया जाता है पाचन क्रिया को मजबूत बनाने में मदद करता है. फलस्वरूप कब्ज की समस्या दूर होती है.

(और पढ़ें – सुबह उठते ही पेट साफ होने के उपाय – Pet Saaf Karne Ke Gharelu Upay)

9# खुबानी का इस्तेमाल मोटापा कम करने के लिए

आज के समय में मोटापा एक बहुत बड़ी समस्या बन गयी है, जिससे सभी उम्र के लोग बच्चा,बूढ़ा,जवान जूझ रहे है. मोटापे की वजह से शरीर थुलथुला  हो जाता है  जिसके कारण व्यक्ति जल्दी थक जाता है, भागदौड़ करने में असमर्थ,चलने फिरने में भी परेशानी और अन्य बीमारियाँ घेरने लगती है.मोटापा न तो एक दिन में होता है और न ही एक दिन में कम किया जा सकता है.

मोटापा कम करने के लिए आप खुबानी का इस्तेमाल कर सकते हैं.खुबानी में कैलोरी की मात्रा कम होती है और फाइबर भरपूर मात्रा में पाया जाता है जो चपाचय दर में सुधार करता है और हानिकारक पदार्थो को शरीर से बाहर निकालने में मदद करता है.इसलिए मोटापा को कम करने के लिए खुबानी का सेवन करने से असरदार फायदे होते हैं.

(और पढ़ें – बढ़ा हुआ पेट कम करने के उपाय – Pet Kam Karne Ke Upay)

10# खुबानी का फायदा हृदय को स्वस्थ रखने में

हृदय हमारा 24 घंटे काम करता है. इसकी धड़कन ही हमें जिंदा होने का अहसास दिलाती है.इसके साथ ही हृदय पूरे शरीर में रक्त संचार प्रवाहित करने में मदद करता है.इसलिए शरीर को स्वस्थ रखने के लिए हृदय का स्वस्थ रहना बहुत आवश्यक होता है. अनियमित दिनचर्या और गलत खान पान की वजह से हमारे शरीर की साथ-साथ हृदय को भी नुकसान पहुच सकता है.

खुबानी एक अच्छा उपाय है जो आपको हृदय सम्बंधित रोगों से बचाने में मदद करता है.खुबानी में पोटेशियम और फाइबर की उच्च मात्रा पायी जाती है जो हृदय को स्वस्थ रखने में लाभकारी होते हैं.

11# खुबानी के फायदे शरीर में द्रव का संतुलन बनाने में

शरीर के लिए पानी बहुत आवश्यक है. इंसान बिना खाए जीवित रह सकता है, लेकिन बिना पानी के जीवन संभव नहीं.शरीर में पानी की कमी के कारण कई समस्याओं होने लगती है जिनमे से निर्जलीकरण यानी डिहाइड्रेशन को सबसे खतरानाक माना गया है.द्रव संतुलन का एक सिद्धांत है कि शरीर से निकाली गई पानी की मात्रा ( पसीना, पेशाब, मलत्याग के रूप में), शरीर में में ली गई पानी की मात्रा (भोजन और पानी पीने) के बराबर होनी चाहिए.

खुबानी का सेवन करने में शरीर में द्रव का संतुलन बना रहता है. खुबानी में सोडियम और पोटेशियम की प्रचुर मात्रा पायी जाती है जो इलेक्ट्रोलाइट के रूप में काम करके द्रव का संतुलन बनाने में मदद करते हैं.

12# खुबानी का इस्तेमाल कैंसर के उपचार में

कैंसर एक जानलेवा बीमारी है.जब किसी व्यक्ति के शरीर की कोशिकाएं अनियमित रूप से बढ़ने लगती है तो उसे कैंसर रोग कहा जाता है. .जिस व्यक्ति को कैंसर रोग हो जाता है वह अपने जीने की उम्मीद छोड़ देता है, क्योंकि कैंसर का इलाज इतना ज्यादा महंगा होता है कि किसी आम लोग इसका भार नहीं उठा पाते. इसलिए इसके शुरुआती दौर में ही लक्षणों का पता लगाकर इलाज किया जाए तो व्यक्ति कैंसर के खतरे से बाहर निकाल सकता है.

खुबानी एक छोटा सा फल (apricot fruit) होता है लेकिन इसके अन्दर कई ऐसे पौष्टिक तत्वों मौजूद होते है जो कैसर जैसे जानलेवा बीमारी को मात देने की क्षमता रखता है.खुबानी में विटामिन ए और विटामिन सी की प्रचुर मात्रा पायी जाती है जो कैसर के उपचार में फायदेमंद होता है.

13# खुबानी के बीज के फायदे लाभ पेट के अल्सर में

पेट के अल्सर को गैस्टिक अल्सर भी कहा जाता है. ये समस्या किसी भी उम्र के लोगो को हो सकती है लेकिन पुरुषो की तुलना में महिलायों को अल्सर की समस्या ज्यादा देखने को मिलती है. पेट में अल्सर होने के कारण शरीर में कई परेशानियाँ होने लगती है जैसे भूख न लगना,पेट फूलना,सीने में जलन, कब्ज, जी मिचलाना, उल्टी आदि.

खुबानी का सेवन करना आपको अल्सर की समस्या छुटकारा दिला सकता है.खुबानी में एंटीऑक्सीडेंट तत्त्व पाए जाते है जो शरीर में फ्री-रेडिकल्स के प्रभाव को कम करने में मदद करते है और अल्सर की समस्या से बचाव करते है.

14# सूखी खुबानी खाने का फायदा मसल्स निर्माण में

फिट बॉडी और अच्छी मसल्स आज के समय में सभी की जरूरत बन चुकी है. अच्छे मसल्स और हेल्दी शरीर वाला व्यक्ति हर किसी को अपनी ओर आकर्षित करता है. और आजकल की युवा पीड़ी में इसका ज्यादा क्रेज ज्यादा देखने को मिल रहा है. अपनी मसल्स बनाने के लिए वो जिम में घंटो पसीना बहाते है और अलग-अलग प्रकार की डाइट भी लेते हैं.

खुबानी का सेवन करने से बीमारियों तो दूर होती है, इसके साथ ही मसल्स निर्माण में भी फायदेमंद होता है.खुबानी में प्रोटीन की भरपूर मात्रा पाई जाती है जो मांसपेशियों के रखरखाव में मदद करती है और उनके विकास के लिए मददगार होती है.

15# खुबानी के लाभ गर्भवती महिलाओं के लिए

गर्भावस्था के दौरान हर डॉक्टर पौष्टिक आहार लेने की सलाह देता है. इससे माँ के स्वस्थ होने के साथ साथ गर्भ में पल रहे शिशु का विकास होता है. ज्यादातर देखा जाता है की गर्भावस्था के दौरान महिलाओं के शरीर में आयरन और कॉपर की मात्रा कम हो जाती है. इन तत्वों के अभाव के कारण गर्भ में पल रहे शिशु कमजोर हो जाता है और शिशु का पूर्ण विकास नहीं हो पाता.

गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को खुबानी का सेवन करने से बहुत लाभ मिलता है.खुबानी में आयरन, कॉपर और कई मिनिरल्स पाए जाते हैं जो गर्भवती और स्तन पान करा रही महिलाओं में पोषण प्रदान करते हैं.

खुबानी का उपयोग – How to Use Apricot in Hindi

बेहतर स्वास्थ लाभ पाने के लिए खुबानी का सही तरीके से उपयोग करना बहुत आवश्यक होता है. तो चलिए जानते हैं कि खुबानी का उपयोग कैसे करें.

  1. खुबानी को आप इसको दही या दलिया के साथ सुबह के नाश्ते के रूप में खा सकते हैं
  2. खुबानी को धोकर फल के रूप में सीधे खा सकते हैं.
  3. खुबानी को मिल्क शेक में डालकर पी सकते हैं.
  4. फ्रूट सलाद के रूप में खुबानी का सेवन कर सकते है.
  5. आप सूखी खुबानी (dry apricot) या खुबानी के बीज का सेवन सकते है.

खुबानी के पौष्टिक तत्व – Nutritional Value of Apricot in Hindi

खुबानी में कई पौष्टिक तत्व पाए जाते है जो सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होता है. अब जानते है कि खुबानी में कौन-कौन से पोषक तत्त्व और उनकी कितनी मात्रा पायी जाती है.

पोषक तत्व पोषक तत्वों की मात्रा
प्रोटीन 1.4 gm
पोटैशियम 259 mg
कैल्शियम 13 mg
फास्फोरस 23 mg
कार्बोहाइड्रेट 11.12 gm
राइबोफ्लेविन 0.04 mg
कॉपर 0.078 mg
मैग्नीशियम 10 mg
जिंक 0.2 mg
विटामिन-सी  10 mg
आयरन 0.39 mg
फाइबर 2 gm
विटामिन-बी 6 0.24 mg
नियासिन  0.6 mg
फोलेट 9 µg

खुबानी के नुकसान – Side Effects of Apricot in Hindi

सीमित मात्रा में खुबानी का सेवन कई स्वास्थवर्धक लाभ होते हैं और यदि ज्यादा मात्रा में खुबानी का सेवन किया जाए तो कई नुकसान उठाने पड़ सकते हैं. तो आइये जानते हैं कि अधिक मात्रा में खुबानी का सेवन करने से कौन-कौन से  नुकसान भी हो सकते हैं.

  1. कुछ लोगों को खुबानी का सेवन करने से एलर्जी की समस्या उत्पन्न होने लगती है.
  2. गर्भावस्था के दौरान खुबानी का सेवन अधिक मात्रा में नहीं करना चाहिए.
  3. मधुमेह रोगियों या दमा के शिकार व्यक्तियों को सूखी खुबानी का सेवन करने से बचना चाहिए.
  4. लो ब्लडप्रेशर वालो लोगो को खुबानी का अधिक मात्रा में सेवन नहीं करना चाहिए.
  5. सूखे खुबानी में एक जहरीले पदार्थ सल्फाइड की अधिक मात्रा पाई जाती है इसलिए इसका ज्यादा मात्रा में सेवन करने से आपके स्वस्थ पर बुरा असर डाल सकता है.

FAQs- Apricot in Hindi

खुबानी की तासीर कैसी होती है?

खुबानी की तासीर गर्म होती है इसलिए इसका इस्तेमाल ठण्ड के मौसम में ज्यादा किया जाता है.

खुबानी के सेवन कब करना चाहिए?

खुबानी का सेवन किसी भी समय सुबह,दोपहर या शाम में किया जा सकता है. लेकिन दिन में इसका सेवन करने से ज्यादा लाभ मिलता है.

एक दिन में कितनी सूखी खुबानी खाना चाहिए?

वैसे खुबानी खाने की कोई सटीक मात्रा नहीं है. सामान्य तौर पर एक दिन में 5-6 खुबानी का सेवन किया जा सकता है.

खुबानी कहां से खरीदें?

खुबानी आपको किसी भी किराना स्टोर पर आसानी से मिल जायेगी. इसके अलावा ऑनलाइन स्टोर से भी खुबानी को मगवाया जा सकता है.

खुबानी की कीमत क्या है?

1 किलो सूखी खुबानी की कीमत लगभग 800-900 रूपए के बीच होती है.

निष्कर्ष

मुझे उम्मीद है आपको यह पोस्ट खुबानी के फायदे और नुकसान (Dry Apricot in Hindi) जरुर पसंद आयी होगी. यदि आपके मन में खुबानी से जुड़े कोई सवाल या सुझाव है तो नीचे कमेंट कर सकते हैं. इस पोस्ट को सोशल मीडिया पर भी शेयर करें जिस अन्य लोगो को सूखी खुबानी खाने का तरीका  पता चलेगा.

अन्य पढ़ें –

About Vijay Singraul

नमस्कार दोस्तों, मैं HindiMePost का Chief Author और Founder हूँ. मुझे Blogging और Technology से जुडी जानकारियां पढने और दूसरों के साथ शेयर करने में अच्छा लगता है. आप भी इस ब्लॉग से जुड़े और रोजाना कुछ नया सीखें.
Instagram

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *